एमवे इंडिया ने नारी शक्ति के लॉन्च के साथ उद्यमिता की भावना को बढ़ावा दिया

• डिजिटल और सोशल टूल्स के माध्यम से अपनी वूमेन डायरेक्ट सेलर्स की क्षमता बढ़ाने पर


ध्यान केंद्रित किया


मुंबई, : महिलाओं को आगे लाकर उन्हें सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध और
देश में गिग इकोनॉमी इकोसिस्टम को मजबूत करने की दिशा में प्रमुख कदम के रूप में देश की
अग्रणी एफएमसीजी डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों में से एक एमवे इंडिया ने हाल ही में 'नारी शक्ति'
परियोजना के लॉन्च की घोषणा की। अपनी 10-वर्षीय विकास दृष्टि के हिस्से के रूप में एमवे
का उद्देश्य महिलाओं को सशक्त बनाना जारी रखना है और उन्हें फिटनेस, स्वस्थ जीवन, पाक
कला या सुंदरता संबंधी अपने जुनून को जीने के दौरान खुद का व्यवसाय संचालित करने का
अवसर प्रदान करना है। पूर्वी क्षेत्र से शुरू होकर नारी शक्ति परियोजना एमवे के मौजूदा वूमेन
डायरेक्ट सेलर्स के मौजूदा समूह को अपने स्वतंत्र एमवे व्यवसायों को सफलतापूर्वक चलाने के
लिए उनके मौजूदा कौशल को निखारकर आगे लाने पर लक्षित है।
इस पहल पर टिप्पणी करते हुए एमवे इंडिया के सीईओ अंशु बुधराजा ने कहा, “वर्तमान स्वास्थ्य
संकट ने नौकरियों के संदर्भ में बढ़ती अनिश्चितता के कारण गिग इकोनॉमी इकोसिस्टम में
लचीली भूमिकाओं की स्वीकार्यता को बढ़ा दिया है। महिलाएं भारत के वर्तमान सामाजिक-
आर्थिक परिदृश्य को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं और एमवे महिलाओं के
उत्थान की दिशा में काम कर रहा है तथा लंबे समय से समान अवसर मुहैया कराने वाला
खिलाड़ी बनकर उन्हें सहयोग प्रदान कर रहा है। हमारा मानना है कि महिला उद्यमी भारत में
हमारे भविष्य के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं और हम विकास के माहौल को बढ़ावा देने के लिए
प्रतिबद्ध हैं तथा महिलाओं को उनकी पूरी क्षमता का अहसास कराने के लिए अवसर प्रदान
करते हैं। यह तथ्य कि हमारे 60% से भी अधिक डायरेक्ट सेलर्स महिलाएं हैं, हमारी प्रतिबद्धता
का प्रमाण है। मैं नारी शक्ति परियोजना शुरू करने को लेकर बेहद रोमांचित हूं, जो और बहुत
सी महिलाओं के बीच उद्यमिता की भावना को जगाने के लिए एकदम तैयार है। परियोजना को
शुरू करने के लिए हमने कई मापदंडों के आधार पर कुछ चुनिंदा महिला उद्यमियों की पहचान
की है और आने वाले महीनों में हम अपनी पहुंच को और विस्तृत करने का लक्ष्य रखेंगे।”
एमवे ने इन चुनिंदा महिला उद्यमियों के समूहों के साथ विभिन्न सत्रों के आयोजन की योजना
बनाई है, जो उनके विभिन्न कौशल को बढ़ाने, सर्वोत्तम व्यावसायिक प्रथाओं, उत्पाद प्रशिक्षणों और
विभिन्न व्यावसायिक उपकरणों एवं सामाजिक वाणिज्य के उपयोग के बारे में जानकारी प्रदान
करने पर लक्षित हैं। इन महिलाओं को प्रमुख वरिष्ठ महिला उद्यमियों द्वारा सलाह दी जाएगी,


जो एमवे इंडिया के साथ अपने सफर के दौरान उनका मार्गदर्शन करेंगी। यह परियोजना वर्तमान
परिवेश में सामाजिक बिक्री के महत्व पर भी जोर देती है और व्यवसायों को बनाए रखने तथा
डायरेक्ट सेलिंग के पारंपरिक तरीकों से आगे बढ़ने के लिए डिजिटल माध्यम को तेजी से अपनाए
जाने पर प्रकाश डालती है।
परियोजना को विभिन्न उद्योगों में महिलाओं की बढ़ती भूमिका के विषय पर एक पैनल चर्चा के
साथ शुरू किया गया। यह चर्चा वर्तमान परिदृश्य के चलते गिग इकोनोमी के उदय और देश में
महिला उद्यमिता के भविष्य को मजबूत करने पर केंद्रित थी। इस वर्चुअल पैनल चर्चा में सफल
फैशन डिजाइनर और पुरस्कार विजेता जानी-मानी वक्ता सुश्री बृंदा, जिन्हें अपनी विशेषज्ञता के
क्षेत्र में 6 से अधिक वर्षों का व्यापक अनुभव है; सशस्त्र बलों से सेवानिवृत्त अधिकारी और रीटा
गंगवानी’ज हाउस ऑफ पर्सनैलिटी ट्रांसफॉर्मेशन की संस्थापक सुश्री रीटा गंगवानी; एमवे इंडिया में
वाइस-प्रेजिडेंट फॉर कंटेंट मार्केटिंग एंड कम्युनिकेशंस, पीआर, सोशल मीडिया और सीएसआर सुश्री
सिमरत बिश्नोई और एमवे इंडिया में ब्यूटी, पर्सनल केयर एंड कम्युनिटीज की वाइस प्रेजिडेंट
सुश्री अनिशा शर्मा ने हिस्सा लिया। चर्चा कार्य जीवन के संतुलन को बनाए रखते हुए महिलाओं
के वित्तीय रूप से स्वतंत्र बनने के लिए डायरेक्ट सेलिंग के एक सुलभ विकल्प होने पर केंद्रित
थी। वर्चुअल पैनल चर्चा में मौजूद मेंटर्स ने महिलाओं को आगे बढ़ने और सफल होने के लिए
प्रेरित करने के उद्देश्य से व्यक्तिगत अनुभवों एवं सफलता की कहानियों को साझा किया।
वरिष्ठ अगुआओं ने अपने सफर, प्रेरणा और सफलता के मूलमंत्र भी साझा किए। इसके अतिरिक्त
एमवे के सीनियर डायरेक्ट सेलर्स भी अपने अनुभव और सफर को साझा करने के लिए विभिन्न
शहरों से इस वेबिनार का हिस्सा बने।
एमवे ने नारी शक्ति परियोजना की शुरुआत पूर्वी भारत से चुनिंदा वूमेन डायरेक्ट सेलर्स के साथ
की, ताकि उन्हें प्रशिक्षित किया जा सके और आने वाले महीनों में इस कार्यक्रम को और अधिक
वूमेन डायरेक्ट सेलर्स तक पहुंचाने का इरादा है। कई वर्षों से एमवे इंडिया विभिन्न ऑनलाइन
और ऑफलाइन प्रशिक्षणों एवं कार्यशालाओं के माध्यम से महिलाओं के कौशल को निखारने के
लिए निवेश कर रही है तथा अपने मूल दर्शन के साथ कंपनी महिलाओं को उनकी वास्तविक
क्षमता का पता लगाने के लिए सही मंच प्रदान करके उन्हें सशक्त बना रही है।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post