पारंपरिक वेशभूषा में रस्साकशी का हुआ रोमांचक मुकाबला*, तेलंगाना की लड़कियों ने मारी बाज़ी

जनजातीय युवा आदान - प्रदान कार्यक्रम के पांचवें दिन हुए विभिन्न कार्यक्रम.... 

भोपाल । नेहरू युवा केंद्र संगठन द्वारा गृह मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग से वाल्मी में चल रहे 14 वें जनजातीय युवा आदान - प्रदान कार्यक्रम के पांचवें दिन जनजातीय युवाओं के बीच में रस्साकशी का रोचक मुकाबला हुआ, पारंपरिक वेशभूषा में तेलंगना और उड़ीसा की लड़कियों ने पूरे जोश के साथ रस्साकशी में हाथ आजमाया, अंत में तेलंगना की लड़कियों ने बाजी मारी।

सांस्कृतिक कार्यक्रम में मध्यप्रदेश के युवाओं ने बैगा लोक नृत्य की प्रस्तुति दी, भोपाल के समूह ने 'तेरी लाड़की में' गीत पर नृत्य प्रस्तुत करते हुए बेटी बचाओ का संदेश दिया। 

 वहीं बौद्धिक सत्र में नेहरू युवा केंद्र के विभिन्न फ्लैगशिप कार्यक्रम की जानकारी युवाओं को दी गई, और राष्ट्रीयता से ओतप्रोत ऊरी द सर्जिकल स्ट्राइक फिल्म भी युवाओं को दिखाई गई। झारखंड के लतेहार जिले से आई होलिका कुमारी ने अपने अनुभव शेयर करते हुए कहा कि मुझे जल एवं भूमि प्रबंध संस्थान, वाल्मी में अपने घर जैसा वातावरण लग रहा है, परिसर में पेड़-पौधों के बीच में लगे झूले हमें अपने झारखंड की याद दिलाते हैं। तेलंगना से आए कुमार स्वामी ने कहा कि भोपाल बहुत सुंदर शहर है, यहां की हरियाली और तालाब मनोरम है। कार्यक्रम के दौरान हमें बहुत कुछ सीखने को मिल रहा है, हम जान पा रहे हैं कि भारत सरकार हमारे लिए कितने प्रयास कर रही हैं। उड़ीसा के कालाहांडी से आई तपस्विनी नाईक ने बताया कि मुझे वाल्मी में आकर बहुत अच्छा लगा। वाल्मी परिसर जहां एक तरफ वनों से घिरा हुआ हैं वहीं दूसरी तरफ कलियासोत बांध की सुंदरता से मन को मोहित कर देती है। मुझे आकर यहां पर बहुत कुछ सीखने को मिला रहा है, यह मेरे लिए एक यादगार अवसर है।

 शारीरिक व्यायाम के साथ दिया फिट इंडिया का संदेश

युवाओं को दिन की शुरुआत शारीरिक व्यायाम के साथ हुई, युवाओं ने परिसर से कलियासोत डैम तक भ्रमण किया और फिट इंडिया का संदेश दिया।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post