मुख्यमंत्री ने छीपानेर में लिफ्ट इरिगेशन परियोजना, सीहोर-हरदा सड़क का किया निरीक्षण

लिफ्ट इरिगेशन परियोजना से सीहोर और देवास जिले के 69 गांवों को सिचाईं के लिए मिलेगा पानी- मुख्यमंत्री श्री चौहान*

भोपाल । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जो भी अधिकारी कर्मचारी ईमानदारी से काम करेंगे उनको कंधे पर बैठायेंगे और जो गड़बड़ करेंगे उन्हें घर बिठाऊंगा और नए लोगों को नौकरी दूंगा । मुख्यमंत्री श्री चौहान सोमवार को सीहोर जिले के नसरूल्लागंज से लगी छीपानेर सिंचाई परियोजना और सीहोर- हरदा मार्ग के निर्माण कार्यों का औचक निरीक्षण करने के बाद बोल रहे थे । 

मुख्यमंत्री ने मौके पर मौजूद एससीएस जल संसाधन एस.के.मिश्रा को निर्देश दिए कि सभी काम 31 दिसम्बर तक पूर्ण कर लें और टेस्टिंग आदि कर 5 हजार 70 हेक्टेयर में सिंचाई प्रारंभ हो जाए । उन्होंने कहा कि पंप-पाइप लाइन और नहरों की गुणवत्ता उच्च स्तर की हो । उल्लेखनीय है कि इस योजना के प्रारंभ होने पर सीहोर और देवास जिले के 69 गांवों के खेतों को सिंचाई का पानी मिलने लगेगा । 

मुख्यमंत्री ने सिंचाई योजना के पुल को अपना महत्वाकांक्षी और ड्रीम प्रोजेक्ट बताते हुए कहा कि इस पर आवागमन भी शीघ्र प्रारंभ होगा । इस पुल का निर्माण कार्य हो चुका है एप्रोच मार्ग के कुछ काम ही शेष रह गए हैं वह भी 3 जनवरी तक पूरा हो जाएगा और संभव हुआ तो 5 जनवरी को लोकार्पण कर सीहोर तथा हरदा जिले के नागरिकों को सौगात दी जाएगी । मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्माण आदि के कार्य पर संतोष व्यक्त किया । 

 मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने छीपानेर पहुंचकर नवनिर्मित पहुंच मार्ग व पुल का निरीक्षण किया। उन्होंने हरदा जिले के अन्य सड़क मार्गों के संबंध में भी अधिकारियों से जानकारी की। उन्होंने निर्देश दिए कि जन समस्याओं के निराकरण को सर्वोच्च प्राथमिकता दें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि दिसंबर माह के अंत तक पहुंच मार्ग का निर्माण कार्य हर हाल में पूर्ण करें, अन्यथा सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने मौके पर उपस्थित ग्रामीणों की समस्याएं भी सुनी और उनके निराकरण के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए । 

        उल्लेखनीय है कि छोटी छिपानेर से नर्मदा नदी पुल तक 6.41 करोड़ रुपए लागत से 3 किलोमीटर लंबा पहुंच मार्ग निर्मित किया जा रहा है। कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग ने बताया कि इस मार्ग का निर्माण इसी दिसंबर माह के अंत तक पूर्ण कर लिया जाएगा। इस मार्ग के बन जाने से हरदा से भोपाल की दूरी लगभग 35 किलोमीटर कम हो जाएगी और हरदा जिले के निवासियों को काफी सुविधा होगी। हरदा और सीहोर जिले की सीमा पर 38.66 करोड़ रुपये लागत से 840 मीटर लंबा पुल लोक निर्माण विभाग द्वारा निर्मित किया जा चुका है। इस पहुंच मार्ग के बन जाने से इस पुल का उपयोग प्रारंभ हो जाएगा।

*मुख्यमंत्री ने छीपानेर में शासकीय उचित मूल्य दुकान का औचक निरीक्षण किया*

 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने छीपानेर में शासकीय उचित मूल्य की दुकान का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने राशन दुकान के नियमित खुलने तथा स्टॉक पंजी संधारण की जानकारी ली। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राशन दुकान में रखे राशन का वजन कराकर निर्धारित मात्रा में होना सुनिश्चित किया तथा राशन की गुणवत्ता देखी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राशन दुकान पर राशन लेने आए हितग्राहियों से जानकारी ली कि राशन दुकान समय पर खुलती है या नहीं और सभी को राशन समय पर मिलता है या नहीं। हितग्राहियो ने समय पर राशन मिलने की बात कही और बताया कि राशन के संबंध में उन्हें शिकायत नही है। 

*18 वर्ष के अधिक के सभी मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में जोड़ने के दिए निर्देश*

  मुख्यमंत्री श्री चौहान ने छीपानेर के नागरिकों से वोटर लिस्ट में नाम के संबंध मे चर्चा की। इस दौरान उन्होंने 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके सभी मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में जोड़ने के अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसी भी मतदाता का नाम मतदाता सूची से वंचित न रहे। साथ ही जिन मतदान केन्द्रों की प्रगति कम है, वहां कोटवारों द्वारा मुनादी कराकर ज्यादा से ज्यादा युवाओं को मतदाता सूची में जोड़े जाए। निरीक्षण के दौरान सांसद श्री रमाकांत भार्गव सहित अनेक जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post