स्पेशल हैण्डलूम एम्सपो-2020 गौहर महल में जारी

10 से अधिक राज्यों के बेहतरीन बालूचरी, कौसा-टसर, पटौला जैसे उत्पाद खरीदने का सुनहरा अवसर

भोपाल। भोपालवासियों को देश के 10 राज्यों के बुनकरों द्वारा तैयार किए गए हैण्डलूम के उत्पाद 25 दिसम्बर 2020 तक गौहर महल में एक ही छत के नीचे देखने और खरीदने का अवसर प्राप्त हो सकेगा। इनमें उड़ीसा की इक्कत, बंगाल की बालूचरी, छत्तीसगढ़ की कोसा एवं टसर, गुजरात की पटौला, कर्नाटक की महीन सिल्क साडियों के अतिरिक्त कूल्लू की शॉल, जैकेट, टोपी मिल सकेगी। इस एक्सपो में मध्यप्रदेश के चंदेरी, माहेश्वरी एवं सौसर की कॉटन साड़ी, वारासिवनी की कोसा साड़ी-सूटस विशेष आकर्षक होंगे। छत्तीसगढ़ चापा के पूरनदेवांगन समिति के श्री रघुवीर सिंह चौधरी (राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता) बताते है कि छत्तीसगढ़ की कोसा सिल्क साड़ी एक-एक धागे को हाथ से निकालकर हाथों से बनाकर लगभग 15 दिन में तैयार किया जाता है। यह बेहतरीन उत्पाद आपको हैण्डलूम एक्सपो में उपलब्ध है। इसके साथ ही मध्यप्रदेश के नर्मदा घाट नामक प्रिंट की प्रसिद्ध हैण्डमेड साड़ी भी आपको गौहर महल में उपलब्ध है।  

कोविड महामारी के चलते बुनकरों को आई समस्याओं के निराकरण के लिए विकास आयुक्त (हाथकरघा) वस्त्र मंत्रालय भारत सरकार, नई दिल्ली एवं मध्यप्रदेश शासन तथा म.प्र. हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम भोपाल के 'मृगनयनी एम्पोरियम' के द्वारा देश-प्रदेश के बुनकरों को विपणन सहायता उपलब्ध कराने के लिए संयुक्त तत्वावधान में भोपाल के गौहर महल में 12 से 25 दिसम्बर 2020 तक स्पेशल हैण्डलूम एक्सपो का आयोजन किया जा रहा है। 
आयोजन की प्रमुख विशिष्ठता यह रहेगी कि देश के प्रमुख उत्कृष्ट उत्पाद भोपाल की जनता को उपलब्ध हो सकें। आयोजन में 10 राज्यों उत्तरप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, उड़ीसा, पश्चिम बगांल, गुजरात, उत्तराखण्ड, नई दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, बिहार द्वारा सहमति प्रदान कर दी गई है।
इस स्पेशल हैण्डलूम एक्सपो का समय प्रतिदिन दोपहर 12 से रात्रि 9 बजे तक रहेगा। प्रतिदिन विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाएगा । कोविड-19 के मापदण्डों के अनुरूप नियमों का विशेष ध्यान रखा जाएगा। साथ ही बुनकरों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post