वाल्मी में अंतराष्ट्रीय कार्यशाला आयोजित,18 शोध पत्र हुए प्रस्तुत

भोपाल । मप्र जल एवं भूमि प्रबंध संस्थान (वाल्मी) के सहयोग से एप्लीकेशन ऑफ जीआईएस एंड रिगोट सेंसिंग, लैंड वाटर एनवायरमेंट एंड सोसायटी विषय पर दिनांक 01 से 03 दिसम्बर तक आनलाइन अंतरराष्ट्रीय कार्यशाला आयोजित की गई।
जिसने राष्ट्रीय विज्ञान संस्थान,डेल्फ विश्वविद्यालय, नीदरलैंड, रविन्द्र नाथ टैगोर विश्वविद्यालय भोपाल, एडवांस मटेरियल एंड प्रोसेस रिसर्च इंस्टीट्यूट, डॉ सीवी रमन विश्वविद्यालय बिलासपुर एवं। इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर वाटर, इनवायरमेंट, एनर्जी एंड सोसायटी का संयुक्त सहयोग रहा।
इस कार्यशाला में विभिन्न देशों के लगभग 1000 प्रतिभागियों ने सहभागिता की तथा 18 शोध पत्रो का वाचन किया गया।
कार्यशाला में उर्मिला शुक्ला संचालक वाल्मी भोपाल, बी पी सिंह अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिक टैक्सास, जयवीर त्यागी निदेशक जल विज्ञान संस्थान रुड़की, डॉ आर पी दुबे कुलपति, डॉ.सी वी रमन विश्वविद्यालय, डॉ व्ही के वर्मा कुलपति डॉक्टर सी वी रमन विश्वविद्यालय डॉक्टर बीपी पेठिया, कुलपति रविंद्र नाथ टैगोर विश्वविद्यालय, डॉक्टर गेराल्ड डेल्फ विश्वविद्यालय नीदरलैंड डॉ अविनाश श्रीवास्तव डायरेक्टर एम्पी सी एस आई आर, शरद जैन ख्याति प्राप्त वैज्ञानिक इसरो के वरिष्ठ वैज्ञानिक सहित विभिन्न गणमान्य अतिथि ने भाग लिया। कार्यशाला में तकनीकी सत्रों में भारत-न्यूजीलैंड युगांडा,ग्रीस इत्यादि के वक्ताओं द्वारा व्याख्यान प्रस्तुत किए गए।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post