करोड़ो की धोखाधड़ी करने वाले पति पत्नी गिरफ्तार गिरफ्तार

 भेष बदल कर पुलिस अधिकारी के मकान मे रह रहा था किराये से

प्रकरण से सबंधित विवादास्पद संपत्ति पर इंडियन ऑवरसीज बैंक से लिया 1 करोड का लोन हुआ एन पी ए 

         भोपाल । थाना एमपी नगर में आवेदक अधिवक्ता पंकज खरे कटारा हिल्स द्वारा शिकायत की गई कि  आरोपी गण छाया भदौरिया व राजेन्द्र भदौरिया द्वारा  विवादास्पद प्लाट जो कि पूर्व से बैंक आफ महाराष्ट्र कोलार रोड भोपाल से 17 लाख रुपये सी.सी.लिमिट हेतु बंधक का 15 लाख रु. लेकर विक्रय अनुवंध कर धोखाधडी की गई। शिकायत के आधार पर। जांच उपरांत  
आरोपियों के विरुद्ध अपराध क्रमांक  25/22 धारा 420,406 भादवि का प्रकरण कायम कर विवेचना में लिया गया । 
पुलिस को विवेचना से ज्ञात हुआ कि आरोपी राजेंद्र भदौरिया इस तरह प्लाट की धोखाधड़ी कर बैंको से लोन लेने का कार्य पूर्व मे भी कर चुका है इसी आधार पर जानकारी मिली कि उक्त प्लाट जो कि पटेल नगर मे स्थित है एवं 5000 स्कायर फिट का है को भी आरोपी राजेंद्र भदौरिया द्वारा इंडियन ओवरसीज बैंक अल्पना टाकीज शाखा मे गिरवी रख कर 1 करोड़ रुपये का लोन लिया गया जो वर्तमान मे एन.पी.ए हो गया इस प्रकार आरोपीगण राजेंद्र सिंह भदौरिया व उसकी पत्नी  छाया भदौरिया (प्लाट स्वामी) द्वारा एक ही प्लाट को तीन बार अलग अलग बैंक व व्यक्ति को विक्रय/गिरवी रख कर पैसे प्राप्त कर उसे खुर्द बुर्द कर दिया था । 

            प्रकरण मे पुलिस द्वारा आरोपीगण राजेंद्र सिंह भदौरिया व उसकी पत्नी छाया भदौरिया (प्लाट स्वामी) की पतारसी हेतु थाना एम.पी.नगर पुलिस द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे थे सूचना मिली कि आरोपीगण दानिश कुंज कोलार रोड भोपाल के आसपास अपनी पहचान छुपाकर रह रहे है पतारसी के दौरान दानिशकुंज क्षेत्र मे एक हार्ड वेयर पेंट की दुकान पर आरोपी के आने जाने की सूचना प्राप्त होने पर एएसआई संजय सिंह सिसौदिया द्वारा दुकान दार से चर्चा की गई जिसने बताया कि एक ट्रांसपोर्ट का कारोबारी द्वारा उसकी दुकान से पेंट लेकर पुताई कराई गई ।  पुताई करने वाले एक मजदूर से चर्चा की गई जिसके द्वारा दी गई लीड दी गई कि प्रकार का हुलिया के पति पत्नी के घर पर वह दीपावली के दौरान पुताई कर चुका है तब उस मजदूर की लीड के आधार पर आरोपीगण का स्थाई निवास ज्ञात हुआ जो कि दानिश कुंज के पॉश इलाके मे एक पुलिस अधिकारी के मकान मे किराये से रह रहे थे एवं आरोपी राजेंद्र सिंह भदौरिया अपनी पहचान छुपाने के लिये दाड़ी बड़ाये हुये मिला एवं पूछने पर अपना नाम खुमान सिंह बताया एवं  सहज रूप से पुलिस अधिकारी का मकान होने का रौब दिखाया गया जिसे अभिरक्षा मे लेकर पूछताछ की गई जिस पर उसके द्वारा अपनी असल पहचान बताई गई । दोनो ही आरोपीगण राजेंद्र सिंह भदौरिया व उसकी पत्नी छाया भदौरिया काफी शातिर किस्म के आरोपी है । 
आरोपी राजेंद्र भदौरिया का 1  फरारी स्थाई वारंट मारपीट व एस.सी.एस.टी.एक्ट का एवं 07 स्थाई वांरट  धार 138 एन.आई.एक्ट के कुल 08 स्थाई वारंट थाना पिपलानी व अयोध्या नगर मे  है । 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post