5वां टाटा ओपन महाराष्ट्र: गिले-व्लीजेन ने भारत के बालाजी-जीवन को हराकर छठा एटीपी युगल खिताब जीता

पुणे । एन. श्रीराम बालाजी और जीवन नेदुनचेझियान की भारतीय जोड़ी ने टाटा ओपन महाराष्ट्र के पांचवें संस्करण के फाइलन में पहुंचने के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया लेकिन उनका यह सफर फाइनल में आकर थम गया। वे शनिवार को पुणे के बालेवाड़ी स्टेडियम में हुए फाइनल मैच में सैंडर गिले और जोरान वीजेन की चौथी वरीयता प्राप्त जोड़ी से 6-4- 6-4 से हार गए।
बेल्जियम की जोड़ी का यह छठा एटीपी टूर खिताब है। इस जोड़ी ने कल रात सेमीफाइनल में नंबर-1 वरीयता प्राप्त राजीव राम और जो सैलिसबरी को हराकर खिताबी मुकाबले में प्रवेश किया था। उनका आखिरी खिताब 2021 में सिंगापुर में आया था।
 
दक्षिण एशिया के एकमात्र एटीपी 250 इवेंट का मौजूदा संस्करण महाराष्ट्र राज्य लॉन टेनिस एसोसिएशन (एमएसएलटीए) द्वारा पुणे में पांचवें वर्ष के लिए महाराष्ट्र सरकार के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है।

वैकल्पिक जोड़ी के रूप में मुख्य ड्रा में प्रवेश करने के बाद से पूरे टूर्नामेंट में प्रभावशाली प्रदर्शन करने वाले बालाजी और जीवन ने 1-0 की बढ़त बनाकर मैच की विजयी शुरुआत की। हालांकि, गिले-व्लीजेन ने तेजी से गियर बदला और भारतीयों के कुछ अंक बटोरने के बावजूद अंत में 6-4 से शुरुआती सेट अपने नाम कर लिया।
 
तमिलनाडु में जन्मी यह जोड़ी 2012 में एक टीम के रूप में टूर-लेवल की शुरुआत करने के बाद अपना पहला एटीपी टूर फाइनल खेल रही थी। दूसरे सेट में ये 2-4 से पिछड़ रहे थे और फिर एक गेम जीतने में सफल रहे। दोनों ने वापसी के संकेत दिए लेकिन, गिले-व्लीगेन ने आक्रामक खेल जारी रखा और एक घंटे 10 मिनट में सेट के साथ-साथ मैच और साथ ही साथ खिताब अपने नाम कर लिया।
 
आज रात फ्रांसीसी टेनिस स्टार बेंजामिन बोन्जी एकल वर्ग के फाइनल में डचमैन टालोन ग्रिक्सपुर के खिलाफ खेलेंगे। वे अपना पहला एटीपी टूर खिताब हासिल करने का प्रयास करेंगे।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post