राधारमण में सहकारिता पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित

भोपाल । राधारमण ग्रुप में इंस्टिट्यूट ऑफ़ कोओपरेटिव मैनेजमेंट (भारत सरकार) द्वारा प्रायोजित कार्यक्रम युवाओं हेतु सहकारिता पर जागरूकता राधारमण इंजीनियरिंग कॉलेज एवं राधारमण इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस में आयोजित किया गया| विषय विशेषज्ञ डॉ. अंकित मुद्गल ने गांवो एवं शहरी क्षेत्रों में सहकारिता के योगदान पर विशेष आख्यान दिया| भारत सरकार द्वारा चालित सहकारी क्षेत्रों में अनेकों प्रभावशाली योजनाओं के बारे में भी छात्रों को विस्तार से बताया| सहकारिता एवं सहभागिता की दृष्टिकोण से सभी घटकों को एक साथ प्रभावशाली बनाने के उद्देश्य से निरन्तर एवं चिंतन मनन करके योजनाबद्ध रूप में अग्रसर होने के प्रयास करने पर ध्यान केंद्रित किया| 

भारत में सहकारिता का इतिहास सौ वर्षों से भी अधिक पुरातन है| अनुमानित है के देश में 6 लाख से अधिक सहकारी समितियां वर्तमान में सक्रिय हैं जिसके कारण करोड़ो लोगों को रोज़गार मिला हुआ है| सहकारिता के मूल भूत उद्देश्य में सभी सहकारिता सदस्यों को आर्थिक एवं सामाजिक रूप से शक्तिशाली बनाना है|  राजेंद्र सक्सेना जी ने छात्रों को प्रेरणा के साथ सहकारिता में निरन्तर आगे बढ़ने और विषम परिस्तिथियों में भी अग्रसर तथा बढ़ते रहने का ज्ञान दिया जिससे एक सफल सहयोगी बनकर देश हित में कार्य किया जाये| सीनियर डायरेक्टर डॉ. पी. के. लाहिरी ने सहकारिता एवं उद्ममिता के बंधन को छात्रों को गहराई से समझाया| चेयरमैन आर आर सक्सेना ने छात्रों को बौद्धिक विकास के साथ साथ रोज़गार प्रदान करने की असीम संभावनाओं को गहराई से समझकर समाज एवं देश हित में योगदान देने तथा निरंतर प्रयत्नशील रहने के लिए प्रेरणा एवं शुभकामनाएं दीं| 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post