अटेंडेंस के नाम पर छात्र-छात्राओं से अवैध फीस वसूलने पर लगे रोक : एनएसयूआई

एनएसयूआई ने राजीव गांधी विश्वविद्यालय के कुलपति को ज्ञापन सौंपा

भोपाल । मध्यप्रदेश का एकमात्र तकनीकी विश्वविद्यालय राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से संबंध्ता प्राप्त कालेजों की मनमानी लगातार बढ़ती जा रही है जिसको लेकर भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन ( एनएसयूआई ) के रवि परमार के नेतृत्व में एनएसयूआई और छात्र छात्राओं ने ज्ञापन‌ सौंपा है 

रवि परमार ने बताया कि राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के अंतर्गत आने वाले कई निजी कालेजों द्वारा सिविल इंजीनियरिंग के पांचवें सेमेस्टर के छात्र छात्राओं के परीक्षा फार्म फारवर्ड नहीं किए गए छात्र छात्राओं की परीक्षाएं आज से प्रारंभ भी हो चुकी हैं छात्र छात्राओं का आरोप हैं कि कालेज संचालकों द्वारा अटेंडेंस के नाम मनमाफिक फीस मांगी जा रही हैं जिसमें सागर इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी ( SIRT ) भोपाल और टेक्नोक्रेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी ( TIT )भोपाल शामिल हैं जो कि छात्र छात्राओं से अटेंडेंस के नाम पर अनैतिक वसूली कर रहे हैं  

परमार ने कहा कि मध्यप्रदेश के निजी कालेज संचालकों की मनमानी लगातार बढ़ती जा रही हैं जिससे छात्र छात्राओं के भविष्य बर्बाद हो रहे हैं निजी कालेजों द्वारा शिक्षा का व्यवसायीकरण किया जा रहा है निजी कालेजों में छात्र छात्राओं के ऊपर दबाव अनैतिक बनाकर अवैध फीस वसूली जा रही जिस पर अंकुश लगना अति आवश्यक हैं 

रवि परमार ने ज्ञापन के माध्यम से मांग कि जिन निजी कालेजों द्वारा छात्र छात्राओं के परीक्षा फार्म फारवर्ड नहीं किए जा रहे हैं उन पर कार्यवाही कर छात्र छात्राओं के परीक्षा फार्म फारवर्ड करवाने के आदेश जारी करें 

इस मौके पर राजवीर सिंह सोहन मेवाड़ा लक्की चौबे भव्य सक्सेना मोहित पटेल ईश्वर चौहान आदित्य शिवा दांगी रवि पटेल और सभी छात्र छात्राओं ने कुलपति को ज्ञापन सौंपा



0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post