प्रकृति संरक्षण की क्रांति के उत्सव में रंगा वाल्मी

गिल्ली- डंडा खेलकर पुराने दिनों को किया याद
भोपाल । वर्ष 2021 की मकर सक्रांति लोहड़ी, पोंगल,ओणम इत्यादि भारतीय रंगों से भरे पर्व को प्रकृति एवं पर्यावरण के साथ यादगार बनाने के लिए मध्य प्रदेश जल एवं भूमि प्रबंध संस्थान (वाल्मी) द्वारा संस्थान में 'आओ करें प्रकृति संरक्षण की क्रांति 21' का आयोजन किया गया, जिसमें पतंगबाजी, गिल्ली डंडा एवं सितोलिया, स्लोगन प्रतियोगिता हुई। पतंगों के माध्यम से जल एवं पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया। गिल्ली डंडा, सितोलिया सहित खेलों के माध्यम से पुराने भारतीय ग्रामीण पृष्ठभूमि के खेलो को खेलकर यादों को ताजा किया।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों का लिया आनंद

मकर संक्रांति पर्व को ध्यान में रखते हुए संस्थान में खेल प्रतियोगिताओं के साथ साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन नवनिर्मित कलाकाश मंच पर किया गया, जिसमें कत्थक,भरत- नाट्यम,तराना, ठुमरी,तिरु वादिरा, गिद्दा के साथ- साथ देशभक्ति गीतों पर प्रस्तुति हुई।

*अपर मुख्य सचिव मनोज श्रीवास्तव ने किया शुभारंभ*

इस अवसर पर पतंगबाजी प्रतियोगिता का शुभारंभ अपर मुख्य सचिव मनोज श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर स्व निर्मित वस्तुओं के स्टॉल भी लगाए गए। प्रतिभागियों ने वाल्मी की प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर परिसर का भी भ्रमण किया।अंत में सभी विजेताओं को पुरस्कृत किया गया।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post