भोपाल में परित्यक्त बच्चों के लिए कोविड -19 क्वारंटीन केंद्र स्थापित

भोपाल l माता– पिता की देखभाल से वंचित बच्चों और अनाथ बच्चों के समग्र विकास के प्रति समर्पित भारत का सबसे बडा गैर सरकारी संगठन एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज ऑफ इंडिया (एसओएससीवीआई) ने भोपाल में बच्चे के अनुकूल एक क्वारंटीन केंद्र की स्थापना की है। इस केंद्र में दो सप्ताह के क्वारंटीन अवधि के दौरान परित्यक्त बच्चों और कोविड -19 पॉजिटिव माता-पिता के बच्चों के लिए चिकित्सीय निगरानी और परिवार जैसी देखभाल की सुविधा प्रदान की जाती है।


इस क्वारंटीन केन्द्र की स्थापना मध्य प्रदेश सरकार के महिला और बाल विकास विभाग (डब्ल्युसीडी) के अनुरोध पर, एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेज भोपाल के परिसर के भीतर स्थित एसओएस हरमेन गेमिनर स्कूल में की गई है। इस केंद्र में अब तक 15 बच्चों को क्वारंटीन अवधि के दौरान देखभाल करने के बाद छुट्टी दे दी गई है। वर्तमान में, क्वारंटीन केंद्र में सात बच्चे हैं, जिन्हें रेलवे चाइल्डलाइन, भोपाल ने बचाया था।


क्वारंटीन अवधि के पूरा होने के बाद, बाल कल्याण समिति और जिला बाल संरक्षण अधिकारी के निर्देशों के अनुसार, बच्चे या तो अपने परिवारों के साथ रहते हैं या उन्हें एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज ऑफ इंडिया और अन्य बाल देखभाल संस्थानों में रखा जाता है। क्वारंटीन अवधि को पूरा करने वाले 15 बच्चों में से, तीन बच्चे अब लंबे समय तक देखभाल के लिए एसओएस परिवार का हिस्सा बन गए हैं। दो बच्चों को भोपाल के अन्य बाल देखभाल संस्थानों में स्थानांतरित कर दिया गया है, और तीन बच्चों को उनके परिवारों के साथ फिर से रखा गया है।


एसओटीसीवीआई के वरिष्ठ उप राष्ट्रीय निदेशकश्री सुमंत कार ने क्वारंटीन सुविधा और देखभाल के बारे में बात करते हुए कहा, “हमने बच्चे के अनुकूल माहौल के साथ क्वारंटीन केंद्र बनाया। यहां घरों के अंदर खेलने वाले सामान, कहानी की किताबें और एक टेलीविजन सेट हैं। यहां प्रत्येक बच्चे को एक अलग बेड दिया जाता है और लड़कियों और लड़कों के लिए अलग-अलग कमरे होते हैं। उन्हें नए कपड़े दिए जाते हैं और स्वस्थ और पौष्टिक भोजन और नाश्ते दिए जाते हैं, जो हमारी रसोई में एसओएस माताओं द्वारा तैयार किये जाते हैं। बच्चों की देखभाल में प्रशिक्षित हमारी एसओएस आंटी, केंद्र में बच्चों के साथ रहती हैं और बच्चों की सभी जरूरतों का ख्याल रखती हैं। यह पहल यह सुनिश्चित करने के लिए हमारी प्रतिबद्धता की पुष्टि करती है कि यहां कोई भी बच्चा अकेले बडा नहीं होता है। #nochildaloneʺ


केंद्र में भर्ती होने से पहले, परित्यक्त बच्चों की यह सुनिश्चित करने के लिए जांच की जाती है कि वे कोविड -19 पॉजिटिव तो नहीं हैं। सभी कमरे सहित पूरे परिसर को नियमित रूप से सैनिटाइज किया जाता है, और यहां बाहरी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध है। क्वारंटीन केंद्र चिल्ड्रेन्स विलेज भोपाल के फैमिली होम्स से सुरक्षित दूरी पर स्थित है, जहां सैकड़ों बच्चे रहते हैं।


 


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post