सिवनीः बाघ के हमले से एक की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने की वन विभाग के वाहनों की तोडफोड

सिवनी । जिले के पेच नेशनल पार्क अंतर्गत रूखड बफर परिक्षेत्र के ग्राम गोडेगांव निवासी चुन्नीलाल पटले की बाघ के हमले से उसकी मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने वन विभाग के सात वाहनों पर तोडफोड कर नाले पर गाडियों को पलटा दिया और रेस्क्यू करने पहुचे डॉ. अखिलेश मिश्रा के सिर पर डंडे से हमला कर दिया जिससे वह घायल हो गये।

जानकारी के अनुसार ग्राम गोडेगांव निवासी चुन्नीलाल पटले रविवार सुबह उसके घर के पीछे स्थित बाडी में शौच करने गया था। इस दौरान बाघ ने उस पर हमला कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। आक्रोशित ग्रामीणों ने बाघ को पकड़ने की मांग करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। घटनास्थल से कुछ दूरी पर तुअर के खेत व झाड़ियों में मौजूद बाघ को खदेड़ने ग्रामीणों ने लाठी-डंडे लेकर दौड़ लगा दी। इसी दौरान हमलावर बाघ ने दो अन्य लोग क्रमशः ललित (40) पुत्र मानसिंह परिहार निवासी गोडेगांव एवं खुशलाल पुत्र झलकन वाघडे निवासी बेलगांव पर पंजा मारकर घायल कर दिया। जिन्हें जिला चिकित्सालय में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है।
मौके पर बाघ को पकड़ने पहुंचा अमला तैयारियों में जुटा था। इसी बीच बाघ को जंगल के करीब जाता देखकर ग्रामीणों ने वन विभाग के चौपहिया वाहनों पर तोड़-फोड़ शुरू कर दी और अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ भी धक्का-मुक्की भी की गई।

पेच प्रबंधन के अनुसार घटना की जानकारी मिलते ही वरिष्ठ अधिकारियों के साथ पेंच पार्क व दक्षिण सामान्य वनमंडल की संयुक्त टीम रेस्क्यू दल के साथ तत्काल घटना स्थल पर पहुंची जहां पर ग्रामीणों की भीड अत्याधिक थी। रेस्क्यू करने के पहले ही भीड आक्रामक हो गई और पेंच पार्क के डॉ. अखिलेश मिश्रा के सिर पर डंडे मार दिये, जिससे उन्हें दिखना बंद हो गया जिन्हें उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया और वहां से उन्हें जबलपुर रिफर कर दिया गया है। इस दौरान आक्रामक भीड ने वन विभाग की सात गाडियों पर तोडफोड कर नाले के पास गाडियों को पलटा दिया, जिन्हें शाम को पुलिस अधीक्षक श्रीरामजी श्रीवास्तव एवं प्रभारी कलेक्टर पार्थ जायसवाल की उपस्थिति में क्रेन के माध्यम से निकाला गया।
बताया गया कि मृतक चुन्नीलाल पटले का पोस्टमार्टम उपरांत अंतिम संस्कार पुलिस प्रशासन, वन विभाग तथा परिजनों की उपस्थिति में किया गया है। मृतक के परिजनों को जनहानि के 8 लाख रूपये का चेक प्रदान किया गया है। वहीं घायलों को भी आर्थिक सहायता राशि दी गई। बाघ के हमले से घायल दोनो व्यक्ति स्वस्थ्य है। जिनका उपचार जिला चिकित्सालय सिवनी में किया जा रहा है।

पेंच टाइगर रिजर्व के उपसंचालक रजनीश सिंह ने हिस को बताया कि पेंच पार्क, दक्षिण सामान्य वनमंडल एवं पुलिस प्रशासन की संयुक्त टीम मिलकर निरंतर गश्त कर रही है। और लोगों को ताकीद कर रही है कि वह घर के बाहर न निकले, और सुरक्षित रहे। सोमवार की सुबह 06 बजे से ड्रोन एवं नये डॉक्टर की टीम तैयारियों के साथ फिर से रेस्क्यू अभियान शुरू करेगा।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post