कोविड के बावजूद एशियन ग्रेनिटो इंडिया लिमिटेड की वित्तीय वर्ष 21 में निर्यात कारोबार से तेजी से विकास पर निगाहें

कंपनी 100 देशों से 120 से अधिक देशों में निर्यात नेटवर्क का कर रही विस्तार
मुख्य विशेषताएं: -

अंतर्राष्ट्रीय परिचालन को मजबूत करने के लिए मोरबी में 15,000 वर्ग फुट के 'एजीएल एक्सपोर्ट हाउस' का उदघाटन किया
चीन विरोधी भावनाएं, गैस की कीमत में कमी, निर्यात कारोबार को चलाने के लिए मजबूत निर्यात आदेश
निर्यात व्यवसाय वित्तीय वर्ष 21 की पहली छमाही में कुल राजस्व का लगभग 17.6% है जो वित्तीय वर्ष 20 की पहली छमाही में 13.8% था
कंपनी ने अपने खुदरा स्पर्श बिंदुओं को 10,000 से अधिक, विशेष शोरूमों को 500 से अधिक करने के लिए निर्धारित किया है


मुंबई: एशियन ग्रेनिटो इंडिया लिमिटेड (एजीआईएल), जो भारत के प्रमुख टाइल्स ब्रांड में से एक है, मौजूदा वित्त वर्ष में निर्यात कारोबार से तेजी से विकास पर निगाहें रखे हुए है। चीन विरोधी भावनाएं, गैस की कीमतों में कमी और अमरीका, यूरोप, ब्रिटेन और मध्य पूर्व के मजबूत निर्यात ऑर्डर से चालू वित्त वर्ष में निर्यात कारोबार बढ़ रहा है और आने वाले महीनों में इसे और गति मिलने की उम्मीद है। कंपनी वर्तमान में 100 से अधिक 120 देशों में अपने व्यापार नेटवर्क का विस्तार कर रही है।
 
एशियाई ग्रेनिटो भारत के संगठित कंपनियों में सबसे बड़ा निर्यातक है। वित्तीय वर्ष 21 की पहली छमाही में कंपनी का निर्यात कुल राजस्व का 17.6 फ़ीसदी रहा जो वित्तीय वर्ष 20 की पहली छमाही में 13.8 फीसदी था।

सितंबर 2020 में समाप्त हुए छह महीनों के लिए कंपनी ने 83.2 करोड़ रुपये का निर्यात दर्ज किया। भारत का वैश्विक सिरेमिक टाइल्स उत्पादन में दूसरा स्थान है जो विश्व का 12.90% उत्पादन करता है। घरेलू बाजारों में गैस की कीमतों में हालिया कमी ने विश्व बाजारों में भारतीय टाइल्स उत्पादों को और अधिक प्रतिस्पर्धी बना दिया है। हालिया विकास के साथ वैश्विक व्यापार में भारत के हिस्से में काफी सुधार होने की संभावना है।

एशियन ग्रेनिटो इंडिया लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक श्री कमलेश पटेल ने कहा, "कोविड ​​की चुनौतियों के बावजूद अंतर्राष्ट्रीय बाजारों से मांग काफी अच्छी बात है और भारतीय सिरेमिक उद्योग को इससे और ज्यादा प्रोत्साहन मिलेगा। पिछले तीन महीनों के दौरान निर्यात में वृद्वि देखी गई है। संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन के बीच चल रहे विवाद के कारण यह लगातार बढ़ रहा है। अमेरिका, यूरोप, ब्रिटेन और मध्य पूर्व के बाजारों से निर्यात आदेश के कारण इस इंडस्ट्री के सभी बड़े खिलाड़ी वर्तमान में 80-85% की क्षमता पर काम कर रहे हैं।" 

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को मजबूत करने और निर्यात को बढ़ावा देने के लिए कंपनी ने मोरबी में 15,000 वर्ग फुट का 'एजीएल एक्सपोर्ट हाउस' शुरू किया है। मोरबी सिरेमिक टाइल्स और सैनिटरी वेयर के लिए भारत का हब है। एक्सपोर्ट हाउस दुनिया भर में व्यापार भागीदारों के लिए एक ही स्थान पर सभी आकारों, डिजाइनों और फिनिशरों में 3000 प्लस उत्पादों सहित टाइलों, सेनिटरीवेयर और बाथवेयर रेंज की पूरी श्रृंखला पेश करता है। इसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय बाजारों में अपनी उपस्थिति को मजबूत करना है। मोरबी में देश की 70% से अधिक टाइल्स का उत्पादन होता है जहाँ पर 1000 से अधिक विनिर्माण इकाइयाँ हैं। दुनिया भर में व्यापार भागीदार और व्यवसाय समुदाय नियमित रूप से व्यापार और व्यापार के लिए मोरबी जाते हैं।

अमेरिका ने 356% तक एंटी-डंपिंग ड्यूटी लगाई है और चीनी सिरेमिक टाइल्स उत्पादों पर 358.8% तक की एन्टी सब्सिडी ड्यूटी लगाई है। भारतीय टाइल्स पर ड्यूटी सिर्फ 8.5% है जो भारत से अमेरिका को टाइल्स निर्यात बढ़ाने की उम्मीद करता है।

एशियन ग्रेनिटो इंडिया लि. के प्रबंध निदेशक श्री मुकेश पटेल ने कहा "वर्तमान में अमेरिका, यूरोप, मध्य पूर्व सहित कई देशों ने चीन पोस्ट कोविद से आयात कम कर दिया है और वे भारत को अपनी आवश्यकताओं के लिए देख रहे हैं। दुनिया भर में चीन की भावनाओं और अमेरिका में चीन से टाइल्स पर भारी शुल्क लगाने से हम भारतीय कंपनियों के लिए भारी निर्यात क्षमता का अनुमान लगाते हैं। 

गैस की कीमत में हालिया कमी भारतीय टाइलों को विश्व बाजार में और अधिक प्रतिस्पर्धी बना रही है और निर्यात कारोबार में एक प्रमुख उत्प्रेरक होगी। इस कदम से कुल लागत में 3-5% की कमी आएगी और मार्जिन में सुधार करने में और एक चुनौतीपूर्ण वातावरण में समग्र क्षेत्र की लाभप्रदता में मदद मिलेगी।

कंपनी भारत को टाइल्स और सैनिटरी वेयर के लिए ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग हब बनाने के उद्देश्य से वैश्विक कंपनियों के साथ जुड़ने की कोशिश कर रही है और इसका उद्देश्य गुणवत्ता आश्वासन, पैकेजिंग, कुशल आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन और कड़े अनुपालन के पालन और नैतिक मानदंड सहित पूरा समाधान प्रदान करना है। इस रणनीति के साथ एजीएल ने हाल ही में सियाम सीमेंट ग्रुप (एससीजी ) की मांग को पूरा करना शुरू कर दिया है, जो थाईलैंड और दक्षिण पूर्व एशिया की सबसे बड़ी सीमेंट और निर्माण सामग्री कंपनियों में से एक है। एससीजी की इंडोनेशिया, मलेशिया, वियतनाम, फिलीपींस, श्रीलंका और अन्य सहित 21 देशों में उपस्थिति है।

एशियन ग्रेनिटो इंडिया लिमिटेड सिरेमिक, फ्लोरल, डिजिटल वॉल, विट्रीफाइड, पार्किंग, पोर्सिलेन, ग्लेज्ड विट्रीफाइड, आउटडोर, नेचुरल मार्बल, कम्पोजिट मार्बल एंड क्वार्ट्ज आदि उत्पादों की व्यापक रेंज प्रदान करता है। इसके अलावा कंपनी ने सैनिटरी वेयर में प्रवेश किया है। हाल ही में कंपनी ने ब्रांड एजीएल के तहत 'कम्प्लीट बाथरूम सॉल्यूशंस' प्रदान करने के लिए सीपी फिटिंग्स और फॉसेट्स डिवीजन लॉन्च किया था। कंपनी ने अपनी उपस्थिति बको बढ़ाने और अन्य शोरूमों के नेटवर्क को 500 तक विस्तारित करने का लक्ष्य रखा है। 

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post