मुख्यमंत्री बताएं स्मार्ट सिटी ग्वालियर के खाते से 50 करोड़ क्यों,किसलिये,किसकी सरपरस्ती में निकाले गए:, मिश्रा

ग्वालियर। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया प्रभारी (ग्वालियर-चम्बल संभाग) के.के.मिश्रा ने उपचुनाव के दौरान प्रदेश के खाली खजाने के बावजूद भी करोड़ों के विकास कार्यो की झूठी घोषणा करने वाले मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान पर ग्वालियर के विकास को लेकर यहां के नागरिकों से धोखा करने का गंभीर व प्रामाणिक आरोप लगाया है। मिश्रा ने यह भी कहा कि इस सरकारी धोखे में कथित जनसेवक श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की भी मूक सहमति है,अन्यथा वे बताएँ के वे इसे लेकर खामोश क्यों हैं, सड़क पर क्यों नहीं उतरे? 


  अपने आरोप को प्रामाणिक रूप से स्पष्ट करते हुए मिश्रा ने कहा कि स्मार्ट सिटी, ग्वालियर के खाते में इस वक्त 255 करोड़ रु. जमा हैं।आयुक्त, संचालनालय,नगरीय प्रशासन एवं विकास,भोपाल के दूरभाष पर दिए गए निर्देश के आधार पर कार्यालय आयुक्त, नगर पालिक निगम,ग्वालियर ने गत 26 नव.2020 को अपने पत्र क्र. स्टेनो/आ/2020/10 के माध्यम से मुख्य कार्यपालन अधिकारी,स्मार्ट सिटी,ग्वालियर को सम्बोधित पत्र में उक्त राशि मे से 50 करोड़ रु.की राशि एम.पी.यू.डी.सी. के इंडसइंड बैंक के अरेरा कॉलोनी शाखा,भोपाल के खाता क्र. 100075738302 (IFSC CODE INDB 0000990) में जमा कराने के निर्देश जारी किए हैं,ऐसा क्यों और किसलिए?


            मिश्रा ने कहा कि एक तो पहले से ही ग्वालियर पिछले कई दशकों से विकास कार्यो/योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर उपेक्षित रहा है और अब उसके विकास की मद में जमा राशि से 50 करोड़ की बड़ी राशि भी अन्यत्र स्थानान्तरित कर दी जाए यह कोई बड़ा षड्यंत्र है! लिहाज़ा, पटरी से उतर चुकी शिव-ज्योति एक्सप्रेस बताए कि ऐसा क्यों,किसलिये और किसकी सरपरस्ती में हुआ?


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post