दिल्ली-NCR में बिगड़ने लगी हवा, GRAP स्टेज III लागू


Delhi Air Pollution: दिल्ली-एनसीआर में एक बार फिर हवा बिगड़ने लगी है। बढ़ते प्रदूषण के मद्देनजर फिर से सख्ती बढ़ा दी गई है। आकंड़ों की बात करें को राष्ट्रीय राजधानी में रविवार शाम 4 बजे समग्र AQI 407 रहा, जो गंभीर श्रेणी में आता है। जिसके चलते 5 दिसंबर को ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) की स्टेज III लागू करने के निर्देश जारी किए गए हैं। इसके साथ ही NCR में गैर-जरूरी निर्माण कार्यों पर पूरी तरह बैन रहेगा।

एनसीआर में GRAP स्टेज 3 लागू

ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) के कार्यान्वयन के लिए उप-समिति ने रविवार को NCR इलाके में वायु गुणवत्ता की समीक्षा के लिए एक बैठक आयोजित की। जिसमें यह देखा गया कि दिसंबर में ठंड बढ़ने के साथ ही हवा भी जहरीली होती जा रही है। दिल्ली-NCR के इलाकों में सुबह के समय कोहरा छाया है तो कई जगहों पर आसमान में स्मॉग और धुंध की चादर दिखाई दे रही है। वहीं, तापमान में कमी और हवाओं की रफ्तार सुस्त पड़ने के कारण प्रदूषण का स्तर भी गिरता जा रहा है। पिछले 2-3 दिनों में हवा की गुणवत्ता में और गिरावट दर्ज की गई है। इसी के चलते ग्रैप बैठक में फैसला लिया गया है कि वायु प्रदूषण की रोकथाम के लिए दिल्ली-एनसीआर में ग्रैप की स्टेज I और II के अलावा स्टेज III को लागू किया जाना चाहिए।

दिल्ली में प्रदूषण ‘गंभीर’ श्रेणी में

केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड (CPCB) की ओर से आज (सोमवार), 5 दिसंबर की सुबह करीब 7 बजे के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली के आनंद विहार, यूपी के नोएडा, हरियाणा के गुरुग्राम और फरीदाबाद में हवा की गुणवत्ता यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI ) 350 के पार दर्ज की गई है। CPCB के आंकड़ों के अनुसार बीती रात करीब 10 बजे आनंद विहार स्टेशन पर AQI 410 दर्ज किया गया, जो कि गंभीर श्रेणी में आता है। वहीं, राष्ट्रीय राजधानी का औसतन वायु गुणवत्ता सूचकांक यानी AQI 407 दर्ज किया गया। जो गंभीर श्रेणी में आता है।

बता दें कि शून्य से 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच को ‘संतोषजनक’, 101 से 200 को ‘मध्यम’, 201 से 300 को ‘खराब’, 301 से 400 को ‘बहुत खराब’ और 401 से 500 के बीच एक्यूआई को ‘गंभीर’ माना जाता है।

आपको बता दें कि नवंबर महीने में दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण के कारण लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया था। केंद्र की समिति CAQM ने 29 अक्टूबर को ग्रैप 3 लागू किया था। दिल्ली, गुरुग्राम, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 400 के पार पहुंच गया था। जिसके मद्देनजर दिल्ली – एनसीआर में स्कूलों को बंद तक करने का फैसला किया गया था। हालांकि जैसे जैसे स्थिति सुधरी ग्रैप में ढील दी गई थी। लेकिन अब स्थिति के साथ ही अब एक बार फिर सख्ती कर दी गई है।

GRAP स्टेज 3 में इन कार्यों पर रहेगा प्रतिबंध

-दिल्ली-एनसीआर में निर्माण और तोड़फोड़ की गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है
– रेलवे, मेट्रो, एयरपोर्ट, आईएसबीटी, राष्ट्रीय सुरक्षा, डिफेंस, राष्ट्रीय महत्व के प्रोजक्टों को छूट
-ऐसे कार्य जो प्रदूषण नहीं फैलाते जैसे प्लंबिंग, इंटीरियर डेकोरेशन, इलेक्ट्रिकल और कारपेंटर आदि को भी छूट

मौसम विभाग का क्या कहना है?

SAFAR के अनुसार, अगले 3-4 दिन में प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि सर्दी बढ़ने और तापमान में गिरावट के साथ हवा की गुणवत्ता में सुधार होने की उम्मीद नहीं है। वहीं, मौसम एजेंसी स्काईमेट के मुताबिक, 5 दिसंबर को बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व और इससे सटे दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है। जिससे दक्षिण-पश्चिम भारत की मौसमी गतिविधियों में बदलाव होने की उम्मीद है।

दरअसल, तापमान के कमी होने की वजह से प्रदूषकों को हवा में ठहरने का मौका मिल रहा है। साथ ही हवा की रफ्तार भी धीमी है। ऐसे में अगले कुछ दिन हवा में प्रदूषण का स्तर बेहद खराब श्रेणी में रह सकता है। मौसम विभाग के अनुसार, न्यूनतम तापमान 8 डिग्री रहा जबकि अधिकतम तापमान 26. डिग्री सेल्सियस रह सकता है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post