मिंटो हाल में मुख्यमंत्री ने किया सौर ऊर्जा यात्रा का शुभारंभ

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान अपने संबोधन में कहा की प्योर और सेक्योर एनर्जी सोलर से प्राप्त होती है हम सभी का दायित्व है कि कार्बन उत्सर्जन को कम करें ।आने वाली पीढ़ियों के लिए चिंतित हो हम। प्रो चेतन समाज में चेतना जगा रहे हैं। हमें भी ऐसे प्रयासों में भागीदार बनना होगा। धरती का अस्तित्व बचाना होगा। ऊर्जा के वैकल्पिक साधनों के प्रयोग को बढ़ाना होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस महा अभियान के लिए मैं प्रोफेसर चेतन का अभिनंदन करता हूं ।मध्यप्रदेश में 2010 में नवकरणीय ऊर्जा विभाग बनाया गया था ।सस्ती बिजली का समाधान अक्षय ऊर्जा स्रोतों के उपयोग में छिपा है ।मध्यप्रदेश में प्रारंभ में नीमच में 135 मेगा वाट फिर रीवा में 750 मेगावाट सौर ऊर्जा संयंत्र प्रारंभ हुए। वर्तमान में 5000 मेगा वाट का सौर ऊर्जा उत्पादन हो रहा है। जिसे वर्ष 2022 तक 10,000 मेगावाट तक ले जाने का लक्ष्य है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ओमकारेश्वर मैं फ्लोटिंग सोलर प्लांट स्थापित होगा।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post