स्टेट हैंडलूम एक्सपो 2022 में डिजाईन प्रतियोगिता के विजेताओं को मिले पुरस्कार

डिजाईन प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार के रूप में दिए ओडीओपी उत्पाद 
                                                                   भोपाल । कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग की ओर से माह सितम्बर में मध्यप्रदेश के हाथकरघा, खादी एवं रेशमी वस्त्रों के उपयोग को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से डिजाईन कम्पटीशन का आयोजन किया गया था| इस प्रतियोगिता की थीम “ फैब्रिक्स ऑफ़ एम.पी ” के अनुरूप डिजाईनरों द्वारा विभाग के कबीरा खादी, मृगनयनी एवं प्राकृत सिल्क ब्रांड्स के फैब्रिक का उपयोग कर प्रदेश की समृद्ध एवं विविध सांस्कृतिक विरासत को दर्शाते हुए तैयार डिजाईन प्रोटोटाइप विभाग को भेजे गए थे| जिनका विभाग द्वारा मनोनीत ज्यूरी के माध्यम से विभिन्न श्रेणियों में प्राप्त डिजाईन्स में श्रेष्ठ डिजाईनों का हुआ चयन। 
- मिसेज इंडिया इंटरनेशनल डॉ. रीनू यादव एवं मिसेज यूनिवर्स जॉय अमृता त्रिपाठी रही मुख्यातिथी
                आज भोपाल हाट परिसर,  में आयोजित स्टेट हैंडलूम एक्सपो 2022 में पुरस्कार वितरण किया गया। इस समारोह में भोपाल जिले से एथनिक वियर श्रेणी में श्री अमातुल्लाह बोहरा, अर्चना विश्वकर्मा एवं  सलमा अंसारी तथा रेडी टू वियर श्रेणी में  नंदिता नायर, फराह नदीम एवं मान्या यादव को क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुए। इसी प्रकार इंदौर जिले से एथनिक वियर श्रेणी में सुश्री राखी गुप्ता, सुश्री सीमा पारीक एवं सुश्री समीक्षा नायक तथा रेडी टू वियर श्रेणी में सुश्री दिव्या राठी, श्री सौरवकान्त श्रीवास्तव एवं सुश्री गुलिका अग्रवाल को क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुए | कार्यक्रम की मुख्य अतिथि मिसेज इंडिया इंटरनेशनल डॉ. रीनू यादव एवं मिसेज यूनिवर्स जॉय सुश्री अमृता त्रिपाठी द्वारा इन डिजाईनों का अवलोकन कर इनके विषय में जानकारी ली गई तथा विजेताओं को शुभकामानाएं भी दी|
- विजेताओं को ODOP उत्पाद एवं प्रशस्ति पत्र से किया गया सम्मानित
सभी विजेताओं को एक जिला एक उत्पाद योजना अंतर्गत विभाग हेतु चयनित सात जिलों के सात उत्पाद एवं प्रशस्ति पत्र उपहार स्वरुप दिए गए| इनमें भोपाल के जरी– जरदोजी, सीहोर के लकड़ी के खिलोने, धार का बाघ प्रिंट, दतिया का गुड़, अशोकनगर के चंदेरी वस्त्र, सीधी का पंजा दरी, उज्जैन का बाटिक प्रिंट से बने हुए उत्पाद शामिल है | इसके अतिरिक्त अन्य प्रतिभागियों को भी प्रमाण – पत्र प्रदान किये गए| 

- भोपाल एवं इंदौर में आयोजित हैंडलूम ऑन व्हील्स अभीयान को मिली सराहना

प्रदेश के हाथकरघा, खादी एवं रेशमी वस्त्रों के उत्पादन की पारंपरिक प्रक्रिया को सहेजने उनके पीछे छुपी हुई समृद्ध निर्माण कला का प्रदेश वासियों को परिचय देने के उद्देश्य से डिजाईन प्रतियोगिता के अतिरिक्त हैंडलूम ऑन व्हील्स कार्यक्रम का आयोजन किया गया था| भोपाल एवं इंदौर में आयोजित इस अभियान को प्रत्येक स्थान पर व्यापक समर्थन और सराहना प्राप्त हुई विशेषकर शिक्षण संस्थानों, स्कूलों, विश्वविद्यालयों जैसे एन.आई.डी, एन.आई.एफ.टी. आई.आई.एफ.एम| कुछ संस्थाओं द्वारा अपने – अपने स्तर पर इस अभियान के समर्थन में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित भी किये गए जैसे आई.ई.एस. कॉलेज द्वारा फैशन शो, एल.एन.सी.टी. कॉलेज द्वारा स्वावलंबी अभियान| कॉलेजों, स्कूलों, रेजिडेंशियल सोसाइटियों द्वारा वस्त्रों के अवलोकन के साथ – साथ इन वस्त्रों के निर्माण कला के प्रत्यक्ष प्रदर्शन करने तथा प्रतिवर्ष इस कार्यक्रम का आयोजन करने का भी सुझाव दिया गया|

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post