नकली घी बनाने की फैक्ट्री पर छापा मालिक और कंपनी पर एफआईंआर दर्ज

भोपाल । कलेक्टर अविनाश लवानिया के नेतृत्व में जिला प्रशासन और खाद्य विभाग की टीम ने हनुमानगंज थाना क्षेत्र में नकली घी बनाने की फैक्ट्री पर छापा मारा जिसमें 400 किलो नकली घी, अट्ठारह सौ किलो वनस्पति घी, 40 तेल के केन और एसेंस की बोतल, आठ प्रकार के ब्रांड के डब्बे भी बरामद किए हैं । इसके साथ ही नकली घी बनाने के अन्य समान भी बरामद हुआ है।


एसडीएम सिटी जमील खान ने बताया कि क्षेत्र में लगातार नकली घी की सप्लाई की सूचना प्राप्त हो रही थी जिसके बाद आज कलेक्टर श्री लवानिया के निर्देश पर छापामार कार्रवाई में तहसीलदार,खाध सुरक्षा विभाग, पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने संयुक्त कार्रवाई की । एस एस इंटरप्राइज की फैक्ट्री का मालिक शंकर बत्रा है नकली घी बनाने का काम विगत कई दिनों से कर रहा था।


 


 कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया और डीआईजी श्री इरशाद वली मौके पर पहुंचे और निरीक्षण के बाद उनके साथ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री लवानिया ने कहा कि जिले में कहीं भी अशुद्ध सामग्री का विक्रय और बनाने को पूरी तरह प्रतिबंधित किया गया है। इसके लिए सभी एसडीएम को निर्देश दिए गए हैं और एसडीएम के नेतृत्व में दलो का गठन भी किया गया है ।


जिले में विभिन्न क्षेत्रों में आकस्मिक छापामार कार्रवाई जारी है आज एस डी एम श्री जमील खान के नेतृत्व में हनुमानगंज थाना क्षेत्र में छापामार कार्रवाई की गई जिसमें नकली घी बनाने वाली फैक्ट्री पकडी गई है। इस गोरखधंधे में शामिल सभी के विरुद्ध एफ आई आर भी दर्ज की जा रही है फैक्ट्री में आठ विभिन्न प्रकार के घी के डब्बे भी मिले हैं जिनमें विभिन्न नामों से नकली घी बनाकर बेचा जा रहा था।


 


 मालिक शंकर बत्रा के विरूद्ध अपराध धारा 420/467 में प्रकरण दर्ज किया गया है। नकली घी बनाने की फैक्ट्री जो शंकर लाल बत्रा के आधिपत्य मैं चलाई जा रही थी के विरुद्ध कार्यवाही की जा रही है अलग अलग प्रकार के सोया आयल एवं घी के एसेंस को मिलाकर नकली घी बनाया जा रहा था। मौके पर तीन लोगो को अभिरक्षा में लिया गया है। मालिक की तलाश में टीम को रवाना किया गया है ।मिलावट के लिए उपयोग होने वाली ऑटोमैटिक मशीन को भी जप्त किया है। 


उक्त फेक्ट्री में लगभग 8 प्रकार के केशरी ,अनमोल ,सरल, कन्हैया, अनंतभोग, अनमोल, गोल्ड केशरी, भक्ति एवं केशरी प्लस जैसे अलग अलग प्रकार के पेकिंग रैपर का इस्तेमाल भी बरामद किया है।फ़ूड डिपार्टमेंट का संस्था के पास कोई लाइसेंस नही मिला है इसके साथ ही रहवासी क्षेत्र मैं फैक्ट्री का संचालन का प्रकरण भी दर्ज किया जायेगा।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post