जानें, क्या है मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना, जनता को कैसे मिलेगा लाभ


नई दिल्ली । भारत सरकार के लिए देश में प्रत्येक नागरिक के स्वास्थ्य की चिंता सर्वोपरि है। इसी दिशा में न केवल केंद्र स्तर पर बल्कि राज्य स्तर पर भी जन स्वास्थ्य को लेकर सरकारें लगातार कार्य कर रही हैं। इसका ताजा उदाहरण हरियाणा में शुरू होने वाली ‘मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना’ है। उल्लेखनीय है कि इस क्रम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू आज 29 नवंबर 2022 को कुरुक्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय गीता सेमिनार में शामिल होकर वर्चुअल रूप से ‘मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना’ का शुभारंभ करने जा रही हैं।

इससे क्या होगा लाभ ?

गौरतलब हो, स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग की तरफ से 2 साल में घर-घर जाकर राज्य के लोगों के स्वास्थ्य की जांच की जाएगी और उनकी उम्र के हिसाब से कुछ टेस्ट भी किए जाएंगे। इस योजना का संचालन राज्य के सभी हिस्सों में किया जाएगा ताकि पात्र लाभार्थी इस योजना के तहत लाभ प्राप्त कर सकें। राज्य के नागरिकों को इस योजना के माध्यम से अस्पतालों के चक्कर काटने से छुटकारा मिल जाएगा। सबसे खास बात यह है कि इस योजना के तहत स्वास्थ्य की जांच और विभिन्न प्रकार के टेस्ट सरकार द्वारा नि:शुल्क रूप से किए जाएंगे। स्वास्थ्य की जांच होने से लोगों को कौन सी बीमारी है, इस बात का पता चल सकेगा और समय पर उपचार किया जा सकेगा। आज से यह योजना को हरियाणा के हर जिले में स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना के रूप में संचालित की जाएगी।

’अंत्योदय योजना’ के तहत आने वाले परिवारों की होगी जांच

‘मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना’ के अंतर्गत ‘अंत्योदय योजना’ के तहत आने वाले परिवारों की जांच की जाएगी। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना के जरिए राज्य के सभी जिलों के नागरिकों को काफी लाभ पहुंचेगा। इसका मुख्य उद्देश्य लोगों तक नि:शुल्क टेस्ट और जांच की सुविधा मुहैया कराना है।

इस योजना के तहत राज्य के अंत्योदय परिवारों के 1 करोड़ 60 लाख से अधिक नागरिकों को सरकार द्वारा स्वास्थ्य सर्वे किया जाएगा। राज्य में चलाई जा रही उपचार योजना के तहत दी जा रही सेवा का सरकार के पास 1.8 करोड़ नागरिकों का स्वास्थ्य सेवाओं का डाटा उपलब्ध है। स्वास्थ्य डाटा एकत्र करने के लिए ऐसे सभी नागरिकों के लिए उपचार का यूनिवर्सल पोर्टल बनाया जाएगा।

किस वर्ग के लिए होगी यह योजना ?

बता दें, इसमें कई वर्ग और आयु के लोग शामिल होंगे, जिनकी मुफ्त जांच होगी। स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना के तहत अंत्योदय योजना के तहत आने वाले परिवारों की जांच की जाएगी। योजना के तहत जिन परिवारों की वार्षिक आय 1.80 लाख रुपए से कम है उन्हें मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना का लाभ प्राप्त होगा। स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना को नागरिकों तक पहुंचाने के लिए उम्र के हिसाब से छह श्रेणियों में विभाजित किया गया है।

पहली श्रेणी में जन्म से छह माह तक, दूसरी श्रेणी में 6 से 59 माह तक, तीसरी श्रेणी में 5 से 18 साल तक, चौथी श्रेणी में 18 से 40 साल तक, पांचवीं श्रेणी में 40 से 60 साल तक और छठी श्रेणी में 60 साल से ऊपर की आयु वर्ग को शामिल किया गया है। इस प्रकार यह योजना पूरे राज्य में कार्य करेगी।

ग्राम स्तर होंगे कॉल सेंटर

इस योजना के अंतर्गत ग्राम स्तर पर कॉल सेंटर स्थापित किए जाएंगे। आमजन की सुविधा को ध्यान में रखते हुए ग्राम स्तर पर नागरिकों के लिए कॉल सेंटर मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सर्वेक्षण योजना से जुड़ी किसी भी प्रकार की समस्या का समाधान आसानी से करेंगे। उल्लेखनीय है कि आज से इस योजना के शुभारंभ के पश्चात् राज्य में लोगों को इसका लाभ मिलना शुरू होगा।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post