मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता राजा पटेरिया गिरफ्तार

कार्यकर्ताओं से कहा था, अगर संविधान बचाना है तो मोदी की हत्या करने को तत्पर रहो
दमोह । पन्ना पुलिस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता राजा पटेरिया को मंगलवार सुबह 7 बजे दमोह जिले के हटा से गिरफ्तार कर लिया। पन्ना से पहुंची पुलिस टीम उनके आवास से गिरफ्तार कर उन्हें अपने साथ ले गई। इस संबंध में पटेरिया के खिलाफ सोमवार को पन्ना जिले के पवई पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज हुई थी।

मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री राजा पटेरिया ने एक सभा में यह टिप्पणी की थी। इसका वीडियो वायरल होने के बाद राजनीतिक तूफान मच गया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि कांग्रेस के असली भाव प्रकट हो गए, लेकिन ऐसी चीजों को सहन नहीं किया जाएगा। कानून अपना काम करेगा। मोदी जी जनता के दिलों में बसते हैं। संपूर्ण देश की श्रद्धा और आस्था के केंद्र हैं। कांग्रेस के लोग मैदान में उनसे मुकाबला नहीं कर पाते हैं, इसलिए कांग्रेस के एक नेता मोदी जी की हत्या की बात कर रहे हैं। ये विद्वेष की पराकाष्ठा है, घृणा की अति है।
केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कांग्रेस नेतृत्व से इस बयान के लिए माफी मांगने की मांग की थी। केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा था कि कांग्रेस का मोदी को गाली देने का इतिहास रहा है। पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने उन्हें मौत का सौदागर कहा था। वर्तमान अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने उनकी तुलना रावण से की थी। यह टिप्पणी हत्याओं की राजनीति को उजागर करती है, जो कांग्रेस शासन में फली-फूली थी।

गौरतलब है कि राजा पटेरिया कार्यकर्ताओं से यह कहते हुए नजर आए कि अगर संविधान बचाना है तो मोदी की हत्या करने को तत्पर रहो। इस वीडियो को भाजपा नेता राजपाल सिह सिसौदिया ने सोमवार को ट्विटर पर अपलोड किया था। बयान पर हंगामा मचने के बाद पन्ना के पवई थाने और जबलपुर के ओमती थाने में पटेरिया के विरुद्ध एफआईआर दर्ज हुई हैं। पवई थाने में पटेरिया के खिलाफ लोक शांति भंग करने के लिए प्रेरित करने, उकसाने और धमकाने सहित कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। पटेरिया ने यह बात पवई के पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक कही थी।
कांग्रेस ने पटेरिया के बयान से किनारा कर लिया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी ने कहा है कि पटेरिया ने ऐसा बयान दिया है तो निंदनीय है। कांग्रेस हिंसा का कभी समर्थन नहीं करती। एआईसीसी के मीडिया और प्रचार विभाग के प्रमुख पवन खेड़ा ने कहा है कि यह निंदनीय है। प्रधानमंत्री या किसी के खिलाफ ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। कांग्रेस ऐसे बयानों की निंदा करती है।
हंगामा मचने के बाद राजा पटेरिया ने वीडियो जारी कर सफाई देते हुए कहा कि उनकी बात का गलत अर्थ निकाला गया है। उन्होंने कहा कि हमारा आशय मोदी को हराने से था। इससे पहले मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने पटेरिया के बयान को निंदनीय बताते हुए पन्ना पुलिस अधीक्षक को एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए थे।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post