कॉलेजदेखो को 9 मिलियन अमेरिकी डॉलर देने के साथ विंटर कैपिटल का निवेश दोगुना करने की राह पर

गुड़गांव । कॉलेजदेखो, भारत के सबसे बड़े कॉलेज प्रवेश और उच्च शिक्षा सेवा के पारिस्थितिकी तंत्र को चल रहे दौर में अपने मौजूदा निवेशक-विंटर कैपिटल पार्टनर्स (डब्ल्यूसीपी) से 9 मिलियन अमरीकी डालर (~73.34 करोड़ रुपए) का नया निवेश प्राप्त हुआ है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, एडटेक में फंडिंग में पिछले साल के मुकाबले 2022 में 39% की तेज गिरावट देखी गई। मौजूदा निवेशकों द्वारा फंड का यह नया निवेश राजस्व की वृद्धि करने के साथ कॉलेजदेखो के भविष्य के दृष्टिकोण का एक टेस्टमन्ट है।
वित्त वर्ष 21-22 में कंपनी की आय लगभग 100 करोड़ तक पहुंच गयी और यह आने वाले वित्तीय वर्ष में इसे दोगुना करने के साथ-साथ एबिटा को भी पॉजिटिव करने के रास्ते पर है।
इस फंडिंग की पूर्व संध्या पर कॉलेजदेखो के सीईओ और सह-संस्थापक रुचिर अरोड़ा ने बताया, “भारत में एडटेक स्टार्टअप स्पेस में हलचल देखी जा रही है, लेकिन हमारे मौजूदा निवेशकों का यह नया दौर कॉलेजदेखो टीम द्वारा की गई उल्लेखनीय तेज़ी का प्रमाण है। एक मजबूत बुनियाद का निर्माण करने के बाद और एक शानदार टीम और हमारे निवेशकों के समर्थन के साथ, हम आने वाले वित्तीय वर्ष में अपनी आय को दोगुना करने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं। कॉलेजदेखो ने विश्व स्तर पर विश्वसनीय शिक्षा पारिस्थितिकी तंत्र के निर्माण की दृष्टि से शुरुआत की थी और आज हम पहले से कहीं अधिक आश्वस्त हैं कि हम ऐसा करने के अपने रास्ते पर सही हैं”।
कॉलेजदेखो ने पिछले नवंबर में सीरीज़ बी में 35 मिलियन अमरीकी डालर एकत्र किए थे। फंडिंग के उस दौर का नेतृत्व विंटर कैपिटल, ईटीएस स्ट्रैटेजिक कैपिटल - ईटीएस की निजी इक्विटी निवेश शाखा (टॉफेल® परीक्षणों और जीआरई® जनरल टेस्ट के निर्माता), कालेगा, मैन कैपिटल, डिसरप्ट एडीक्यू और क्यूआईसी द्वारा किया गया था। फंडिंग के इस नए दौर से पहले, कॉलेजदेखो ने 45 मिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक की फंडिंग एकत्र की थी।
कॉलेजदेखो ने 50,000 छात्रों की 1500 से अधिक कॉलेजों में दाखिला लेने में सहायता के लिए अपने प्रोप्राइटरी कॉमन एप्लीकेशन फॉर्म प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया है। 16 करोड़ से अधिक विजिटर के साथ, यह भारत की सबसे बड़ी उच्च-शिक्षा खोज और खोज योग्य पारिस्थितिकी तंत्र बन गया है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post