आदित्य बिड़ला सन लाइफ इंश्योरेंस ने पेश की एबीएसएलआई अश्योर्ड इनकम प्लस

लंबे समय के लिए आय की गारंटी’ देने वाली योजना
मुंबई । आदित्य बिड़ला कैपिटल लिमिटेड (एबीसीएल) की जीवन बीमा क्षेत्र की सहयोगी कंपनी आदित्य बिड़ला सन लाइफ इंश्योरेंस (एबीएसएलआई) ने आज अपनी नई योजना एबीएसएलआई अश्योर्ड इनकम प्लस शुरू करने की घोषणा की। एबीएसएलआई एश्योर्ड इनकम प्लस किसी भी व्यक्ति और उसके परिवार की 30 वर्ष तक की धन संबंधी जरूरतें पूरी करने के लिए मासिक आय की गारंटी देती है और उन्हें वित्तीय सुरक्षा भी मुहैया कराती है।
इस नॉन-लिंक्ड, नॉन-पार्टिसिपेटिंग व्यक्तिगत बचत योजना में कई विकल्प मिलते हैं, जिनसे व्यक्ति इस उत्पाद को अपनी जरूरत के मुताबिक ढाल सकता है। इसमें आय लाभ के दो विकल्प हैं और 6, 8 तथा 12 वर्ष की प्रीमियम भुगतान अवधि के तीन विकल्प भी मिलते हैं। इनकम ऑनली बेनिफिट विकल्प (उद्योग में पहली बार) ग्राहकों को उनकी आय संबंधी जरूरतें पूरी करने का मौका देता है और इनकम बेनिफिट विद रिटर्न ऑफ प्रीमियम विकल्प में रिकरिंग यानी बार-बार आय के साथ ही अपने प्रियजनों के लिए विरासत में संपत्ति छोड़ने में मदद भी मिलती है। व्यक्ति अपने वित्तीय लक्ष्यों के मुताबिक 20, 25 या 30 वर्ष तक हर वर्ष, हर छमाही, तिमाही या महीने लाभ प्राप्त करने का विकल्प चुन सकता है। इसमें असमय धन की जरूरत पड़ने पर भविष्य में होने वाली समूची आय और रिटर्न ऑफ प्रीमियम को पहले ही इकट्ठा प्राप्त करने की सुविधा भी है। साथ ही इस योजना में बेहद कम खर्च पर विभिन्न राइडर के साथ जोखिम से अधिक सुरक्षा भी मिलती है।
इस मौके पर आदित्य बिड़ला सन लाइफ इंश्योरेंस के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्य अधिकारी कमलेश राव ने कहा, “एबीएसएलआई अश्योर्ड इनकम प्लस एक मजबूत बीमा योजना है, जिसका उद्देश्य ग्राहक की अल्प और दीर्घ अवधि की वित्तीय जरूरतें पूरी करने के लिए गारंटीशुदा नियमित आय प्रदान करना है। इसे खास तौर पर उन ग्राहकों के लिए बनाया गया है, जो गारंटीशुदा दीर्घावधि आय का अतिरिक्त या वैकल्पिक स्रोत तलाश रहे हैं। इसके अलावा पॉलिसी में पूरी अवधि के दौरान समग्र जीवन बीमा भी मिलता है। इस उत्पाद का लक्ष्य बार-बार मिलने वाली गारंटीशुदा आय के जरिये बिना समझौता किए अपनी जीवनशैली बेहतर करने और अपनी वित्तीय आकांक्षाएं पूरी करने में लोगों की मदद करना है।”
यदि जीवन बीमा कराने वाले व्यक्ति की दुर्भाग्य से पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु हो जाती है तो एबीएसएलआई अश्योर्ड इनकम प्लस में उसके नॉमिली को अश्योर्ड राशि एकमुश्त मिल जाती है। इतना ही नहीं नॉमिनी चाहे तो बीमाधारक की मृत्यु होने पर मिलने वाली रकम एकमुश्त लेने के बजाय 10 वर्ष तक वार्षिक या मासिक किस्तों में भी पा सकता है।
योजना पर एक नजर: 
पॉलिसी खरीदते समय उम्र
न्यूनतम:
7 वर्ष की पॉलिसी के लिए 11 वर्ष
9 वर्ष की पॉलिसी के लिए 9 वर्ष
13 वर्ष की पॉलिसी के लिए 5 वर्ष
अधिकतम: 60 वर्ष

प्रीमियम भुगतान की अवधि
6 वर्ष | 8 वर्ष | 12 वर्ष

प्रीमियम भुगतान अवधि , पॉलिसी अवधि और लाभ भुगतान की अवधि
प्रीमियम भुगतान अवधि (PPT)
पॉलिसी (PT): PPT + 1 वर्ष
लाभ भुगतान की अवधि*

6 वर्ष
7 वर्ष
20, 25, 30 वर्ष

8 वर्ष
9 वर्ष
20, 25, 30 वर्ष

12 वर्ष
13 वर्ष
20, 25 वर्ष

*लाभ भुगतान की अवधि यानी बेनिफिट पेआउट पीरियड पॉलिसी की अवधि खत्म होने के बाद शुरू होगी, जिसमें पॉलिसीधारक को सर्वाइवल बेनिफिट दिया जाएगा। यह पॉलिसी आरंभ करते समय चुन लिया जाता है और बाद में बदला नहीं जा सकता।

न्यूनतम प्रीमियम
50,000 रुपये

न्यूनतम अश्योर्ड धनराशि
5,50,000 रुपये

लाभ भुगतान की आवृत्ति
वार्षिक | छमाही | तिमाही | मासिक









0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post