नर्सिंग काउंसिल के बाहर धरने पर बैठे स्टूडेंट्स के साथ बर्बरता, छात्र नेता रवि परमार को किया गिरफ्तार

MP NSUI मेडिकल विंग के संयोजक रवि परमार के नेतृत्व में धरना देने नर्सिंग काउंसिल पहुंचे थे सैंकड़ों छात्र-छात्राएं, पुलिस ने बर्बरता पूर्वक खदेड़ा, छात्राओं के साथ भी की अभद्रता

भोपाल। मध्य प्रदेश में की राजधानी भोपाल में नर्सिंग काउंसिल के बाहर धरना दे रहे छात्र-छात्राओं के साथ पुलिसिया बर्बरता का मामला सामने आया है। पुलिस ने यहां अपनी जायज मांगों को लेकर प्रदर्शन छात्र छात्राओं के साथ बुरी तरह से मारपीट की। इतना ही नहीं छात्र नेता रवि, भव्य सक्सेना व अन्य को गिरफ्तार कर लिया।

दरअसल, मंगलवार देर रात तक एनआरआई कॉलेज के बाहर प्रदर्शन करने के बाद स्टूडेंट्स बुधवार सुबह नर्सिंग काउंसिल के बाहर धरना देने पहुंचे थे। छात्र नर्सिंग काउंसिल के रजिस्ट्रार से मिलकर उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराना चाहते थे। छात्रों से मिलने रजिस्ट्रार तो नहीं आए मगर पुलिस जरूर आई। पुलिस ने नर्सिंग स्टूडेंट्स पर लाठीचार्ज कर उन्हें धरने से उठाया। इतना ही नहीं छात्राओं के साथ भी अभद्रता व बलप्रयोग किया गया है। इस दौरान एक छात्रा बेहोश होकर गिर पड़ी।

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे एनएसयूआई मेडिकल विंग के संयोजक रवि परमार को टीटी नगर पुलिस घसीटते हुए ले गई। छात्र नेता रवि परमार, भव्य सक्सेना व अन्य देर शाम तक पुलिस हिरासत में ही रहे। उन्हें छुड़ाने के लिए सैंकड़ों की संख्या में नर्सिंग स्टूडेंट्स थाने के बाहर जमा हो गए। पुलिस ने उन्हें अवैध तरीके से हिरासत में लेकर उनका फोन भी जब्त कर लिया था।

क्यों प्रदर्शन कर रहे नर्सिंग स्टूडेंट्स

दरअसल, एनआरआई कॉलेज प्रशासन ने दो साल पहले सैंकड़ों छात्र-छात्राओं का नर्सिंग कॉलेज में दाखिला लिया था लेकिन दो साल बाद अब कॉलेज प्रशासन ने छात्रों को बताया कि कॉलेज के पास मान्यता नहीं है। ऐसे में उन्हें डिग्री नहीं मिलेगी। अब सैंकड़ों छात्र-छात्राओं का भविष्य अधर में लटक गया है। छात्र परेशान हैं कि अब वे क्या करें।

छात्र संगठन एनएसयूआई की मेडिकल विंग इन छात्रों के समर्थन में कॉलेज के बाहर मंगलावर शाम से धरने पर बैठी थी। एनएसयूआई मेडिकल विंग के रवि परमार ने कॉलेज संचालक के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे। लेकिन नर्सिंग स्टूडेंट्स का आवाज उठाना उन्हें तब भारी पड़ गया जब पुलिस उठाकर ले गई। प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं ने बताया कि उन्होंने भोपाल देहात पुलिस थाने में शिकायत भी की है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन विवेक त्रिपाठी भी देर शाम टीटी नगर थाने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया कि शिक्षा माफियाओं को चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग का संरक्षण प्राप्त है, इसलिए वे स्टूडेंट्स के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने के पहले कुछ नहीं सोचते। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि पुलिस जल्द ही छात्र नेताओं को छोड़े वरना एनएसयूआई और युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता थाने का घेराव करेंगे उन्होंने सरकार से अपील करते हुए कहा कि नर्सिंग स्टूडेंट्स का भविष्य खतरे में है, कृप्य उनके साथ न्याय करें ।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post