धान खरीदी मामला : रायसेन में कलेक्टर ने रिश्वत का आरोप सही पाया, दो निलंबित, कांग्रेस मीडिया उपाध्यक्ष संगीता शर्मा ने किया था मामला उजागर

भोपाल । मध्यप्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की उपाध्यक्ष संगीता शर्मा के द्वारा ट्वीट कर उमरिया धान खरीदी में रिश्वत लिए जाने एवं भाजपा मंडल अध्यक्ष के द्वारा कलेक्टर को लिखे पत्र को ट्वीट कर मामले को उठाया गया, जिस पर कलेक्टर ने दो लोगों को सस्पेंड कर दिया है। सुश्री शर्मा ने कहा है कि इससे ये साबित होता है कि प्रदेश में हर जगह भ्रष्टाचार व्याप्त है। 

 धान खरीदी में महीनों से इस तरह का भ्रष्टाचार किया जा रहा था। जैसे ही संगीता शर्मा ने ट्वीट के माध्यम से मामले को उजागर किया, वैसे ही आज कलेक्टर द्वारा खरीदी प्रभारी एवं सर्वेयर को सस्पेंड कर दिया गया। आरोपी तौल के विरुद्ध किसानों से अनैतिक रकम ले रहा था।
धान खरीदी के बीच मे ही किसानों से आई शिकायतों के बाद कलेक्टर ने गणपुरी धान खरीदी प्रभारी हर्षित गुप्ता एवम सर्वेयर रमेश यादव को निलंबित कर दिया है, इनकी जगह अब प्रभारी के रूप में अजय गुप्ता एवम सर्वेयर के रूप में गणेश साहू खरीदी केंद्र का प्रभार लेंगे। इस मामले में कलेक्टर केडी त्रिपाठी ने बताया कि किसानों से मिली शिकायतों के आधार पर कार्यवाही की गई है। कलेक्टर केडी त्रिपाठी ने शुक्रवार की सुबह करींब 9.30 बजे गणपुरी धान खरीदी केंद्र का औचक निरीक्षण किया है,इस दौरान करींब आधे दर्जन किसानों से सीधा संवाद किया,और खरीदी केंद्र में किसानों के सुविधा एवम व्यवस्थाओं की जानकारी भी ली,इस दौरान कलेक्टर ने प्रांगण में मौजूद सुदामा सिंह,मनोज सिंह दोनो निवासी सरखनिया,दराई प्रजापति निवासी बमेरा, विजय सिंह निवासी रक्सा,कन्हैया यादव निवासी खैरा, दीनबंधु यादव निवासी गणपुरी सहित क़ई किसानों से खरीदी केंद्र की व्यवस्थाओ सम्बन्ध में बातचीत की। इस दौरान कुछ किसानों ने अनैतिक राशि न लेने की बात कही,वही कुछ ऐसे किसान भी थे,जिन्होंने तौल के नाम पर पैसे के डिमांड की बात स्वीकारी है।इस दौरान कलेक्टर ने उन किसानों से भी पूछताछ की,जिन किसानों ने पूर्व में खरीदी केंद्र में अपनी धान का विक्रय किया था,इनमें मुख्य रूप से जयभान सिंह निवासी परासी, रामप्रसाद, राममिलन यादव दोनो निवासी गणपुरी, विवेक तिवारी निवासी धमोखर रहे है,इन किसानों से भी व्यवस्थाओं एवम किसानों से अनैतिक रकम लेने के सम्बन्ध में कलेक्टर ने बातचीत की, जिसके बाद सस्पेंड की कार्यवाही की गई है।इस दौरान कलेक्टर केडी त्रिपाठी के साथ जिला खाद्य अधिकारी व्हीएस परिहार,प्रभा बड़करे, एनएस भाटी,पुनीत पांडे,बैंक अधिकारी अरुण कुमार त्रिपाठी मौजुद रहे।दरअसल गणपुरी खरीदी केंद्र में करींब चार दिनों पहले धमोखर निवासी किसान एवम भाजपा मंडल अध्यक्ष सुंदर यादव अपनी करींब 107 क्विन्टल धान के विक्रय के लिए आये थे,इनका कहना है कि खरीदी प्रभारी एवम दूसरे जिम्मेदार कर्मी द्वारा अप्रत्यक्ष रूप से तौल के नाम पर अनैतिक राशि की डिमांड करते हैं, हमने अपनी धान विक्रय के विरुद्ध करींब 4 हजार की रकम दी है,जिसके बाद रसीद मिल सकी है। इस गम्भीर मामले की लिखित शिकायत भी किसान सुंदर लाल यादव ने निरीक्षण के दौरान कलेक्टर को सौंपी थी। सुश्री संगीता शर्मा ने कहा है कि अभी इतने से काम नहीं चलेगा इसमें प्रबंधक एवं पूरी टीम पर भी कार्यवाही होनी चाहिए इसके साथ साथ 29/12 /2022 तक 12178 कुंटल धान खरीदी की गई है जिसमें सभी किसानों से पैसा लिया गया है उन किसानों को खरीदी केंद्र में बुलाकर उनका पूरा पैसा वापस किया जाए। साथ ही पूरे प्रदेश में धान या अन्य खाद्यान्न की खरीदी की प्रक्रिया पारदर्शी बनाई जाए। किसानों से अवैध लूट तत्काल बंद हो।



0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post