इंजीनियरिंग, मेडीकल और श्रमोदय के विद्यार्थियों से युवा नीति पर हुआ संवाद*

भोपाल । श्रम विभाग की युवा नीति में युवाओं से परामर्श कर सुझाव प्राप्त करने के लिए श्रम विभाग के अंतर्गत तीन श्रम कल्याण मंडलों जिसमें मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण, मध्यप्रदेश श्रम कल्याण मंडल और मध्यप्रदेश असंगठित शहरी एवं ग्रामीण कर्मकार कल्याण मंडल द्वारा अपने युवा हितग्राहियों को समक्ष में आमंत्रित कर विचार विमर्श किया गया। तीनों मंडलों के इंजीनियरिंग, मेडिकल कॉलेज और श्रमोदय विद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्राएं सम्मिलित हुए।

 उप सचिव श्रम संजय जैन ने बताया कि युवाओं द्वारा चर्चा में राज्य युवा नीति के विजन और उपदेशों पर मंथन किया गया। छात्र-छात्राओं द्वारा पूरे उत्साह के साथ युवा नीति के सुझाव में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। श्री जैन ने बताया कि प्राप्त सुझाव अत्यंत रचनात्मक थे इनमें मुख्य रूप से भविष्य में कैरियर निर्माण में आने वाली चुनौतियों से निपटने के उपाय, विद्यालय तथा महाविद्यालयों में एनसीसी, एनएसएस और योग जैसी गतिविधियों को अनिवार्य किया जाना कौशल विकास महिलाओं के लिए समान अवसर, सायबर क्राइम से बचाव तथा पर्यावरण शिक्षा आदि से संबंधित महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त हुए है। श्री जैन ने कहा कि श्रम विभाग द्वारा इन सुझावों को प्रस्तावित नीति में सम्मिलित करने की अनुशंसा के साथ अग्रेषित किया जाएगा। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post