राष्ट्रीय महासचिव के पद पर नियुक्ति हुई डॉ.सरिका ठाकुर

ग्वालियर ।  प्रख्यात तथा सबके हदय में अपना गरिमापूर्ण स्थान बनाने वाली शिक्षिका, सेविका, कवयित्री और लेखिका डॉ. सारिका ठाकुर समाज में व्याप्त दरिंदगी, महिला उत्पीडन को जड़ से उखाड़ फेंकने का प्रयास कई वर्षों से अपनी कलम के माध्यम से कर रही हैं ।
डॉ. सारिका ठाकुर पेशे से शिक्षिका के रूप में निजी विद्यालय में कई वर्षों से अपनी शिक्षा प्रदान कर रही हैं। जितना ही सहज - सरल उनका स्वभाव है उतने ही कम शब्दों में वें अपनी बात के माध्यम से दूसरों को प्रभावित करने की कला भी जानती हैं, जिसके चलते शिक्षा के क्षेत्र में उन्हें उत्कृष्ट शिक्षकों का सम्मान से सम्मानित किया गया है । नई शिक्षा नीति के प्रणाली चलने वाले राष्ट्रीय तथा अशासकीय कार्यशाला में तथा वेबीनार के माध्यम से उनके उत्कृष्ट योगदान को देखते हुए उन्हें नई शिक्षा नीति "राजदूत" के नाम भी प्रमाणित किया गया है।
ना केवल शिक्षा बल्कि साहित्य के क्षेत्र में भी राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाए हुए हैं ।
यदि सामाजिक कार्यों की बात करें तो डॉ.सारिका ने जमीनी स्तर से जुड़कर महिलाओं को रोजगार दिलाना, बच्चों को शिक्षा प्रदान करना, महिलाओं के शोषण को रोकना, महिला सशक्तिकरण के चलते बेटियों तथा महिलाओं की सुरक्षा के प्रति उन को जागरूक करने के लिए विभिन्न प्रकार के कार्यशालाओं का आयोजन करती रहती हैं । इसके साथ ही वे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी सेवायें प्रदान कर लोगों के हृदय में अपनी जगह बना चुकी हैं।
इस समय वह में ऐसे बच्चों को शिक्षा प्रदान करने कार्य कर रही है, जो कोरोना‌ काल अपने माता-पिता खो चुके हैं।
 उनके शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य को देखते हुए उन्हें ग्लोबल एजुकेटर फोरम के प्रेसिडेंट अंतर्राष्ट्रीय पैडमैन लीजेंड लीडर प्रो डॉ बीरेन दवे जी ग्लोबल एजुकेटर फोरम
में राष्ट्रीय महासचिव के पद पर नियुक्ति किया है।
डॉक्टर सारिका ने बताया कि उन्हें जो जिम्मेदारी ग्लोबल एजुकेटर फोरम के द्वारा प्रदान की गई है वह उसे पूरी इमानदारी, मेहनत और लगन से निभाने का पूर्व प्रयास करेंगी और शिक्षा के क्षेत्र में बच्चों को उचित मार्गदर्शन प्रदान का उज्जवल भविष्य बनाने में अपनी सहायक भूमिका निभाई।
उन्होंने राष्ट्र महासचिव के पद पर नियुक्त किए जाने के लिए लीजेंड लीडर प्रो डॉ बीरेन दवे जी,एंव समस्त सलाहकार एवं संचालक मंडल के सदस्यों का आत्मीय आभार किया।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post