कैसा होगा आम बजट, वित्त मंत्री ने दिया बड़ा संकेत

‘Budget 2023’ यानि देश का आगामी बजट कैसा होगा ? इसके बारे में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बड़ा संकेत दिया है। दरअसल, इस संबंध में वित्त मंत्री ने कहा है कि आगामी केंद्रीय बजट अगले 25 वर्षों के लिए भारत की तैयारी का खाका तैयार करेगा। यह बजट भारत को तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा।

आम बजट 1 फरवरी को करेंगी पेश

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अप्रैल से शुरू होने वाले वित्त वर्ष के लिए आम बजट 1 फरवरी को पेश करेंगी। बता दें यह उनका लगातार पांचवां बजट होगा। कोविड-19 महामारी से उबर रही भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए उन्होंने एक बड़े सार्वजनिक खर्च कार्यक्रम की घोषणा की थी।

आगामी बजट पहले के बजट की भावना का करेगा पालन

फिक्की (FICCI) के एक कार्यक्रम में वित्त मंत्री ने यह बात कही है। उन्होंने बताया कि आगामी बजट पहले के बजट की मूल भावना का पालन करेगा। वहीं इस संबंध में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने उद्योग जगत से ऐसी रणनीति तैयार करने को कहा कि पश्चिमी देश मंदी की आशंकाओं के बीच भारत को उत्पादन या सोर्सिंग हब के रूप में देखें।

ग्रोथ को बढ़ावा देने पर केंद्रित बजट

याद हो बजट में वित्त मंत्री ने 2022-23 के लिए पूंजीगत व्यय को 35.4% बढ़ाकर 7.50 लाख करोड़ रुपए कर दिया था। उन्होंने कहा, यह मुझे काफी प्रेरित करने वाला है, वह भी ऐसे समय जबकि हम अगला बजट तैयार कर रहे हैं। यह भारत को अगले साल के दौरान आगे ले जाने की पिछले बजट की मूल भावनाओं के अनुरूप होगा।

सरकार कर रही नियमों में बदलाव

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि सरकार भारत में विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए बहुत सी सुविधाएं और नियमों में बदलाव कर रही है। सरकार ऐसे उद्योगों से भी जुड़ रही है जो हमारे उद्योगों के साथ काम कर सकते हैं।

उन्नत देशों में फर्मों को आकर्षित करने की बनाएं रणनीति

वित्त मंत्री ने कहा, उद्योग को यूरोप सहित उन्नत देशों में फर्मों को आकर्षित करने के लिए रणनीति तैयार करने की भी आवश्यकता है, जो चीन से दूर अपने विनिर्माण आधार को स्थानांतरित करने के लिए स्थानों की तलाश कर रहे होंगे।

घरेलू उद्योग को बाहरी विपरीत परिस्थितियों में करनी होगी बेहतर तैयारी

उन्होंने यूरोप जैसे बड़े बाजार में लंबे समय से चली आ रही मंदी के बारे में आगाह किया और घरेलू उद्योग को इस तरह की बाहरी विपरीत परिस्थितियों के लिए बेहतर तैयारी करने को कहा।

भारत को आकर्षक निवेश गंतव्य के रूप में करना होगा प्रदर्शित

वित्त मंत्री ने कहा, सरकार जी20 समूह की नई दिल्ली की अध्यक्षता के दौरान भारत को एक आकर्षक निवेश गंतव्य के रूप में भी प्रदर्शित करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि यह देखते हुए कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक है, विदेशी निवेशक इसका लाभ उठा सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि देश का आम बजट 2023-24 ऐसे समय पेश किया जाना है जब कई संस्थानों ने चालू वित्त वर्ष के लिए भारत के ग्रोथ रेट के अनुमान को कम बताया है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 2022-23 के लिए भारत के ग्रोथ रेट के अनुमान को घटाकर 6.8% कर दिया है। ऐसे में अगले वित्त वर्ष के बजट में महंगाई, मांग बढ़ाने, रोजगार सृजन और देश की अर्थव्यवस्था को सतत 8% से अधिक की ग्रोथ की राह पर ले जाने के उपायों पर ध्यान देने की अधिक जरूरत है। सरकार इसी दिशा में कार्य कर रही है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post