मुंगावली में ग्राम देवरछी के किसानों को मुआवजा का अवार्ड बनना तय हुआ

मुंगावली तहसील के अंतर्गत ग्राम देवरछी 
     अशोकनगर । रानी लक्ष्मीबाई बेतवा नदी परिषद राजघाट बांध जिला ललितपुर उ, प्र, के डूब क्षेत्र में वर्ष 2010 से आ रही थी हरि लाइन को क्रॉस करके ग्राम देवरछी के किसानों की भूमि मैं पानी करीब 100 बीघा जमीन को प्रभावित कर रहा था जिससे किसानों को अपनी फसलों की क्षति हो रही थी एवं भूमिका उचित मुआवजा लेने के लिए समाज सेवक कवि संग्राम सिंह अहिरवार ने काफी संघर्ष किया संबंधित अधिकारियों को मौके पर 11 मई 2015 में भी दिखाया था इसके बाद 12 मई 2022 को मुंगावली अनुविभागीय अधिकारी राहुल गुप्ता तहसीलदार दिनेश सांवले द्वारा परियोजना के अधिकारी सहायक अभियंता मूलचंद आर्य पटवारी गिरदावर इंजीनियर आदि को मौके पर जमकर फटकार लगाई थी तब जाकर संबंधित अधिकारियों ने निरीक्षण करवाया गया 14 मई 2022 को मशीन द्वारा सर्वे किया गया जिसमें यह पाया गया कि ग्राम देवरछी के किसानों की करीब 100 बीघा जमीन हरि लायन से बाहर डूब रही है सहायक अभियंता राजघाट द्वारा रिपोर्ट पत्र क्र,51, 15 मई 2022अनुविभागीय अधिकारी मुंगावली को प्रस्तुत की गई अनुविभागीय अधिकारी मुंगावली द्वारा एक प्रतिवेदन कलेक्टर जिला अशोकनगर उमा महेश्वरी के पास भेजा गया, कलेक्टर कार्यालय से अनुमति पत्र क्र, 69 /25/8/2022 मिलने के बाद अनुभाग अधिकारी तहसील मुंगावली कार्यालय से पत्र क्र,779, 24 नवंबर 2022 की प्रति अधिशासी अभियंता भू अर्जन प्रखंड राजघाट बांध ग्राम देवरछी किसानों को मुआवजा का अवार्ड बनवाने हेतु प्रेषित की गई यह आदेश होने के बाद कवि संग्राम सिंह ने बताया कि मुझे कानून पर भरोसा है और जब तक किसानों को मुआवजा नहीं मिलेगा तब तक मेरा संघर्ष जारी रहेगा किसानों की भूमि सर्वे नंबर360 का ,360 खा,360 ग, 324/2, 295,326,295,370/2, 359/2,302,320,368/2,333,282, 318/2/1, 2,93,369/2,319, 310,343,303,301/2,312, 305,315,385/305, 304/2, 386/315/1, 313,348/2, 321, उक्त नंबरों का 12 साल बाद मुआवजा मिलने की आशा हो रही है अब देखना यह है कि रानी लक्ष्मीबाई राजघाट बांध परियोजना के माध्यम से कवि संग्राम सिंह के मांग अनुसार एवं मानव अधिकार अधिनियम के अनुच्छेद 25 के अंतर्गत एवं भू अर्जन पुनर्वासन और अधिकार अधिनियम 2013 की धारा( 1)66 के अंतर्गत किसानों को 12 साल से हो रही खरीफ फसल की क्षतिपूर्ति राशि एवं भूमि का चौगुनी कीमत का मुआवजा कब तक मिल सकता है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post