करोंद मंडी में किसान खेत पाठशाला का समापन

Yभोपाल । मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना अंतर्गत किसान मेला एवं प्रदर्शनी आज मंगलवार को कृषक कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा करोंद मंडी परिसर में संपन्न हुई। प्रदर्शनी में कृषि उद्यानिकी, पशुपालन, कृषि यंत्र एवं मछली पालन विभाग की उन्नत तकनीक को प्रदर्शित किया गया। कृषकों की आय दोगुनी करने के उद्देश्य से समस्त ग्राम पंचायतों में किसान खेत पाठशाला का आयोजन किया गया था। 


 किसान खेत पाठशाला में कृषक कल्याण विभाग के सहायक संचालक श्री एस. एन. सोनानिया ने कहा कि किसानों के अनुभव तथा तकनीक के गठजोड़ से कम लागत में अधिक उत्पादन किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मिश्रित खेती से भी दो एकड़ का किसान सुव्यवस्थित खेती कर प्राकृतिक आपदा में होने वाले नुकसान से बच सकते है। किसानों को छोटे भूखण्डों जैसे  एक से दो एकड़ भूमि में भी गेहूं, चना और अन्य नगदी फसलें लेकर मिश्रित खेती का लाभ उठाना चाहिए। उन्होंने मछली पालकों और पशुपालकों से भी तकनीक से समन्वय कर आमदनी में इजाफा करने की सलाह दी 


 किसान मेले में कृषक कल्याण विभाग के सहायक संचालक श्री एल. बी. एस. चौहान ने किसानों को जैविक खेती एवं उन्नत तकनीक के बारे में विस्तृत जानकारी दी। एक ही खेत में विविधता पूर्ण खेती करने से आपदा के समय किसान खुद ही नुकसान की भरपाई कर सकता है। किसानों को उद्यानिकी फसलें जैसे अमरूद, अनार, प्याज, हल्दी, लहसुन और अदरक के उत्पादन कर आय में वृद्धि की सलाह दी। उन्होंने बताया कि उन्नत तकनीक एवं जैविक खेती अपनाकर आय बढ़ाई जा सकती है। उन्होंने किसानों को जैविक खेती की उन्नत तकनीकी की बारीकियों के बारे में भी बताया। कृषक श्री राजाराम मीणा ने जैविक खेती एवं उन्नत तकनीकी के माध्यम से कम लागत मूल्य में आय में वृद्धि के अनुभव को किसानों से साझा किया। इसी प्रकार कृषक श्री प्रमोद मीणा ने भी किसानों को अपने जैविक खेती के अनुभव के बारे में बताया। किसान खेत पाठशाला में बहुसंख्या में किसान उपस्थित थे। किसान मेले में 226 किसानों ने पंजीयन कराया तथा प्रदर्शनी का अवलोकन कर जानकारी प्राप्त की। 


   कृषि विज्ञान केंद्र नवीबाग भोपाल के वरिष्ठ वैज्ञानिक, श्री ङी.के.द्विवेदी, उप संचालक कृषि श्री एस. एन. सोनानिया, उप परियोजना संचालक आत्मा से, श्री एल.बी.एस. चौहान, उद्यान विभाग के श्री जी.एस.रघुवंसी, कृषि अभियांत्रिकी विभाग के श्री एस.पी अहिरवार, पशुपालन विभाग की डॉ.अनुपमा निगम फंदा विकास-खण्ड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी श्री एस.के. शर्मा ने कृषकों को मार्गदर्शन दिया।  ।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post