महिला समूह के सशक्तिकरण व आर्थिक उन्न्नति में जोड़ने पर सीएलएफ को मिला यह पुरस्कार

दुर्गा सामुदायिक संगठन (सीएलएफ) महिला समूह को हैदराबाद में मिला रीजनल लेवल सेंट्रल जोन में प्रथम पुरस्कार
- कलेक्टर से मिली अध्यक्ष व सचिव, दोनों को मिली बधाई

शिवपुरी। जिले के खनियांधाना के दुर्गा सामुदायिक संगठन (सीएलएफ) महिला समूह को हैदराबाद के तेलंगना में रीजनल लेवल सेंट्रल जोन में प्रथम पुरस्कार मिला है। हैदराबाद के तेलंगना में आयोजित कार्यक्रम के दौरान खनियांधाना की महिला समूह दुर्गा सामुदायिक संगठन सीएलएफ को यह पुरस्कार मिला है जिसमें सीएलएफ की अध्यक्ष शशि खटीक और सचिव सुधा भारद्वाज ने यह पुरस्कार हैदराबाद में प्राप्त किया।इस दौरान हैदराबाद राज्य के मंत्री के हाथों यह पुरस्कार प्राप्त किया है।
मप्र ग्रामीण आजीविका मिशन के जिला प्रबंधक अरविंद भार्गव ने बताया कि उक्त पुरस्कार मिलने से महिलाओं में काफी उत्साह है। खनियांधाना की दुर्गा सामुदायिक संगठन सीएलएफ को यह पुरस्कार महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने, महिलाओं को रोजागार से जोड़ने व आर्थिक रूप से मजबूत करने व सशक्त बनाने व समूह के गुड गवर्नेंस को लेकर यह पुरस्कार मिला है।
इस पुरस्कार में उन्हें 1 लाख रुपए की राशि के साथ-साथ और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया है। इस पुरस्कार के बाद सोमवार को खनियांधाना दुर्गा सामुदायिक संगठन की अध्यक्ष शशी खटीक व सचिव सुधा भारद्वाज ने शिवपुरी कलेक्टर अक्षय कुमार से उक्त पुरस्कार के साथ मुलाकात की। इस दौरान शिवपुरी कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने दोनों ही महिलाओं का उत्साह बढ़ाया उनकी तारीफ की और इस पुरस्कार को लेकर उन्हें बधाई दी। गौरतलब है कि खनियांधाना दुर्गा सामुदायिक संगठन सीएलएफ 25 गांव का समूह है जिसमें करीब 3400 महिलाएं शामिल है जो विभिन्न प्रकार के समूह से संबंधित कार्यों में संलग्न हैं। महिला सशक्तिकरण, महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत करने के अलावा प्रबंधन के क्षेत्र में महिलाओं को जोड़कर महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा दे रही हैं। इससे पहले भी इस समूह को नेशनल एसएससी फेडरेशन अवार्ड 2022 भी मिल चुका है। यह पुरस्कार इन्हें 8 मार्च 2022 को केंद्र के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री के हाथों प्राप्त हुआ था।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post