रवीना टंडन के बाघ को परेशान करने के मामले में एनटीसीए और सीजेडए ने मांगी रिपोर्ट

सतपुड़ा टाइगर रिजर्व और वन विहार प्रबंधन से मांगा जवाब

भोपाल । फिल्म अभिनेत्री रवीना टंडन के सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में फोटो खींचने के लिए बाघ को परेशान करने और भोपाल के वन विहार नेशनल पार्क में बाघ को पत्थर मारने के मामले में राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) और सेंट्रल जू अथारिटी आफ इंडिया (सीजेडए) ने दोनों पार्कों से रिपोर्ट मांगी है। दोनों संस्थाओं ने बुधवार को प्रदेश के वन्यप्राणी अभिरक्षक से जवाब तलब करते हुए मामले में जल्द रिपोर्ट भेजने को कहा है।

दरअसल, अभिनेत्री टंडन इसी साल नवंबर के अंतिम सप्ताह में सतपुड़ा टाइगर रिजर्व घूमने आई थीं। वे चूरना क्षेत्र में बाघ को देख रही थीं। इस दौरान फोटो खींचने के लिए उन्होंने सफारी वाहन को कई बार आगे-पीछे कराया। सूचना के अधिकार कार्यकर्ता एवं वन्यप्राणियों के जानकार अजय दुबे ने मामले की शिकायत एनटीसीए से की है। दुबे का कहना है कि यह सफारी के नियमों का उल्लंघन है। वहीं वन विहार नेशनल पार्क में बाड़े में कैद बाघ को पत्थर मारने की घटना हुई थी। उसकी शिकायत सीजेडए से की गई है। इस पर भी दुबे ने आपत्ति दर्ज कराई थी। दोनों संस्थाओं ने इन मामलों में दोनों पार्कों से जवाब मांगा है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post