भारत में फास्टैग का सबसे बड़ा जारीकर्ता है (एन इ टी सी) कार्यक्रम के तहत भारत का सबसे बड़ा अधिग्रहणकर्ता बैंक बन गया

पेटीएम पेमेंट्स बैंक डिजिटल टोल संग्रह के लिए भारत का सबसे बड़ा सूत्रधार बन गया है, 5 मिलियन फास्टैग जारी किये है और 211 प्लाज़ा पर टोल संग्रह को सक्षम बनाया हैं


 


 


हर महीने टोल प्लाजा के माध्यम से 4 मिलियन से अधिक वाहनों की आवाजाही को सुगम बनाता है


जनवरी 2021 तक और 100 टोल प्लाजा का अधिग्रहण करना


अगले 3 महीनों में 5 मिलियन टैग जारी करने का लक्ष्य रखा गया है


 


नई दिल्ली । भारत के घरेलू भुगतान पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (पी पी बी एल) ने आज घोषणा की है कि वह अब देश भर में 211 टोल प्लाजा पर स्वचालित कैशलेस भुगतान सक्षम कर रहा है और राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (एन इ टी सी)कार्यक्रम के तहत सबसे बड़ा अधिग्रहणकर्ता बैंक बन गया है। बैंक देश में फास्टैग का सबसे बड़ा जारीकर्ता है और इन टैग के साथ 5 मिलियन से अधिक वाहनों से लैस है। इसके साथ, पेटीएम पेमेंट्स बैंक देश में डिजिटल टोल भुगतान के सबसे बड़े सुविधा प्रदाता के रूप में उभरा है। इसके अलावा अगले 3 महीनों में फास्टैग की बिक्री में 100% वृद्धि हासिल करना और 100 टोल प्लाजा का अधिग्रहण करने का लक्ष्य है


 


अन्य बैंकों द्वारा जारी किए गए फास्टैग के विपरीत, पेटीएम फास्टैग को बनाने के लिए किसी अलग प्रीपेड खाते की आवश्यकता नहीं होती है। टोल भुगतान के लिए पैसा पेटीएम वॉलेट से ऑटो-डेबिट हो जाता है और शेष राशि का उपयोग खरीदारी, रिचार्ज, बिल भुगतान आदि के लिए भी किया जा सकता है। इसे वाहन पंजीकरण संख्या और प्रमाण पत्र जैसे न्यूनतम दस्तावेज के साथ खरीदा जा सकता है और खरीदार के पंजीकृत पते पर नि: शुल्क वितरित किया जाता है।


 


 


टोल प्लाजा पर कैशलेस भुगतान की सुविधा के बारे में लोगों को शिक्षित करने और वाहन मालिकों को टैग खरीदने में मदद करने के लिए, बैंक ने देश भर में टोल प्लाजा, आवासीय पार्किंग स्थल, ईंधन स्टेशनों और अन्य कमर्शियल क्षेत्रों में 20,000 से अधिक शिविर लगाए हैं।


 


 


सतीश कुमार गुप्ता, सीईओ और प्रबंध निदेशक, पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड ने कहा, “हम देश में डिजिटल टोल भुगतान को अपनाने और सभी के लिए सड़क यात्रा को सहज और समय-कुशल बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं I हम अपने उपयोगकर्ताओं की प्रतिक्रिया से अभिभूत हैं जिन्होंने हमें देश में फास्टैग का सबसे बड़ा जारीकर्ता और अधिग्रहणकर्ता बनने में मदद की है। हमारे सभी प्रयास हमारी सरकार के 'डिजिटल इंडिया' मिशन को बढ़ावा देने और हमारे देश में कैशलेस भुगतान को प्रोत्साहित करने के लिए संरेखित हैं। "


 


 फास्टैग को राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (NETC) प्रोग्राम द्वारा प्रीपेड या बचत / चालू खाते से जुड़े ग्राहकों से सीधे टोल भुगतान करने के लिए बढ़ावा दिया जाता है। पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने प्रमुख ऑटोमोबाइल निर्माताओं जैसे कि मारुति सुजुकी, हुंडई मोटर इंडिया, होंडा कार्स इंडिया, किआ मोटर्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, एमजी मोटर इंडिया के डीलरों के साथ तथा कई अन्य लोगों के साथ भागीदारी की है, जो समय पर प्री-फिटेड पेटीएम फास्टैग की पेशकश करते हैं वाहन खरीद ही।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post