एमवे ने बाल दिवस मनाने के लिए वर्चुअल कार्यक्रमों की मेजबानी करके युवा मस्तिष्कों में रचनात्मकता का प्रसार किया

सेवा भारती मातृछाया के बच्चों के लिए सलाद ड्रेसिंग एवं पेंटिंग कम्पीटिशन का आयोजन किया


 


भोपाल । देश की अग्रणी एफएमसीजी डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों में से एक एमवे इंडिया ने लगातार 12वें वर्ष बाल दिवस मनाया। वार्षिक समारोह एमवे इंडिया के सीएसआर कार्यक्रम- प्रोजेक्ट सनराइज के हिस्से के रूप में अपने 12 एनजीओ भागीदारों के साथ पूरे भारत में वर्चुअली आयोजित किए गए। इस कार्यक्रम के माध्यम से एमवे शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता तक पहुंच प्रदान करके वंचित बच्चों के समग्र कल्याण का समर्थन करता है। इसके अलावा ’पॉवर ऑफ 5 कैंपेन’ के माध्यम से एमवे 5 साल से कम उम्र के बच्चों में कुपोषण के उन्मूलन की दिशा में लगातार काम कर रहा है। यह अभियान बड़े पैमाने पर माताओं, देखभाल करने वालों और समुदायों में आवश्यक जागरूकता और व्यावहारिक बदलाव लाने पर केंद्रित है।


 


इस वर्ष नए नियम का पालन करते हुए एमवे ने सामाजिक दूरी को बनाए रखते हुए बच्चों को एक साथ लाने के उद्देश्य से समारोह का आयोजन वर्चुअली किया। भारतीय चित्रकला और सांस्कृतिक प्रदर्शनों पर कार्यशालाओं से लेकर वर्चुअल सलाद ड्रेसिंग और कहानी सुनाने के सत्रों एवं वाद-विवाद प्रतियोगिताओं के साथ एमवे इंडिया ने कई पारस्परिक गतिविधियों का आयोजन किया, जिन्हें युवाओं को सशक्त और प्रोत्साहित करने के लिए विशेष रूप से तैयार किया गया था।


 


भोपाल में, सेवा भारती मातृछाया के सहयोग से एमवे ने बच्चों को सलाद ड्रेसिंग एवं पेंटिंग कम्पीटिशन में वर्चुअली भाग लेने और बाल दिवस का जी भरकर लुत्फ लेने के लिए प्रोत्साहित एवं संलग्न किया। इस कार्यक्रम का समापन सभी प्रतिभागियों के लिए रोमांचक उपहारों के साथ हुआ।


 


एमवे इंडिया के एसोसिएट वाइस प्रेजिडेंट – वेस्ट श्री देबाशीष मजूमदार ने कहा, "इस दुनिया में सबसे कीमती चीज एक बच्चे की मुस्कान है और इस सोच के मद्देनजर एमवे इंडिया अपने एनजीओ भागीदारों के साथ हर साल बाल दिवस मनाता है। इस अभूतपूर्व संकट की घड़ी में यह काफी महत्वपूर्ण है कि कुछ समय निकाला जाए और युवाओं द्वारा दिखाए गए लचीलेपन की सराहना की जाए, क्योंकि वे लगातार बदलती दुनिया का सामना करते हैं। एमवे में हमारा विजन लोगों को बेहतर, स्वस्थ जीवन जीने में मदद करना है। प्रोजेक्ट सनराइज के तहत कई पहलों के माध्यम से हमने संपूर्ण भारत में वंचित बच्चों के जीवन को उनके समग्र विकास में सहयोग करके महत्वपूर्ण रूप से समृद्ध किया है। वर्चुअल कार्यक्रम में सभी बच्चों द्वारा जिस तरह की उत्साहपूर्ण भागीदारी और रचनात्मकता दिखाई गई, उसे देखकर बहुत ही खुशी हुई। हमें सेवा भारती मातृछाया के साथ सहयोग करने और बच्चों के कल्याण के लिए अपनी ओर से भरपूर मदद देने पर अत्यंत गर्व है।”


 


सेवा भारती मातृछाया के अध्यक्ष श्री सुनील माहेश्वरी ने इस अवसर पर टिप्पणी करते हुए कहा, “हमारा उद्देश्य बच्चों को कुछ समय देना और उन्हें साथियों एवं शिक्षकों के साथ बातचीत करने के लिए प्रोत्साहित करना था। इस तरह की गतिविधियों से बच्चों में आत्मविश्वास पैदा करने और उन्हें व्यस्त रखने में मदद मिलती है, जिसके बारे में हमारा मानना है कि यह समय की जरूरत है। हमें पिछले 10 वर्षों से अपने बच्चों के लिए एमवे इंडिया से निरंतर सहयोग मिला है। बच्चों के लिए एक अत्यंत ही मजेदार दिन के आयोजन के लिए हम तहे-दिल से एमवे को धन्यवाद देते हैं।”


 


एमवे ने 2008 में प्रोजेक्ट सनराइज को शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता के क्षेत्र में वंचित बच्चों की मदद करने और उन्हें सशक्त बनाने के विजन के साथ शुरू किया था। इस अभियान के तहत कंपनी वर्तमान में पूरे देश में 12 एनजीओ भागीदारों के साथ काम करती है।


 


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post