होनहार बच्चों का लाभ सुनिश्चित करने के लिए डेटावेस पोर्टल बनाना जरूरी : संभागायुक्त

भोपाल । संभागायुक्त मालसिंह भयडिया ने कहा कि देश और दुनिया में प्रदेश के अध्यनरत और कार्यरत युवाओं का डाटा होना चाहिए जिससे ऐसे होनहार बच्चों का लाभ देश और प्रदेश को मिल सके। श्री भयडिया शुक्रवार को कुशाभाऊ ठाकरे इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में राष्ट्रीय युवा नीति के प्रारूप तथा राज्य की प्रस्तावित युवा नीति के लिए सुझाव हेतु संभागीय कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।
कार्यशाला में अखिल भारतीय एवं राज्य सेवा के भोपाल संभाग के अधिकारियों ने भाग लिया।

 राष्ट्रीय युवा नीति कार्यशाला में संभागायुक्त श्री मालसिंह भयड़िया ने कहा कि युवा अधिकारियों से युवा नीति के लिए कार्यशाला के माध्यम से शिक्षा और कौशल पर सुझाव आमंत्रित करना है। कार्यशाला में राज्य पुलिस सेवा, राज्य वन सेवा और राज्य वित्त सेवा के अधिकारियों को उनके सुझाव और प्रस्ताव के लिए आमंत्रित किया गया था। 

 संभागायुक्त श्री भयड़िया ने कहा कि मध्यप्रदेश की युवा नीति के संबंध में अधिकारियों द्वारा बहुत अच्छे सुझाव प्राप्त हुए है। संभागायुक्त मालसिंह ने कहा कि हो सके कि गांव का युवा कहां-कहां एज्यूकेशन ले रहा है और कहां अपनी सेवाएं दे रहा हैं। कई बच्चें विदेशों में अपनी सेवाएं देते हैं। राज्य शासन चाहता है कि ऐसे होनहार बच्चों का लाभ देश और प्रदेश को मिले, इसके लिए डेटावेस पोर्टल बनाने की आवश्यकता है। 

 संभागायुक्त श्री भयड़िया ने कहा कि अधिकारियों द्वारा सुझाव प्राप्त हुए हैं बहुत अच्छे है और उन्हें नई युवा नीति में शामिल करने के लिए भेंजे जाएंगे।

 संभागायुक्त श्री भयड़िया ने कहा कि राज्य शासन द्वारा लाखों लोगों को रोजगार दिया जा रहा है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में जानकारी के अभाव में लोगों को रोजगार प्राप्त करने में कठिनाई होती है इसके लिए प्रचार-प्रसार करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि युवा नीति में आपके सुझाव और प्रस्ताव शामिल किए जाएंगे। संभागायुक्त मालसिंह ने सभी संभागीय अधिकारियों को शुभकामनाएं दी। 

 कलेक्टर अविनाश लवानिया ने कहा कि कार्यशाला में उपस्थित सभी लोगों का मैं स्वागत करता हूँ। उन्होंने कहा कि ऐसी कार्यशालाएं आयोजित होती रहना चाहिए जिससे फील्ड के अधिकारी आपस में मुलाकात कर सकते हैं और उनके कार्य क्षेत्र में जो परेशानियां आती है उसको साझा कर सकते है। कलेक्टर श्री लवानिया ने कहा कि आज का युवा इस देश का भविष्य है, जिम्मेदार युवा ही इस देश के बेहतर बना सकता है। कलेक्टर श्री लवानिया ने कहा कि आप सब अधिकारियों के समावेशी सुझाव कार्यशाला के माध्यम से प्राप्त होंगे जिससे युवा नीति बेहतर तैयार हो सकेगी।

 युवा नीति कार्यशाला में भोपाल संभाग के भोपाल, रायसेन, सीहोर, विदिशा और राजगढ़ के अधिकारियों ने भाग लिया। स्मार्ट सिटी के सीईओ श्री गौरव बेनल ने कार्यशाला में कहा कि एज्युकेशन एंड स्किल डवलपमेंट की जरूरत है। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति में इसका समावेश किया जाना चाहिए। कार्यशाला में उपस्थित संभाग के सभी अधिकारियों ने रोजगार, उद्यमिता, मेंटल हेल्थ, खेल, स्वास्थ्य, सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, पुरातत्व, स्थानीय स्तर की जानकारी के साथ नैतिक शिक्षा का पाठ्यक्रम भी प्राथमिक शिक्षा से दिए जाने का सुझाव दिया। इसके साथ ही अधिकारियों ने सभी गतिविधियां स्कूलों में आयोजित करने के लिए अपने प्रस्ताव दिए। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post