दबंगों से मुक्त करवाई गई भूमि अब गरीबों को मिलेगी : शिवराज

नीलबड़ से शुरु हुआ गरीबों को आवास के लिए जमीन देने का यज्ञ
---
केरवा बांध के पास बनेगा जलशोधन संयंत्र, 14 उच्चस्तरीय टंकियां भी बनेंगी
---
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया 215 करोड़ के विकास कार्यों का भूमिपूजन

भोपाल । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जनवरी से विशेष अभियान संचालित कर आवासहीन लोगों को रहने के लिए जमीन दी जाएगी। आज दबंग लोगों से मुक्त करवाई गई भूमि गरीबों को देने का यज्ञ नीलबड़ से प्रारंभ हो रहा है। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्राम में जिनके पास रहने के लिए भूखंड नहीं है उन्हें 4 जनवरी, 2023 से प्रारंभ अभियान में प्राप्त आवेदनों के आधार पर ग्राम में नि:शुल्क रहने का पट्टा प्रदान किया जाएगा। मुख्यमंत्री आवासीय अधिकार योजना में रिक्त भूमि निर्धन वर्ग को आवंटित की जाएगी। हुजूर क्षेत्र भी इससे लाभान्वित होगा। शहरी क्षेत्र में जो जहां रहे रहे हैं और जो पुराने कब्जाधारी हैं, उनको पक्का मकान बनाकर देने की योजना प्रारंभ की जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान रविवार को नीलबड़ तिराहे पर आयोजित कार्यक्रम में विकास कार्यों का भूमि पूजन कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नीलबड़ तिराहा पहुंचते ही माँ सिंह वाहिनी दरबार जाकर नमन किया। मंच पर मौजूद जन प्रतिनिधियों में हूजूर विधायक रामेश्वर शर्मा, भोपाल की महापौर मालती राय, भोपाल नगर निगम अध्यक्ष किशन सूर्यवंशी, भोपाल जिला पंचायत अध्यक्ष रामकुंवर गुर्जर और अनेक समाजसेवी शामिल थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नीलबड़ के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। वो लोग जो सरकारी जमीनों पर कब्जा करते थे, दादागिरी और गुंडागर्दी करते थे, उनसे छु़ड़वाई जमीन पर अब गरीबों के मकान बनेंगे। इन व्यक्तियों ने एक या दो एकड़ नहीं हजारों एकड़ जमीन दबा रखी थी। दुर्भाग्य यह है कि पूर्व सरकार के लोग उन्हें प्रोत्साहित करते थे।  

प्रदेश में 21 हजार एकड़ जमीन गुंडों से और असामाजिक तत्वों से छुड़वाई है : मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भोपाल जिला प्रशासन को यह जमीन मुक्त करवाने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में यह अभियान निरंतर चलेगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि असामाजिक तत्वों ने जमीन दबा रखी थी, उसे मुक्त करवाएंगे। पुलिस अधिकारियों को निर्देश हैं ऐसे तत्वों को नेस्तनाबूद कर दें, जो असामाजिक हैं। अवैध कॉलोनियों को वैध करने की कार्रवाई कर बिजली, पानी जैसी बुनियादी सुविधाएं प्रदान करवाई जाएंगी। जनकल्याण के कार्यों के लिए राज्य शासन के खजाने में कभी राशि की कमी नहीं होगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के अंतर्गत भोपाल के प्रत्येक वार्ड में शिविर लगे थे। ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत स्तर भी पर शिविर लगे। भोपाल जिले में नए हितग्राही सामने आए। राशन की बात हो या रसोई गैस कनेक्शन या आयुष्मान कार्ड बनना हो उन्हें लाभान्वित किया जा रहा है। इनका वितरण भी किया जाएगा। कुल 38 योजनाओं का लाभ मिलना हितग्राहियों को शुरू हो जाएगा। यह गरीबों का कल्याण करने वाली सरकार है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हुजूर क्षेत्र के 76 ग्राम में पेयजल योजना का लाभ मिलेगा। बेटियां और बहनें दिनभर हैंडपंप पर पानी भरने जाती थी, उनके लिए यह सौगात है। अब पाइप लाइन बिछाकर पानी घरों तक पहुंचाया जाएगा। प्रदेश में बेटियों के सम्मान पर आंच पहुंचाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विद्यार्थियों के लिए उच्च शिक्षा की फीस की व्यवस्था की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हिंदी को बढ़ावा देने के लिए अनेक पाठ्यक्रम हिंदी में संचालित करने की पहल हुई है।

मुख्यमंत्री श्री ने कहा कि हुजूर क्षेत्र में जनजाति बहुल क्षेत्र के ग्रामों में विकास के कार्य तेजी से होंगे और टंट्या मामा की प्रतिमा की भी स्थापना की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आमजन से जनकल्याण की क्रांति में सहमति होने का आह्वान भी किया। उन्होंने हुजूर क्षेत्र के विधायक श्री रामेश्वर शर्मा की सक्रिय भूमिका की प्रशंसा की।

विधायक  रामेश्वर शर्मा ने संबोधन हुजूर क्षेत्र में विकास कार्यों के बारे में विस्तार से बताया। श्री शर्मा ने बताया कि क्षेत्र में गरीबों के मकान बनाने के कार्य को प्राथमिकता से किया जाएगा। सिक्स लेन के निर्माण से आमजन को लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आम जनता के लिए विनम्र और भले हैं। इसके साथ ही असामाजिक तत्वों के लिए वज्र से भी अधिक कठोर हैं। हुजूर क्षेत्र में घर-घर पाइप लाइन से पेयजल पहुंचेगा। शीघ्र ही क्षेत्र के युवाओं के विशाल सम्मेलन की योजना है, जिसे मुख्यमंत्री श्री चौहान संबोधित करेंगे। श्री शर्मा ने कहा कि समाज के हर वर्ग के कल्याण को राज्य सरकार ने प्राथमिकता दी है। भोपाल की महापौर श्रीमती मालती राय ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन श्री पद्म भंडारी ने किया।

आज हुजूर क्षेत्र में हुए शिलान्यास : एक नजर

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान हुजूर क्षेत्र के लिए 215 करोड़ लागत की परियोजनाओं का भूमिपूजन किया। इन कार्यों में 91 करोड़ केरवा ग्रामीण पेय जल परियोजना, 60 करोड़ प्रधानमंत्री आवास, 40 करोड़ नीलबड़ से बड़झिरी तक 4 लेन सड़क निर्माण और 24 करोड़ अन्य सड़कों के निर्माण कार्य शामिल हैं। इसी तरह 91 करोड़ की केरवा ग्रामीण पेयजल परियोजना में जल-जीवन मिशन के अंतर्गत हुजूर के 76 गावों में हर-घर 'नल से जल' पहुंचाने का लक्ष्य है। केरवा योजना में भोपाल नगर निगम की सीमा से लगे हुए ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाले लगभग एक लाख लोगों को शुद्ध पेय जल उपलब्ध करवाने की पहल की गई है। योजना के अंतर्गत 942 लाख लीटर प्रतिदिन क्षमता के जल शोधन संयंत्र का निर्माण केरवा बांध के पास किया जाएगा। कुल 14 उच्चस्तरीय टंकियों के माध्यम से लोगों को पीने का साफ पानी उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके अलावा इस क्षेत्र में 40 करोड़ की लागत से नीलबड़ से बड़झिरी तक 4 - लेन सड़क का निर्माण होगा। 

प्रारंभ में मुख्यमंत्री श्री चौहान का नीलबड़ चौराहे पर आत्मीय स्वागत किया गया। मंच पर मुख्यमंत्री श्री चौहान का ऐसे ग्राम जहां पेयजल योजना आएगी, वहां के निवासियों ने एक विशाल पुष्प हार से स्वागत किया। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज नीलबड़ क्षेत्र में गरीबों के आवास के लिए भूमि पूजन कर इस तारीख को ऐतिहासिक बना दिया।

 भोपाल नगर निगम द्वारा प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के अंतर्गत गरीब और आवासहीन लोगों के लिए लगभग 60 करोड़ की लागत से घर बनाए जायेंगे। कुल 40 एकड़ जमीन भू माफिया के अतिक्रमण से भोपाल जिला प्रशासन ने मुक्त करवाई थी। इस जमीन का बाजार मूल्य लगभग 100 करोड़ है। कलखेडा तहसील, हुज़ूर में भोपाल जिला प्रशासन ने 40 एकड़ भूमि को भूमाफिया से मुक्त करवाया था। भूमाफिया इसरार खान, प्रताप राजवंश, श्याम सिरोनिया के विरुद्ध थाना रातीबड़ जिला भोपाल में विभिन्न धाराओं के अंतर्गत केस दर्ज कर भूमाफियाओं को जेल भेजने की कार्यवाही भी की गई थी। ये सभी 5 माह तक जेल में रहे।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post