देश के सभी अस्पताल व मेडिकल कॉलेज में भगवान धन्वंतरि की प्रतिमा स्थापित हो: केपी यादव

-संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान सांसद डॉ केपी यादव ने रखी मांग

शिवपुरी। गुना-शिवपुरी-अशोकनगर लोकसभा संसदीय क्षेत्र के सांसद डॉ केपी यादव ने संसद में चल रहे शीतकालीन सत्र के दौरान नियम 377 के तहत देश के सभी मेडिकल कॉलेजों व अस्पतालों में आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति के जनक भगवान धन्वंतरि की प्रतिमा स्थापित करने का अनुरोध किया।
 ज्ञातव्य हो कि सांसद डॉ केपी यादव स्वयं पेशे से चिकित्सक हैं जो समय-समय पर चिकित्सा व स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर सदन में ध्यान आकर्षित करते हैं।इसी तारतम्य में भारतीय सांस्कृतिक समृद्धि के संरक्षण की दिशा में उन्होंने आयुर्वेद जैसी सफल चिकित्सा पद्धति के जनक भगवान धन्वंतरि के चिकित्सा क्षेत्र में महत्व योगदान को लेकर सदन में मांग रखी।
 शीतकालीन सत्र में बोलते हुए सांसद डॉक्टर के पी यादव ने कहा कि भगवान धन्वंतरी को भगवान विष्णु का अवतार माना गया है और पौराणिक कथा के अनुसार चतुर्भुज स्वरूप में भगवान धन्वंतरि का प्रदुर्भाव समुद्र मंथन के दौरान जनकल्याण के निमित्त हुआ था,भगवान धन्वंतरी के एक हाथ में आयुर्वेद,दूसरे हाथ में आयुर्वेद ग्रंथ तीसरे हाथ में औषधि कलश व जड़ी बूटी और चौथे हाथ में शंख विद्यमान है। भगवान धन्वंतरी ने ही विश्व के कल्याण के लिए औषधियों की खोज की थी, जिसकी जानकारी धनवंतरी संहिता में दी गई है, महान सुश्रुत ने उससे ही आयुर्वेद चिकित्सा की शिक्षा प्राप्त की और सुश्रुत संहिता की रचना की। इस वर्ष धनतेरस के शुभ अवसर पर मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों में भगवान धन्वंतरि की पूजा आयोजित की गई थी। भगवान धन्वंतरी हमारी संस्कृति का अभिन्न अंग है और उनका वर्णन प्राचीन ग्रंथों जैसे वेद-पुराण में भी उल्लेखित किया गया है तथा उन्हें भगवान का चिकित्सक भी बोला जाता है भगवान धन्वंतरी को हिंदू धर्म में देव वैद्य की पदवी हासिल है इसके साथ ही वह चिकित्सा जगत की समृद्ध विरासत का प्रतीक है।सांसद डॉ केपी यादव ने केंद्र सरकार से निवेदन किया कि सरकार द्वारा संचालित सभी अस्पताल और मेडिकल कॉलेजों में भगवान धनवंतरी की प्रतिमा स्थापित की जाए जिससे स्वास्थ्य सेवाओं जनक होने के नाते उनका महत्व व योगदान की जानकारी देश तथा विश्व के हर नागरिक को हो।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post