डोबी माइक्रो उद्वहन सिंचाई परियोजना से 24 गाँव की 20 हजार एकड़ भूमि होगी सिंचित : शिवराज

परियोजना से 4 हजार किसान होंगे लाभांवित

निर्विरोध पंचायतों में प्राथमिकता के साथ बनाये जायेंगे गरीबों के आवास

मुख्यमंत्री ने डोबी ग्राम में किया उद्वहन सिंचाई परियोजना का भूमि-पूजन

137 करोड़ से अधिक राशि के विकास कार्यों की दी सौगात

भोपाल । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में विकास की गति को निरंतर बढ़ाया जा रहा है। किसानों के हित में सिंचाई की रकबा बढ़ाने के लिये पानी की व्यवस्था की जा रही है। आज सिहोर जिले के ग्राम डोबी में 106 करोड़ 35 लाख रूपये की लागत वाली माइक्रो उद्वहन सिंचाई परियोजना का भूमि-पूजन किया गया है। परियोजना को शीघ्र पूरा किया जायेगा। इससे 24 गाँव की 20 हजार एकड़ कृषि भूमि सिंचित होगी। परियोजना से 4 हजार किसान लाभान्वित होंगे, उनके खेतों तक पानी पहुँचाया जायेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज ग्राम डोबी में विभिन्न विकास कार्यों के लोकार्पण एवं शिलान्यास कर ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उद्वहन सिंचाई परियोजना से ग्रामीणों के खेतों में पानी पहुँचेगा, जिससे किसान को अच्छी फसल के साथ अच्छी आमदानी भी होगी। किसानों के हित में राज्य सरकार अनेक योजनाएँ भी संचालित कर रही है। किसानों की उन्नति और विकास के लिये हम संकल्पबद्ध हैं।

उद्वहन सिंचाई परियोजना के भूमि-पूजन पर मुख्यमंत्री श्री चौहान से अनेक ग्रामीणों ने परियोजना में अपने गाँव को शामिल करने की मांग रखी। मुख्यमंत्री ने किसानों की मांग को सहज स्वीकारतें हुए मंच से परियोजना में अन्य ग्रामों को जोड़ने की घोषणा की। उन्होंने बताया कि इसके लिये 50 करोड़ रूपये पृथक से स्वीकृत किये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के खेतों तक पानी पहुँचा कर फसलो की पैदावार बढ़ाने के लिए कोई कमी नहीं रखी जाएगी। डोबी माइक्रो उद्वहन सिंचाई परियोजना से अंतिम छोर के किसानों के खेतो तक पानी पहुँचेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री और हमारे ही क्षेत्र से सांसद रहे स्व. श्री अटल बिहारी वाजपेयी का आज जन्म-दिन है। अटल जी भारतीय राजनीति और सार्वजनिक जीवन में एक ऐसे महापुरुष थे, जिनका कोई आलोचक नहीं था। श्रद्धेय अटल जी का जीवन राष्ट्र-निर्माण और सेवा के लिए समर्पित था। वे सदैव कहा करते थे कि जो राष्ट्र और समाज के काम आये, वही जीवन सार्थक है। उनके जीवन का हर क्षण लोक-कल्याण के लिये समर्पित रहा। वे अपनी वाणी, विचार, कर्म, ज्ञान और कविताओं के माध्यम से आज भी हमारे बीच बने हुए हैं।

मुख्यमंत्री ने बच्चे शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़े और अपने गाँव, माता-पिता, देश एवं प्रदेश का नाम रोशन करें। इसके लिए हर गरीब परिवार के प्रतिभावान बच्चों को उनकी रूचि अनुसार किसी भी शिक्षण संस्थान में प्रवेश लेने से वंचित नहीं रखा जाएगा। उनके मेडिकल, आईआईटी तथा आईआईएम जैसे संस्थानों में एडमिशन होने पर उनकी पूरी फीस राज्य सरकार द्वारा भरी जाएगी। उन्होंने कहा कि बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रदेश में सीएम राइज स्कूल प्रारंभ किए गए है। इसमें सभी वर्ग के बच्चे एक साथ शिक्षा ले सकेंगे। सीएम राइज स्कूल बच्चों की छुपी प्रतिभाओं को निखारने और उनके भविष्य-निर्माण में बेहतर साबित होंगे। सीहोर जिले में भी 9 सीएम राइज स्कूलों की स्थापना की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों के लिए एक लाख सरकारी नौकरी की भर्तियाँ निकाली जा रही हैं। सभी बच्चे खूब मन लगा कर पढ़ाई करें और कठिन परिश्रम कर अव्वल आए। उन्होंने कहा कि बच्चों को विख्यात कोचिंग संस्थानों से अच्छी शिक्षा के अवसर उपलब्ध कराने के लिए बुधनी विधानसभा क्षेत्र के शाहगंज एवं नसरूल्लागंज में कोचिंग संस्थान खोले जा रहे है। इसमें सभी छात्र-छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की नि:शुल्क कोचिंग दी जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विगत कुछ वर्षों में देखा जाए तो स्व-सहायता समूहों से जुड़ कर महिलाएँ आत्म-निर्भर बन रही है। इससे समाज में भी सकारात्मक बदलाव देखने को मिल रहे है। आज हमारी बहनें आत्म-निर्भर बन कर हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है। स्व सहायता समूह को बैंक लिंकेज की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। मेरी हर बहन की आमदानी 10 हजार रूपए प्रति माह हो, इसके लिए मैं निरंतर प्रयास कर रहा हूँ। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अनेक योजनाओं में हितग्राहियों को हितलाभ वितरण किये। सांसद रमाकांत भार्गव ने भी संबोधित किया। पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह राजपूत,  वीर सिंह चौहान, सलकनपुर ट्रस्ट अध्यक्ष  महेश उपाध्याय, जन-प्रतिनिधि और विकास कार्यों से जुड़े अनेक ग्रामों के बड़ी संख्या में किसान एवं ग्रामीण मौजूद रहे।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post