उपार्जन के लिए स्लाट बुक कराने की प्रक्रिया प्रारंभ

भोपाल । जिला नियंत्रक आपूर्ति अधिकारी मीना मालाकार ने बताया कि किसानों की फसलों के उपार्जन के लिए स्लाट बुक कराने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। उन्होंने बताया कि धान उपार्जन की तिथि 28 नवंबर से 16 जनवरी तक, मोटा अनाज के उपार्जन की तिथि एक दिसंबर से 31 दिसंबर तक नियत की गई है। उन्होंने कहा कि सभी किसान नियत दिन में स्लाट बुक कराकर फसलों का उपार्जन करें। 

 श्रीमती मालाकार ने बताया कि किसानों द्वारा फसलों के विक्रय के लिए स्लाट बुक कराने के लिए पंचायत कार्यालय, उपार्जन केन्द्र स्थल, मोबाइल एप्लीकेशन, एमपी ऑनलाइन कियोस्क, लोक सेवा केन्द्र, इंटरनेट कैफे के माध्यम से स्लाट बुक कर सकते है। श्रीमती मालाकार ने बताया कि विक्रय योग्य कुल उपज की स्लाट बुकिंग एक ही बार में करना होगी। उन्होंने कहा कि स्लाट बुकिंग की वैधता 7 दिवस तक रहेगी। 

 श्रीमती मालाकार ने बताया कि जिन पंजीकृत किसानों के बैंक खाते में एक रूपए का ट्राजेक्शन सफलतापूर्वक होकर बैंक खाता सत्यापित हो गया है केवल उन्हीं किसानों को फसल विक्रय हेतु स्लाट बुकिंग करने की पात्रता होगी। श्रीमती मालाकार ने बताया कि स्लाट बुकिंग के समय बैंक खाता प्रदर्शित होगा जिसमें फसल विक्रय के बाद ऑनलाइन भुगतान भेजा जाएगा। उन्होंने किसानों से अपील की है कि बैंक खाते की बारीकी से जाँच कर ले और सही होने पर ही स्लाट बुक करें। श्रीमती मालाकार ने बताया कि जिन पंजीकृत किसानों के बैंक खाते सत्यापित नहीं हुए हैं उन्हें एसएमएस से सूचना दी गई है। ऐसे किसानों से आग्रह है कि बैंक में जाकर तत्काल आधार से बैंक खाते को लिंक कराया जाए। 

 श्रीमती मालाकार ने बताया कि उपज विक्रय के समय यह ध्यान रखा जाए कि पंजीयन रशीद स्लाट बुकिंग पावती, आधार कार्ड और मोबाइल अपने साथ रखे और उन्होंने कहा कि असुविधा से बचने के लिए फसल की सफाई करके हेतु विक्रय करने के लिए लाया जाए। उपार्जन केन्द्र प्रभारी और किसान के बायोमेट्रिक सत्यापन से ही खरीदी की पावती जारी की जाएगी। उन्होंने किसानों से बताया कि अपनी खरीदी पावती प्रभारी से प्राप्त कर सुरक्षित रखे। उन्होंने बताया कि उपार्जन केन्द्र पर फसल विक्रय की सुविधा नि:शुल्क है। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post