सक्षम – ‘ऑयल और गैस संरक्षण जागरूकता अभियान’ का मध्य प्रदेश कार्यालय में शुभारम्भ

 भोपाल। हरित एवं स्वच्छ ऊर्जा के महत्व को बढ़ावा देने के लिए 18 जनवरी, 2021 को इंडियनऑयल भवन, मध्य प्रदेश राज्य कार्यालय, भोपाल में श्री फैज़ अहमद किदवई, प्रमुख सचिव, खाद्य नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण विभाग, मध्य प्रदेश सरकार के कर-कमलों द्वारा श्री पद्म पांडे, प्रतिनिधित्व, राज्य-स्तरीय समन्वयक (एसएलसी), मध्य प्रदेश की गरिमामयी उपस्थिति में ‘सक्षम (संरक्षण क्षमता महोत्सव)-2021’ का शुभारम्भ किया गया।     
‘सक्षम’ एक महत्वपूर्ण वार्षिक कार्यक्रम है, जिसे पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ (पीसीआरए) और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय, भारत सरकार के तत्वावधान में ऑयल उद्योग द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया जाता है। इस अभियान को संचालित करने का उद्देश्य ऑयल और गैस संरक्षण के महत्त्व को आम जनता तक पहुंचाना है और उन्हें जागरूक बनाना है। ईंधन संरक्षण का संदेश जन-जन तक पहुंचाने के लिए परिवहन, औद्योगिक, कृषि और घरेलू जैसे क्षेत्रों में कई तरह की गतिविधियों का संचालन शामिल है।

ऑयल संरक्षण के महत्व को समझना

ऑयल संरक्षण के महत्व को बढ़ावा देने के लिए इस वर्ष पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने ‘हरित एवं स्वच्छ ऊर्जा’ थीम के साथ 16 जनवरी, 2021 से 15 फरवरी, 2021 तक देशभर में एक महीने के लिए इस अभियान को संचालित करने का निर्णय लिया है।
अपने मुख्य भाषण में, श्री किदवई ने कहा कि “कोविड-19 ने हमें सिखाया कि प्रकृति का संरक्षण करना कितना अनिवार्य है। पृथ्वी को ग्लोबल वार्मिंग और बढ़ते पर्यावरण प्रदूषण के दुष्प्रभावों से बचाने के लिए हमें अपनी जीवन शैली बदलनी होगी।” इस दौरान उन्होंने उर्जा संरक्षण के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न पहलों पर प्रकाश डाला, जिसमें अल्ट्रा क्लीन बीएस-VI ईंधन, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के माध्यम से एलपीजी के प्रयोग में 96% की वृद्धि, सिटी गैस वितरण नेटवर्क के विकास के जरिए ऊर्जा मिश्रण में गैस की बढ़ती हिस्सेदारी, 15 एमएमटीपीए गैस उत्पादन के लिए 5,000 संपीडित बायोगैस (सीबीजी) संयंत्र स्थापित करने की योजना, सीएनजी के साथ हाइड्रोजन जैसे उभरते ईंधन का शोध, ई-मोबिलिटी विकल्पों का संवर्धन, इत्यादि जैसी उपलब्धियां शामिल थीं। अंत में उन्होंने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि “प्रकृति-आधारित समाधान ही सबसे बेहतरीन उपाय है।” उन्होंने आग्रह करते हुए कहा कि “देश की अर्थव्यवस्था को गति देने, स्वस्थ और हरित वातावरण का निर्माण करने, आयात बिल घटाने और पारिस्थितिकी तंत्र (इकोसिस्टम) का संतुलन बनाए रखने के लिए हम सभी को ऊर्जा का उपयोग सही तरीके से करना चाहिए।”
श्री पद्म पांडे ने अपने उद्घाटन भाषण में उर्जा के विभिन्न विकल्पों और पर्यावरण प्रदूषण कम करने के लिए ऑयल विपणन कंपनियों और विशेष रूप से इंडियनऑयल द्वारा उठाए गए महत्वपूर्ण कदमों के बारे में विस्तार से बताया। इस दौरान उन्होंने आरयूसीओ (रिपरपज यूज्ड कुकिंग ऑयल) से बायो-डीजल का उत्पादन, पानीपत में बायो-इथेनॉल उत्पादन संयंत्र की स्थापना, लागत-प्रभावी एल्यूमीनियम-आधारित बैटरी विकसित करने के लिए जारी प्रयास, इंडियनऑयल आउटलेट्स पर बैटरी-स्वैपिंग सेवाओं की शुरुआत और ऊर्जा दक्षता में सुधार लाने के लिए विभिन्न डिजिटल पहलों सहित इंडियनऑयल की अन्य उपलब्धियों से रूबरू कराया ।  

‘सक्षम’ महोत्सव का आयोजन एक महीने तक जारी रहेगा। इस दौरान, ईंधन संरक्षण का संदेश आम जनता तक पहुंचाने के लिए सभी ऑयल कंपनियों द्वारा पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ (पीसीआरए) के सहयोग से कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिसमें ईंधन बचाने के लिए चालकों को बेहतर ड्राइविंग की आदत अपनाने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम, एलपीजी बचाने के लिए भोजन पकाने की बेहतर आदतों पर गृहिणियों के लिए कार्यशालाएं और एलपीजी पंचायत के जरिए ग्रामीण क्षेत्रों में एलपीजी के सुरक्षित और सही उपयोग को बढ़ावा देना शामिल हैं। ईंधन संरक्षण के महत्व को ज़्यादा-से-ज़्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए राज्यभर के स्कूलों और कॉलेजों में प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता और चित्रकला प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाएगा। साथ ही, कृषि और औद्योगिक क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर जागरूकता कार्यक्रम संचालित किए जाएंगे।

साइकिल के उपयोग के जरिए ईंधन बचाने और सेहत में सुधार लाने के लिए 31 जनवरी, 2021 को मध्य प्रदेश के 12 शहरों में साइकिल रैली का आयोजन किया जाएगा। इस प्रयास का मक़सद साइकिल के उपयोग को बढ़ावा देना और ईंधन की बचत सुनिश्चित करना है।  

बीपीसीएल, गेल, एचपीसीएल और पीसीआरए जैसी ऑयल कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी इस शुभारम्भ समारोह में हिस्सा लिया। शुभारम्भ समारोह के दौरान, मुख्य अतिथि ने सभी प्रतिभागियों को ‘सक्षम’ प्रतिज्ञा दिलाई। इस अवसर पर, ‘स्वच्छ एवं हरित ऊर्जा’ थीम पर एक नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया और ऑयल उद्योग द्वारा सीबीजी - सक्षम-संबंधी पहल पर एक वीडियो प्रदर्शित किया गया।  

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post