आम जनता के लिए खुला राष्ट्रपति भवन का दरवाजा; जानिए टाइमिंग, टिकट और संग्रहालय से जुड़ी सभी जानकारी


Rashtrapati Bhavan Visit: राष्‍ट्रपति भवन 1 दिसंबर से एक महीने के लिए आम जनता के लिए खुल गया है। राष्‍ट्रपति भवन का भ्रमण बुधवार, बृहस्‍पतिवार, शुक्रवार, शनिवार और रविवार को किया जा सकेगा। इसके लिए एक दिन को पांच स्लॉट के समय में बांटा गया है, जिसके लिए लोगों को पहले से ऑनलाइन बुकिंग कराना होगा। वहीं राजपत्रित अवकाश के दिन राष्‍ट्रपति भवन बंद रहेगा।


राष्ट्रपति भवन विजिट करने की टाइमिंग

राष्‍ट्रपति भवन देखने का निर्धारित स्‍लॉट है – जिसमें सुबह के 10 बजे से 11 बजे, सुब‍ह 11 बजे से दोपहर 12 बजे, दोपहर 12 बजे से दिन में 1 बजे, दिन में 2 बजे से 3 बजे और सायं 3 बजे से 4 बजे के बीच अपने हिसाब से स्लॉट बुक कर सकते हैं। एक-एक घंटे के पांच टाइम स्लॉट के लिए ऑनलाइन बुकिंग होगी।

राष्ट्रपति भवन की आधिकारिक पोर्टल के अनुसार, सोमवार और मंगलवार को छोड़कर हफ्ते में पांच दिन एंट्री की अनुमति है। राष्ट्रपति भवन के दौरे के अतिरिक्त आगन्तुक सप्ताह में छह दिन मंगलवार से रविवार (राजपत्रित अवकाश को छोड़कर) राष्ट्रपति भवन संग्रहालय परिसर को देख सकेंगे।


सर्किट वन, टू, और थ्री के टिकट 

सर्किट वन में मुख्य भवन, प्रांगण, स्वागत कक्ष, नवचारा, बैंक्वेट हॉल, ऊपरी लोगगिया, लुटियन ग्रैंड सीढ़ियाँ, अतिथि विंग, अशोक हॉल, उत्तर ड्राइंग रूम, लंबा ड्राइंग रूम, पुस्तकालय, दरबार हॉल, भगवान बुद्ध की मूर्ति शामिल है। सर्किट टू में राष्ट्रपति भवन संग्रहालय परिसर और सर्किट तीन में गार्ड ऑफ चेंज समारोह को रखा गया है। आगंतुकों को तीनों जगहों का भ्रमण करने के लिए अलग अलग टिकट बुक करना होगा।


गार्ड ऑफ चेंज समारोह

चेंज ऑफ गार्ड कार्यक्रम भी प्रत्‍येक शनिवार को सुबह 8 बजे से 9 बजे तक राष्‍ट्रपति भवन के प्रांगण में देखा जा सकता है। राजपत्रित अवकाश होने पर अथवा राष्ट्रपति भवन द्वारा अधिसूचित होने पर यह समारोह शनिवार को नहीं होगा।

 
ऑनलाइन बुकिंग की क्या है प्रक्रिया

राष्ट्रपति भवन (Rashtrapati Bhavan) की सैर करने के लिए दर्शकों को पहले से ऑनलाइन बुकिंग कराना होगा। यह रजिस्ट्रेशन बिल्कुल मुफ्त है।

-रजिस्ट्रेशन कराने के लिए आपको राष्ट्रपति भवन की वेबसाइट rb.nic.in या http://rashtrapatisachivalaya.gov.in/rbtour/ पर विजिट करना होगा।

-वेबसाइट के होमपेज पर आपको दाईं ओर टॉप लाइन में Plan Your Visit टैब दिखाई देगा।

-यहां क्लिक करने पर आपके सामने कलैंडर खुलेगा और दाईं ओर तीनों सर्किट में Book Now का ऑप्शन दिखाई देगा।

-इसमें आप सर्किट और तारीख सेलेक्ट कर टिकट बुकिंग कर सकते हैं।

-रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद जब आप राष्ट्रपति भवन जाएंगे, वहां रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ आपको अपना फोटो पहचान पत्र भी दिखाना होगा।


राष्ट्रपति भवन संग्रहालय परिसर में अस्तबल

राष्ट्रपति भवन नई दिल्ली में राइसीना की पहाड़ी पर बना है। राष्ट्रपति भवन संग्रहालय परिसर भारतीय स्वतंत्रता, लोकतंत्र और एकता का एक प्रतीक है। यह संग्रहालय, जिसका 25 जुलाई, 2014 को औपचारिक रूप से उद्घाटन किया गया था, भारत के राष्ट्रपतियों द्वारा विगत वर्षों में प्राप्त असंख्य उपहारों के संरक्षण और प्रदर्शन के लिए राष्ट्रपति, प्रणब मुखर्जी की पहल का समूह है। इन भेंट की गई कलाकृतियों के अतिरिक्त संग्रहालय के संग्रहण में सशस्त्र, फर्नीचर, वास्तुकलाएं, कपड़े, फोटोग्राफ और पुरातत्त्व से संबंधित सामग्री और अन्य वस्तुएं भी हैं।

इससे पूर्व भारतीय राष्ट्रपतियों द्वारा स्वतंत्रता प्राप्ति से अब तक प्राप्त उपहार तोशाखाना, जोकि राष्ट्रपति भवन के परिसर में भण्डारण की जगह, में रखे गए थे और उपहार गैलरियों में प्रदर्शित किए जाते थे। अस्तबल के द्वार और खिड़कियों पर घोड़े के पैर के पैटर्न अब भी मौजूद हैं। यह देखना भी सचमुच आश्चर्यजनक है कि कैसे प्रत्येक स्टाल को एक एन्क्लेव में रूपांतरित किया गया और उपहारों और कलाकृतियों से सुसज्जित किया गया। संग्रहालय के चरण-1 में प्रदर्शन के लिए ऐसे 22 एन्क्लेव हैं।


अस्तबल को तीन बरामदों में विभाजित किया गया है, बायां बरामदा, लम्बवत हॉल और दायां बरामदा जबकि उपहारों और पेंटिंग्स को बाएं और दाएं बरामदों में प्रदर्शित किया गया है, लम्बवत बरामदे को फिर से तीन भागों में विभक्त किया गया है, युद्ध के दृश्यों वाली गैलरी, फर्नीचर गैलरी और राष्ट्रपति सुरक्षा गार्ड गैलरी। इन बरामदों के अतिरिक्त एक कोच हाऊस भी है जो राष्ट्रपति भवन संग्रहालय का भाग है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post