सोनालीका ने 9 महीने में 1 लाख से ज़्यादा ट्रैक्टर बेचे

12% की उद्योग वृद्धि को पीछे छोड़कर 33% वृद्धि दर्ज की

नई दिल्ली । वैश्विक महामारी जेसे खड़ीन दौर के बावजूद, सोनालीका ने 2020 की सिर्फ तीन तिमाहियों में वो हासिल किया जो पिछले तीन वर्षों में सालाना हासिल किया जा रहा था। FY'21 के केवल 9 महीनों में अपनी पूरी FY'20 की बिक्री को भी कंपनी ने पीछे छोड़ दिया है। पूरे वर्ष के दौरान, सोनालीका ने वैश्विक बाजार के लिए उन्नत तकनीक से लैस ट्रैक्टरों को पेश करने की अपनी धारणा पर काम किया और 33% की वृद्धि दर्ज की, जो कि 12% की उद्योग वृद्धि का 3 गुना है।

 वर्ष 2020 के अपने शानदार प्रदर्शन को जारी रखते हुए, सोनालीका ट्रैक्टर्स ने एक अद्वितीय उपलब्धि के साथ 2021 की शुरुआत की है। देश में सबसे तेजी से बढ़ता ट्रैक्टर ब्रांड और भारत से नंबर 1 निर्यात ब्रांड, सोनालीका ने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन दर्ज करते हुए अप्रैल-दिसंबर'20 की अवधि के 9 महीनों में 1 लाख ट्रैक्टर बिक्री की है। वर्ष के दौरान सोनालीका ने 33% की वृद्धि हासिल की जो कि 12% की उद्योग वृद्धि का लगभग 3 गुना है और FY'21 के केवल 9 महीनों में अपनी संपूर्ण FY'20 की बिक्री को पार कर लिया है। कंपनी ने दिसंबर की अपनी अब तक की अधिक 11,540 ट्रैक्टर बिक्री की और 16.1% की उच्चतम बाजार हिस्सेदारी दर्ज की है।
सोनालीका ट्रैक्टर पिछले तीन वर्षों में सालाना एक लाख से अधिक ट्रैक्टर बेच रहा है और 9 महीने में इसी तरह की बिक्री की मात्रा दर्ज करना कंपनी के अद्वितीय प्रदर्शन को दर्शाता है। महामारी के बावजूद, सोनालीका ने 2020 में टाइगर, सिकंदर डीएलएक्स, महाबली और छत्रपति जैसे प्रीमियम ट्रैक्टर पेश किए जिनमे हाल ही में टाइगर इलेक्ट्रिक भी शामिल हुआ है | भारत का पहला फील्ड रेडी इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर, टाइगर इलेक्ट्रिक भारत में सबसे सस्ती चौपाइयां EV है। ये 5 प्रीमियम ट्रैक्टर पूरी तरह से उन्नत तकनीक से सुसज्जित हैं जो की भारतीय किसानो की विभिन फसलों और मिटी की विशिष्ट आवश्यकताओं के अनुसार बनाये गए हैं।
इस उल्लेखनीय उपलब्धि पर अपना दृष्टिकोण साझा करते हुए, सोनालीका ग्रुप के कार्यकारी निर्देशक, श्री रमन मित्तल ने कहा, “यह एक महत्वपूर्ण अवसर है क्यूंकि हमने पिछले तीन वर्षों में सालाना जो हासिल किया था, उसे पूरा करने के लिए इस बार सिर्फ तीन तिमाहि का समय लगा । 2020 में सिर्फ 9 महीनों में 1 लाख ट्रैक्टर बेच कर एक तरफ हमने FY20 की पुरे वर्ष की बिक्री को पीछे छोड़ा, वही 12% की उद्योग वृद्धि का लगभग 3 गुना वृद्धि दर्ज की | महामारी या कोई अन्य कठिनाई हमें वैश्विक स्तर पर किसानों की ज़रूरत अनुसार उच्च गुणवत्ता वाले ट्रैक्टरों को विकसित करने के हमारे जुनून को नहीं रोक पाई । हमने अपने स्तर को हर छह महीने में एक लाख ट्रैक्टर की बिक्री को छूने के मिशन के साथ उच्च स्तर पर सेट किया है और इस साल इतनी मुश्किल भरे हालातों में भी 50% हासिल किया है। सोनालीका ने पहले ही सालाना 2 लाख बिक्री को छूने के लिए तयारी शुरू कर दी है और ट्रैक्टर उद्योग में अत्याधुनिक तकनीकों को आगे बढ़ाते हुए अपने 'लीड एग्री इवोल्यूशन' के सपने को पूरा करने के और भी करीब आ रही है|”
उन्होंने कहा, “2020 में सोनालीका ट्रैक्टर्स का उल्लेखनीय प्रदर्शन ब्रांड के किसान केंद्रित दृष्टिकोण और एक उत्पाद आक्रामक रणनीति का परिणाम है जिसका पिछले वर्षो के दौरान भी पालन किया गया था। हमारी नवीनतम लॉन्च टाइगर इलेक्ट्रिक शायद सबसे किफायती चौपाइयां EV है और यह हाई-टेक जर्मन मोटर, उन्नत बैटरी और साथ ही ट्रैक्टर उद्योग में नए बेंचमार्क बनाने के लिए सिद्ध सोनालीका ट्रांसमिशन से लैस है। कृषि मशीनीकरण को दुनिया भर में आगे ले जाते हुए हमने इस वर्ष महीने दर महीने उच्तम वृद्धि दर्ज की |”
सोनालीका ट्रैक्टर्स का उद्देश्य नवीनीकरण में सबसे आगे रहना है और कृषि समृद्धि प्रदान करने वाले सर्वोत्तम उत्पादों की पेशकश करते हुए लगातार ट्रैक्टर उद्योग में नए बेंचमार्क बनाना  है। सोनालीका की टीम किसानों के साथ जुडी रह कर उनकी ज़रूरतों को समझती है और यह कंपनी को कम समय में बाजार में क्रांतिकारी, अनुकूलित उत्पाद पेश करने में मदद करती हैं। सोनालीका ने FY 21 में सबसे अधिक H1 बिक्री की और इसके साथ अक्टूबर'20 में उच्चतम मासिक ट्रैक्टर उत्पादन (15,218) के साथ उच्चतम ट्रैक्टर डिलीवरी (19,000) और उपकरणों में उच्चतम डिलीवरी (10,018) दर्ज की । कंपनी ने निर्यात में अपनी प्रमुख स्थिति 26.6% बाजार हिस्सेदारी के साथ मजबूत किया और 2020 में 2.1% उच्चतम बाजार हिस्सेदारी वृद्धि दर्ज की।
9 महीनों में 1 लाख की शानदार बिक्री का कारण कंपनी की तकनीक-सक्षम सप्लाई चैन, मजबूत डीलर नेटवर्क (1,100+) और डिपो (24) भी हैं जो कि वास्तविक समय के आधार पर ट्रैक्टर डिलीवरी से जुड़े हुए हैं। सोनालीका के पूरे ट्रैक्टर पोर्टफोलियो को होशियारपुर में उनके वर्ल्ड नंबर 1 वर्टिकली इंटीग्रेटेड प्लांट में बनाया जाता है, जो गुणवत्ता वाले उत्पादों के निर्माण के लिए ऑटोमेशन और रोबोटिक्स द्वारा संचालित है। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post