सीधी भर्ती का विरोध कर्मचारी मंच ने मुख्य सचिव को ज्ञापन सौंपा


भोपाल। मध्यप्रदेश कर्मचारी मंच ने सरकार के सीधी भर्ती करने के निर्णय का विरोध किया है तथा शासकीय विभागों में रिक्त 1लाख पदों पर सीधी भर्ती न करते हुए शासकीय विभागों में कार्यरत अनियमित कर्मचारियों स्थाई कर्मियों दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों कोरिक्त पदों पर नियमित नियुक्ति प्रदान करने की मांग करी है उक्त मांग का ज्ञापन आज कर्मचारी मंच ने मध्यप्रदेश शासन के मुख्य सचिव एवं अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन विभाग को सौंपा है ज्ञापन सौंपने वाले प्रतिनिधिमंडल में अशोक पांडे सीपी शर्मा सुनील पाठक भागीरथ विश्वकर्मा श्याम बिहारी सिंह राजेंद्र पटेल आदि शामिल थे।
मध्यप्रदेश कर्मचारी मंच के प्रांत अध्यक्ष अशोक पांडे ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया है कि प्रदेश के 52 शासकीय विभागों वर्तमान में एक लाख नियमित पद रिक्त हैं जिन पर सरकार नेअनियमित कर्मचारियों स्थाई कर्मियों दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के नियमितीकरण के अधिकारों का हनन करके सीधी भर्ती करने का निर्णय लिया है जिसके आदेश मध्यप्रदेश शासन ने 14 सितंबर 2022 एवं 16 नवंबर 2022 को जारी करें हैंजबकि सर्वोच्च न्यायालय की पांच जस्टिजो बेंच नेअनियमित कर्मचारियों को नियमित करने संबंधी देश की 200 याचिकाओं को एक करके उमा देवी बनाम कर्नाटक सरकार के फैसले में स्पष्ट आदेश जारी किए है कि शासकीय विभागों में 10 साल की सेवा पूर्ण कर चुके अनियमित कर्मचारियों दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को शासकीय विभागों में रिक्त पदों पर पहले नियमित किया जाए उसके बाद शासन सीधी भर्ती की प्रक्रिया प्रारंभ करें लेकिन मध्य प्रदेश सरकार सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का उल्लंघन कर के शासकीय विभागों में कार्यरत लाखों अनियमित कर्मचारियों स्थाई कर्मियों दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को नियमित करने की वजाय सीधी भर्ती कर रही है जिसके विज्ञापन भी कर्मचारी चयन बोर्ड द्वारा जारी कर दिए गए हैं जिसका कर्मचारी मंच विरोध कर रहा हैआज कर्मचारी मंच ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का हवाला देते हुए मुख्य सचिव और सामान्य प्रशासन विभाग के अपर मुख्य सचिव को ज्ञापन सौंपकर मांग करी है कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के पालन में शासकीय विभागों के रिक्त एक लाख पदों पर पहले अनियमित कर्मचारियों स्थाई कर्मियों दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को नियमित किया जाए यदि शेष पद बचते हैं तो सीधी भर्ती करी जाए ।
                             

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post