एक वर्ष में सांसदों द्वारा यात्री सुविधाओं का षुभारंभ एवं लोकार्पण-

 भोपाल । 25 फरवरी 2022 को सांसद, खंडवा ज्ञानेश्वर पाटिल द्वारा बीड़-खण्डवा-बीड़ अनारक्षित पैसेंजर स्पेशल ट्रेन नंबर 05692 को उद्घाटन सेवा को हरी झंडी दिखाकर शुभारम्भ किया।
 27. अप्रैल 2022 को सांसद भोपाल साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा वीर सावरकर रेल अंडर ब्रिज का लोकार्पण किया गया।
 2 मई 2022 को सांसद, सागर राजबहादुर सिंह के कर कमलों द्वारा बीना स्टेशन पर यात्रियों के लिए विस्तारित सुविधाओं में नवनिर्मित एस्केलेटर, फुट ओवर ब्रिज एवं पुनर्विकसित सर्कुलेटिंग एरिया का लोकार्पण किया गया।
 15 मई 2022 को रेल एवं वस्त्र राज्य मंत्री, भारत सरकार दर्शना जरदोश के कर कमलों द्वारा गुना स्टेशन पर स्मारकीय राष्ट्रीय ध्वज एवं यात्री सुविधाओं का लोकार्पण किया।
 21 मई 2022 को सांसद गुना डॉ0 कृष्णपाल सिंह यादव ने गुना स्टेशन पर गाड़ी संख्या 19811 कोटा-इटावा एक्सप्रेस की बहाली सेवा का शुभारंभ किया।
 16 अगस्त 2022 को सांसद नर्मदापुरम उदय प्रताप सिंह जी द्वारा होशंगाबाद स्टेशन पर नवनिर्मित फुट ओवर ब्रिज, लिफ्ट का लोकार्पण तथा नये फुट ओवर ब्रिज का भूमि पूजन किया।
 16 अगस्त 2022 को गाड़ी संख्या 12062 रानी कमलापति-जबलपुर जनषताब्दी एक्सप्रेस में यात्रियों को अत्याधुनिक सुविधायुक्त एक विस्टाडोम कोच लगाकर षुभारंभ किया गया।
 दिनांक 23 अक्टूबर 2022 को सांसद-सागर राजबहादुर सिंह ने बीना स्टेशन पर गाड़ी संख्या 06603/06604 बीना-कटनी मुड़वारा मेमू स्पेषल का षुभारंभ किया।
 22 अक्टूबर 2022 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से 10 लाख कर्मियों के लिए भर्ती अभियान रोजगार मेले का शुभारंभ किया गया।
 22 अक्टूबर 2022 को माननीय केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री,भारत सरकार ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने रानी कमलापति स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में समूह-ए, समूह-बी (राजपत्रित), समूह-बी (अराजपत्रित) और समूह-सी के 285 प्रतिभागियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया।
 भोपाल मंडल में 12 अप्रैल 2022 को यात्री सुविधा समिति रेलवे बोर्ड द्वारा रानी कमलापति एवं भोपाल स्टेशन का निरीक्षण किया।
भोपाल मण्डल की आय में वृद्धि-
 भोपाल मण्डल के बिजनेस डेवलपमेन्ट यूनिट के अधिकारियों द्वारा किये गए निरन्तर प्रयासों के परिणामस्वरूप वित्तिय वर्ष 2022 (माह अप्रैल 2022 से नवम्बर 2022 तक) में आयशर ट्रैक्टर एवं महेन्द्रा पिकअप एनएमजी डिब्बे में लोड कर 60 रेक भेजे गये। इससे मण्डल के राजस्व में कुल रुपये 4.60 करोड़ की बढोत्तरी दर्ज हुई है।
 वित्तीय वर्ष 2022-23 (अप्रैल 2022 से नवम्बर 2022 तक) में मण्डल को सकल आय रुपये 1263.83 करोड़ प्राप्त हुई, जो गत वर्ष की इसी अवधि में प्राप्त सकल आय रुपये 832.41 करोड़ से 51.83 प्रतिशत अधिक है।
 टिकट चेकिंग से प्राप्त आय-माह अप्रैल 2022 से नवम्बर 2022 तक चलाये गए टिकट चेकिंग अभियान में बिना टिकट, अनियमित टिकट एवं बिना बुक कराए समान लेकर यात्रा करने वाले यात्रियों के 562370 मामले पकड़े गए, जिनसे रुपये 37.17 करोड़ रेल राजस्व प्राप्त हुआ, जो गत वर्ष की इसी अवधि में पकड़े गए 439388 मामलों से प्राप्त आय रुपये 28.76 करोड़ से क्रमशः 27.99 प्रतिशत एवं 29.23 प्रतिशत अधिक है।
 माल लदान से आय-भोपाल मण्डल के बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट के द्वारा लगातार किये जा रहे प्रयासों के परिणामस्वरूप माल लदान से जुड़े व्यापारी अपने माल को रेलवे के जरिये परिवहन करने में रूचि ले रहे हैं।
 इस वित्तीय वर्ष (माह अप्रैल-2022 से नवम्बर-2022 तक) में मण्डल द्वारा मालगाड़ी के 2151 रेक से किये गये 5.74 मिलियन टन माल लदान से रूपये 658.28 करोड़ का रेल राजस्व प्राप्त हुआ। जो गत वर्ष की इसी अवधि में 1865 रेक से 4.76 मिलियन टन किये गये माल लदान से प्राप्त राजस्व रूपये 490.90 करोड़ से 34.10 प्रतिशत अधिक है।
 एक स्टेषन -एक उत्पाद-
 वोकल फॅार लोकल को बढ़ावा मिलेगा, आत्मनिर्भर भारत बनने की ओर अग्रसर। रेलवे बोर्ड के निर्देशानुसार सम्पूर्ण भारतीय रेलवे में “एक स्टेशन एक उत्पाद“ योजना का विस्तार करते हुए मण्डल के 10 रेलवे स्टेशनों (भोपाल, रानी कमलापति, होशंगाबाद, इटारसी, हरदा, विदिशा, गंजबासौदा, बीना, गुना एवं अशोकनगर ) पर राष्ट्रीय डिजाइन संस्थान द्वारा डिजाइन किए गए स्टॉल स्थापित किये जा रहे हैं। 56 स्टेषनों पर एक स्टेषन एक उत्पाद के स्टॉलों की स्थापना षीघ्र की जा रही है।
आज़ादी का अमृत महोत्सव-
 भोपाल रेल मण्डल में 18 से 23 जुलाई 2022 तक आजादी की रेलगाड़ी और स्टेशन विषय पर आधारित विविध कार्यक्रम आयोजित कर स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा स्वतंत्रता आंदोलन में निभाई गई भूमिका को याद किया जा रहा है, और लोगों में प्रचार-प्रसार किया गया ।
 आजादी के 75वें वर्ष को देश में आजादी का अमृत महोत्सव के तौर पर मनाया जा रहा है। भोपाल रेल मण्डल में 18 से 23 जुलाई 2022 तक आजादी की रेलगाड़ी और स्टेशन विषय पर आधारित विविध कार्यक्रम आयोजित कर स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा स्वतंत्रता आंदोलन में निभाई गई भूमिका को याद किया गया। इस अवसर पर स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान देने वाले भोपाल के दो स्वतंत्रता सेनानियों मोहम्मद जमीर और पार्वती देवी को शॉल और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया।
 स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के ऐतिहासिक अवसर पर सम्पूर्ण भारतीय रेल में मनाए जा रहे ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में सम्पूर्ण देश में दिनांक 14 अगस्त 2022 को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के तौर पर याद किया गया। इस अवसर पर रानी कमलापति स्टेशन पर देश विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस की डिजिटल प्रदर्शनी का अनावरण किया गया। कार्यक्रम में भोपाल निवासी स्वतंत्रता सेनानी देवी शरण एवं नारायणी देवी को ससम्मान आमंत्रित किया गया था।
पर्यावरण एवं ऊर्जा एवं सरंक्षण-
  5. जून 2022 को मध्यप्रदेश सरकार द्वारा मध्य प्रदेश वार्षिक पर्यावरण पुरस्कार-2020-21 के लिए सामान्य उद्योग की श्रेणी में ’भोपाल स्टेशन को प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ है। पर्यावरण संरक्षण की दिशा में भोपाल स्टेशन पर किये गए विभिन्न सराहनीय कार्यों के लिए मध्य प्रदेश के माननीय मुख्य मंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पुरस्कार प्रदान किया गया।
भोपाल एक्सप्रेस को आई.एम.एस सर्टिफिकेट-
आधुनिक एल.एच.बी. कोच रेक से सुसज्जित गाड़ी संख्या 12155/12156 हबीबगंज-हजरत निजामुद््दीन-हबीबगंज शान-ए-भोपाल सुपर फास्ट स्पेशल एक्सप्रेस को विश्वस्तरीय रखरखाव पर्यावरण हितेशी संसाधनों, यात्रियों की सुविधाजनक यात्रा एवं सुरक्षित संचालन को देखते हुए इस टेªन के लिये मेसर्स ए मार्क रेटिंग प्रायवेट लिमिटेड द्वारा प्रदान किया गया।
साँची रेलवे स्टेशन कार्बन मुक्त-
 साँची नगर को सोलर सिटी के रूप मे विकसित किए जाने हेतू भोपाल रेल मण्डल द्वारा मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड के साथ एक समझौता किया जा रहा है जिसके उपरान्त साँची रेल्वे स्टेशन पर रूफ टॉप सोलर प्लांट स्थापित किया जाएगा जिससे साँची रेल्वे स्टेशन को कार्बन फ्री बनाने का प्रयास होगा।
ऊर्जा संरक्षण-
 भारतीय रेलवे की अपनी तरह की पहली पहल 25 केवी एसी ट्रैक्शन सिस्टम-बीना सोलर प्लांट को सीधे भेजने वाली सौर ऊर्जा ने बर्लिन में 1 जून 2022 को आयोजित यूआईसी इंटरनेशनल सस्टेनेबल रेलवे अवार्ड्स में जीरो-कार्बन टेक्नोलॉजी के सर्वश्रेष्ठ उपयोग की श्रेणी में पुरस्कार जीता है। यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है क्योंकि भारतीय रेलवे 100 प्रतिषत विद्युतीकरण लक्ष्य के तहत बड़े पैमाने पर विद्युतीकरण के लिए चला गया है और 2030 तक शुद्ध शून्य कार्बन उत्सर्जक के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए इस पायलट बिजली परियोजना की सफलता के साथ भारतीय रेलवे इस तरह के सौर संयंत्र को विभिन्न स्थानों पर स्थापित करेगा।
 ऊर्जा संरक्षण उपाय के रूप में 12 स्टेशनों पर स्टेशन लाइटिंग (30-70 सर्किट) को होम और स्टार्टर सिग्नल से सेंस कर ऑटोमैटिक स्विचिंग से ऑन और ऑफ किया जा रहा है। जब ट्रेन प्लेटफॉर्म पर आने वाली होगी, तब होम सिग्नल को भांपते हुए ट्रेन के प्लेटफॉर्म पर आने तक शत- प्रतिशत लाइटें चालू रहेंगी। जब ट्रेन प्लेटफॉर्म से चलेगी, तो स्टार्टर सिग्नल को भांपते हुए 70%लाइटें अपने आप बंद हो जाएंगी और केवल 30% लाइटें ही चालू रहेंगी। इस ऑटोमेशन सर्किट से भोपाल मंडल में प्रतिवर्ष 13.41 लाख/- रुपये की बचत होगी।
डिजीटल इंडिया-
 यूनिफाइड पेमेन्ट इंटरफेस- डिजिटल पेमेन्ट को बढ़ावा देने के लिये मण्डल के 80 स्टेशनों पर यू.पी.आई की सुविधा उपलब्ध है। इस सुविधा का यात्रियों द्वारा भरपूर उपयोग किया जा रहा है। आरक्षित टिकट पर यात्रियों को 5 प्रतिशत तक की छूट प्रदान की जा रही है। मण्डल में संचालित सभी केटरिंग स्टॉल पर यह सुविधा उपलब्ध है। वेंडरों के लिये क्यू.आर. कोड पहचान पत्र बनाने की प्रक्रिया चल रही है।
 भोपाल रेल मंडल से प्रारम्भ/समाप्त होने वाली अब तक 150 गाड़ियों में एचएचटी से टिकट की जांच और खाली सीट के आवंटन की सुविधा शुरू हो गई है।इस व्यवस्था से ट्रेन में खाली सीट के बारे में अपने आप पता लग जाएगा। इससे प्रतीक्षा सूची के यात्रियों को भी खाली सीट उपलब्ध कराने में सहूलियत होगी। इससे यात्रियों को भी संतुष्टि मिलेगी, साथ ही डिजिटल इंडिया अभियान को भी बढ़ावा मिलेगा।
अधोसंरचना का विकास-
 बीना-गुना-कोटा दोहरीकरण रेल लाइन की कुल लम्बाई 237 किलोमीटर है, जिसमें से भोपाल मण्डल में बीना-गुना दोहरीकरण की कुल लम्बाई 119.98 किलोमीटर है।
 रेल परिचालन प्रारंभ-बीना-गुना रेलखण्ड के कुल 119.98 किलोमीटर में से 92.98 किलोमीटर रेल खण्ड पर दोहरीकरण का कार्य पूर्ण हो गया है। रेल परिचालन प्रारंभ है।
 कार्य पूर्णता की ओर-षेश कंजिया-पिपरईगांव रेल खण्ड में 27 किलोमीटर रेल खण्ड के दोहरीकरण का कार्य भी पूर्णता की ओर है।
निशातपुरा रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास-
 निशातपुरा स्टेशन टर्मिनल में यात्रियों के लिए आइलैण्ड प्लेटफॉर्म, प्लेटफॉर्म पर कवर ओवर शेड, बुकिंग कार्यालय भवन, पैदल पार पुल, 2 लिफ्ट, कोच गाइडेंस प्रणाली, कवर ओवर षेड एवं अन्य डिजीटल टेªन डिस्प्ले बोर्ड का कार्य प्रगति पर है।
भोपाल स्टेशन पर नए भवन का निर्माण-
 भोपाल स्टेषन के नवनिर्मित भवन के भूतल पर-क्लॉक रूम, स्टेशन निदेशक का कमरा और कार्यालय, प्रधान टिकट संग्राहक कार्यालय, दोनों सिरों पर एस्केलेटर, उपयुक्त स्थानों पर लिफ्ट-03 नंबर, जीएफ दोनों (नए और पुराने) एफओबी के साथ दोनों पर सीढ़ियों से जुड़ाव, दोनों सिरों पर पुरुष/महिला शौचालय ब्लॉक, दोनों सिरों पर पेयजल की व्यवस्था, इटारसी छोर पर पार्सल स्टोर रूम उपलब्ध, समतल सतह पर यात्रियों की सुविधा के लिए समवर्ती क्षेत्र प्लेटफार्म संख्या 01 से जुड़ाव, पोर्च क्षेत्र को नई इमारत तक पहुंचने के लिए सीढ़ियों और रैंप के साथ जुड़ाव किया।
 भोपाल स्टेषन के नवनिर्मित भवन के पहला तल पर-विभिन्न स्थानों पर दो शौचालय ब्लॉक, पहली मंजिल नए और पुराने फुट ओवर ब्रिज से जुड़ाव,खाद्य क्षेत्र, मनोरंजन क्षेत्र आदि। ओपन टैरेस रेस्टोरेंट के लिए जगह उपलब्ध है।
यात्री सुरक्षा एवं संरक्षा-
 मंडल के भोपाल, रानी कमलापति, संत हिरदाराम नगर, होषंगाबाद, इटारसी, विदिषा, बीना एवं शिवपुरी स्टेशनों पर सी.सी.टी.वी. कैमरों से संदिग्ध व्यक्तियों की निगरानी की जा रही है।
 मण्डल रेल प्रबंधक कार्यालय में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुये 58 सीसीटीवी कैमरें स्थापित किये गये हैं। इसकी मॉनीटरिंग 24 घंटे मण्डल नियंत्रण कार्यालय में की जाती है।
 32 राजधानी, मेल एवं एक्सप्रेस गाड़ियों की एस्कार्टिंग।
 मंडल द्वारा मिशन नन्हें फरिश्ते के अंतर्गत 1 जनवरी-2022 से 25 दिसम्बर-2022 तक लावारिस एवं घर से भागे हुये 225 बच्चों को उनके परिजनों एवं सामाजिक संस्थाओं को सुपुर्द किया।
 मंडल द्वारा मिशन अमानत के अंतर्गत 1 जनवरी-2022 से 25 दिसम्बर-2022 तक यात्री गाड़ियों में एवं स्टश्ेानों पर छूटे हुये कुल 241 नग सामान बरामद कर, समान की कुल कीमत रूपये 43,95,075/- थी। बरामद सामान यात्रियों को वापिस सुपुर्द किया।
अमृत भारत स्टेषन योजना के अंतर्गत-
 मण्डल के 14 स्टेषनों (अषोकगनर, गंजबासोदा, विदिषा, बानापुरा, ब्यावरा-राजगढ़, इटारसी जक्षन, गुना, होषंगाबाद, हरदा, खिरकिया, रूठियाई, सॉंची, षाजापुर एवं संत हिरदाराम नगर) का विकास किया जायेगा। जिसके अंतर्गत-उच्च स्तरीय प्लेटफॉर्म, उचित रूप से डिजाइन किये गये साइनेजेज, समर्पित पैदल मार्ग, सुनियोजित पार्किंग क्षेत्र, बेहतर प्रकाष व्यवस्था, दिव्यांगजनों के लिये सुविधाआंे आदि का विकास किया जायेगा।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post