अधिकारी क्षेत्रों का भ्रमण कर योजनाओं का लाभ वास्तविक हितग्राहियों को दिलाएं : कियावत

भोपाल । संभागायुक्त कवींद्र कियावत ने आज विदिशा जिले में विभिन्न विभागों के माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं की समीक्षा की । श्री कियावत ने सभी विभागों के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए कि क्षेत्रों का अधिक से अधिक भ्रमण कर हितग्राहियों को योजनाओं एवं कार्यक्रमों का लाभ दिलाया जाए । उन्होंने कहा कि डोर टू डोर सर्वे के दौरान इस बात के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित की जाए कि कोई भी हितग्राही छूट ना जाए यदि एक भी हितग्राही योजना का लाभ लेने से बच जाता है तो उसका जीवन प्रभावित होता है।


 


संभागायुक्त द्वारा नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार में कुल 6 समूहों में विभिन्न विभागों के कार्यों की समीक्षा प्रथक प्रथक की गई ।


 


  बैठक में शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान यह निर्देशित किया कि 20 नवंबर तक समस्त स्कूलों के प्राचार्य शिक्षक एक माहौल तैयार करें ताकि जो 50 प्रतिशत की उपस्थिति बच्चों की है वह कायम रहे और अभी जो बच्चे स्कूल ना जाने पर कंफर्ट जोन महसूस कर रहे हैं उनके पालकों को बच्चों को स्कूल भेजने के लिए माहौल बनाएं ।सोशल डिस्टेंसिंग का भी अक्षरशः पालन हो ।बच्चों को 20 नवंबर तक 50% उपस्थिति के लिए माहौल बनाए रखें और पालकों को इसके लिए मानसिक रूप से तैयार रहने हेतु प्रेरित करें।


 


  राजस्व बैठक के दौरान आयुक्त श्री कियावत ने समस्त राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी पटवारी अपने हल्का प्रभार के ग्रामों में जाकर बी वन का वाचन करें । नामांतरण, बटवारा आदि के प्रकरणों का शीघ्र निराकरण हेतु कृषकों और राजस्व न्यायालय के बीच सामंजस्य बनाएं एवं पहल करते हुए इनका शीघ्र निराकरण किया जाए । इस समस्त कार्यवाही के लिए एक माह का टारगेट दिया है।


 


 कृषि विभाग से संबंधित कृषक पाठशाला के अचीवमेंट पर आयुक्त द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई । उन्होंने निर्देशित किया कि कृषि विभाग के अधिकारी जनपद के सहयोग से ग्रामों में मुनादी कराकर कृषकों को कृषक पाठशाला के लिए प्रेरित करें, ताकि कृषकों को कृषि से संबंधित लाभों की जानकारी प्राप्त हो । जिन गांव में कृषक पाठशाला आयोजित हो चुकी है उनमें कुछ अनियमितताएं हैं एवं नियम निर्देशों के अनुरूप नहीं है । उन ग्रामों में दीपावली के पश्चात एक अभियान चलाकर लक्ष्य पूरा करें ।


 श्री कियावत ने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि लक्ष्य अनुरूप कार्य नियत दिनांक, माह तक हर स्थिति में संपादित किये जाएं ।


 


महिला बाल विकास अधिकारी श्री शिवहरे के कार्य पर असंतोष व्यक्त करते हुए लाड़ली लक्ष्मी योजना में लक्ष्यो के अनरूप कार्य नहीं पाए जाने पर उन्होंने कड़े निर्देश दिए कि वे इस विषय को गंभीरता से लेते हुए अपने मैदानी अमले से लक्षण पूर्ति कराएं । मैदानी अमले पर उनका पर्याप्त नियंत्रण नहीं होने को मुख्य कारण बताते हुए सुधार लाने के निर्देश दिए हैं।


 


संभागायुक्त ने सभी विभाग प्रमुखों को निर्देशित किया कि वह अपने अधीनस्थ समस्त कार्यालयों को व्यवस्थित करें ।साथ ही कार्य के प्रति माहौल भी बनाएं, सभी विभाग उनसे संबंधित लक्ष्यों की पूर्ति नियत दिनांक तक कराना सुनिश्चित करेंगे । इसमें कोताही बरतने पर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश में भी संभागायुक्त ने दिए ।


 



0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post