संविदा स्वास्थ्य कर्मियों से मिले अरुण यादव, मृतक दो ANM को दी श्रद्धांजलि, कहा- बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देंगे

भोपाल। मध्य प्रदेश में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारीयों की हड़ताल आज 13 वें दिन भी जारी है। हड़ताल की वजह से प्रदेश के 30 से अधिक जिलों में स्वास्थ्य सेवाएं पिछले दो हफ्ते से ठप्प हैं। स्वास्थ्य कर्मियों के इस अनिश्चितकालीन हड़ताल को कांग्रेस नेताओं का भी समर्थन मिल रहा है। इसी क्रम में आज पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरूण यादव ने राजधानी भोपाल में धरना स्थल पर पहुंच कर संविदा स्वास्थ्य कर्मियों का समर्थन किया। इस दौरान उन्होंने मृतक दो ANM को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।

कांग्रेस के कद्दावर नेता अरुण यादव मंगलवार दोपहर 12 बजे पार्टी के सीनियर विधायक पीसी शर्मा, पूर्व मंत्री राजकुमार पटेल, युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी, एनएसयूआई मेडिकल विंग के संयोजक रवि परमार व अन्य लोगों के साथ धरनास्थल पहुंचे। यहां दो उन संविदाकर्मी ANM महिलाओं की तस्वीर लगी हुई थी जिनकी पिछले 13 दिनों में मौत हुई है। ये दोनों महिलाएं भी हड़ताल में शामिल हो रहीं थीं, लेकिन उनकी मौत हो गई। यादव ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि इनकी बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगी। हम आपके साथ पूरी ताकत से खड़े हैं।


संविदा स्वास्थ्य कर्मचारीयों के इस संघर्ष में एनएसयूआई मेडिकल विंग भी शुरूआत खड़ी है और उनकी उनकी मांगे उठा रहीं। एनएसयूआई मेडिकल विंग के प्रदेश संयोजक रवि परमार ने कहा कि संविदा स्वास्थ्य कर्मचारीयों लगातार अपने नियमीकरण और अन्य जायज मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। दो हफ्ते से पूरे प्रदेश में प्रदर्शन चल रहा है। स्वास्थ्य सेवाएं भी अत्यधिक प्रभावित हो रही हैं उसके बावजूद मध्य प्रदेश की गूंगी बहरी शिवराज सरकार संविदा स्वास्थ्य कर्मचारीयों की बात सुनने तक तैयार नहीं है। इतना ही नहीं हड़ताल पर बैठे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारीयों डराया धमकाया जा रहा है।

रवि परमार ने कहा कि मध्यप्रदेश में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारीयों कि हड़ताल के दौरान दो बहनों की आकस्मिक मौत हो गई। मंडला जिले के मोहगांव विकास खंड के उप स्वास्थ्य केन्द्र हर्राटीकर में पदस्थ एएनएम उर्मिला पाटले का हृदयघात से निधन हो गया। दिवंगत एएनएम पर पूरे परिवार की जिम्मेदारी थी इनके परिवार में आय अर्जित करने वाले एएनएम के अलावा अन्य कोई नहीं है। उनकी एक छोटी सी बेटी है। वहीं डिंडोरी जिले में एएनएम के पद पर कार्यरत मधुबाला धुर्वे जो कि 8 माह की गर्भवती थी जिनकी इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। उन्हें भी धरना स्थल पर ही श्रद्धांजली सभा आयोजित कर सभी संविदा स्वास्थ्य कर्मचारीयों ने श्रृद्धांजली दी और कहा कि बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देंगे हड़ताल लगातार जारी रहेगी जब तक मांगे पूरी नहीं होगी ।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post