हिंदी विश्वविद्यालय में अकादमिक भवन का लोकार्पण, मातृभाषा ही हमारी पहचान है: प्रज्ञा सिं

 दुनिया में हिंदी विश्वविद्यालय को सबसे अच्छा बनाएंगे: श्री रामेश्वर शर्मा


विश्वविद्यालय को कोई आर्थिक कमी नहीं आने देंगे: डॉ. मोहन यादव


भोपाल। अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय में अपनी नवीन परिसर ग्राम मुगालिया कोट, सूखी सेवनिया, विदिशा रोड में आज 2 दिसंबर 2020 को अकादमिक भवन का लोकार्पण प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा, डॉ. मोहन यादव उच्च शिक्षा मंत्री मप्र शासन, सांसद साध्वी प्रज्ञासिंह ठाकुर की गरिमामयी उपस्थिति में किया गया। 

 विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रामदेव भारद्वाज ने अतिथियों का स्वागत पुष्पगुच्छ, शॉल एवं श्रीफल भेंट देकर किया। मा. कुलपति प्रो. रामदेव भारद्वाज ने बताया कि विश्वविद्यालय की स्थापना वर्ष 2011 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा विधेयक पारित कर की गई थी। इस विश्वविद्यालय में 60 विद्यार्थियों से प्रारंभ हुई यह यात्रा आज 1100 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। यह विश्वविद्यालय मातृभाषा ‘हिंदी’ को वैश्विक स्तर पर आज गौरव दिलाने की दिशा में कार्य कर रहा है। 

 मुख्य अतिथि साध्वी प्रज्ञासिंह ठाकुर ने कहा कि हिंदी भाषा अत्यंत रसीली, सरल एवं आत्मीयतापूर्ण दिल को छूने वाली भाषा है। हमें अपनी भाषा पर गर्व होना चाहिए। सारे हिंदुस्तान में हिंदी भाषा की पहचान हो जिससे देश भक्ति की भावना बढ़े। हिंदी सदैव नए रूप में रहती है, जो वर्तमान परिवेश में ज्ञान-विज्ञान के तकनीकी क्षेत्र में आगमन कर चुकी है। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में सांसद ने अपने उद्बोधन में कहा कि इतिहास वर्तमान और भविष्य निर्माण के लिए हिंदी एकमात्र विकल्प है। वैश्विक स्तर पर हमारी पहचान राष्ट्र, शास्त्र और भाषा से ही है।

 मान. डॉ. मोहन यादव उच्चशिक्षा मंत्री मप्र ने अपने उद्बोधन में कहा कि सम्पूर्ण देश राष्ट्रभाषा हिंदी के रूप में जाना जाता है। यह हिंदी का पौधा बरगद के रूप में हिंदी विश्वविद्यालय के रूप में बढ़ेगा। आगे कहा कि राज्य में हिंदी विश्वविद्यालय को नंबर एक बनाना है। विश्वविद्यालय को केंद्रीय हिंदी विश्वविद्यालय बनाने के लिए हो रहे अथक प्रयासों की सराहना की। ज्ञान-विज्ञान के समुचित विकास के लिए लगने वाले संसाधनों हेतु आर्थिक सहायता देने का आश्वासन भी दिया। 

 प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि इस हिंदी विश्वविद्यालय के लिए 250 करोड़ की प्रथम किस्त दी जा चुकी है। विश्वविद्यालय परिसर 50 एकड़ भूमि पर बनाया जा रहा है। साथ ही सूखी सेवनिया से विश्वविद्यालय परिसर तक डबल लेन रोड बनाने, विधायक निधि से 1 बस एव दो बसें कोलार से हिंदी विश्वविद्यालय तक चलाने के लिए विश्वविद्यालय को आश्वा घोषणा भी की। 

 प्रभारी कुलसचिव प्रो. रेखा रॉय ने विश्वविद्यालय की ओर से सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के शिक्षक, कर्मचारी और क्षेत्र के गणमान्य नागरिक उपस्थितसन दिया। भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की विशाल प्रतिमा आगामी जयंती तक स्थापित कराने की रहे। सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने आज अवधपुरी खजूरी कला क्षेत्र का दौरा किया। इस दौरान वहां के निवासियों ने अतिक्रमण और होशंगाबाद रोड से रायसेन रोड को जोड़ने वाले मार्को जल्दी स्वीकृत करवाने की मांग की। सांसद ने क्षेत्रवासियों को बिजली-सड़क-पानी और अतिक्रमण से जुड़ी समस्याओं के निराकरण के लिए जनसुनवाई का आश्वासन देते हुए इस संबंध में संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post