भाजपा के पदाधिकारी ने प्रधानमंत्री आवास योजना में की आर्थिक अनियमितताएं मुकदमा दर्ज

मध्यप्रदेश में पद का दुरूपयोग कर आर्थिक अनियमितताएं कर रहे भाजपा के पदाधिकारी : विवेक त्रिपाठी

देवास जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना में उजागर हुआ बढ़ा घोटाल भाजपा पदाधिकारी शामिल , कार्यवाही करें शिवराज सरकार - विवेक त्रिपाठी
आरोपी द्वारा गरीबों की योजनाओं के पैसों का गबन कर महंगी गाड़ियां युवा मोर्चा के वरिष्ठ पदाधिकारीयों को भेंट की उन पर भी FIR दर्ज हो : युवा कांग्रेस

भोपाल - मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपराधियों और माफियाओं पर कार्यवाही करने के लिए खुले मंच से ऐलान कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर उनकी ही पार्टी के पदाधिकारी सरकार की योजनाओं में भारी मात्रा में आर्थिक अनियमितताएं कर लाखों करोड़ों रुपए का गबन कर रहे हैं 

मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के विवेक त्रिपाठी ने शिवराज सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह आखिर कब तक अपराधियों और माफियाओं का संरक्षण करते रहेंगे प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुंच चुका हैं प्रदेश की जनता को योजनाओं के नाम पर सरकार घोषणा कर लोलीपॉप देकर छोड़ देती हैं और जो कुछ योजनाओं का निम्न वर्गीय परिवारों ( गरीबों ) जो थोड़ा बहुत योजना का लाभ मिल पाता हैं उसमें भी भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी अधिकारियों से सांठगांठ और उनके ऊपर दबाव बना कर आर्थिक अनियमितताएं के साथ साथ भारी योजनाओं पर पलीता लगा देते हैं जिससे उन योजना का भी लाभ नहीं मिल पाता हैं

विवेक त्रिपाठी ने बताया कि हालही में देवास जिले की लोहारदा नगर परिषद में प्रधानमंत्री आवास योजना में भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा देवास के मीडिया प्रभारी सतीश चौहान और परिषद के अन्य अधिकारियों और कर्मचारियों ने मिलकर योजना की राशि में आर्थिक अनियमितताएं कर प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत हितग्राहियो को दी जाने वाली राशि का दुरूपयोग कर फर्जी बिलों एवं अनियमित सामग्री क्रय के माध्यम से अनुचित लाभ विभिन्न शासकीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों और भाजपा के पदाधिकारीयों द्वारा प्राप्त किया गया जिससे प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को आवास हेतु प्राप्त होने वाली राशि की किश्ते प्राप्त नहीं हो सकी। ऐसे अनेक हितग्राहियों द्वारा कलेक्टर, जिला देवास एवं अन्य वरिष्ठ कार्यालयों को शिकायत भी गई थी इसके साथ ही स्वच्छता हेतु उपलब्ध कराई गई राशि एवं अन्य मद की राशि में से बिना सक्षम स्वीकृति के सामग्रियों को विधि द्वारा स्थापित क्रय नियम के मापदण्ड के विपरीत क्रय किया गया जो कि प्रमाणित पाये जाने पर लोकायुक्त कार्यालय उज्जैन में अपराध भी पंजीबद्ध हो चुका हैं आरोपी द्वारा भारतीय जनता युवा मोर्चा के वरिष्ठ पदाधिकारियों को गरीबों की योजनाओं में आर्थिक गबन कर महंगी महंगी गाड़ियां भेंट की गई उनकी भी जांच कर कार्यवाही हो जिससे कि उजागर हो सके कि इस भ्रष्टाचार में ओर कौन कौन शामिल हैं 

विवेक ने बताया कि इस मामले में लोकायुक्त ने 16 लोगों पर नामजद और अन्य के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना शुरू कर दी है जिसमें धारा- 7. 13(ए). 13 (2) भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 (संशोधन 2018) एवं 409, 420, 201, 120बी भादंवि के अंतर्गत विवेचना शुरू कर दी गई हैं त्रिपाठी ने कहा कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर कड़ी से कड़ी कार्यवाही करवाएं शिवराज सरकार ।।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post