रोजगार मूलक शिक्षण संस्थान से नए युग की शुरुआत होगी : यादव

कल्याण योजनाओं का फायदा हर नागरिक को : पटेल
 भोपाल ।   किसान और सक्षम ग्रामीणों को आगे आकर नई शिक्षा नीति को अपनाकर स्वयं के रोजगार मूलक विद्यालय खोलना चाहिए। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने शनिवार को जिले की परवलिया ग्राम पंचायत में मुख्यमंत्री किसान कल्याण कार्यक्रम में यह विचार व्यक्त किए। पंचायत एवं ग्रामीण राज्यमंत्री रामखिलावन पटेल ने भी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार की नीतियों से हर नागरिक को कुछ न कुछ फायदा मिला है। बैरसिया विधायक श्री विष्णु खत्री ने भी संबोधित किया।
 उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के सभी तरह की सब्सिडी एक मुश्त किसानों के खाते में ट्रांसफर किए जाने का वे स्वागत करते है, इससे प्रदेश का किसान आत्म निर्भर तो होगा ही- बिचौलिए की लूट भी बंद होगी। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति देश और प्रदेश में लागू हो गई है, जिससे अब रोजगर मूलक शिक्षा का बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि वे चाहते है कि उत्पादक गतिविधियों के कोर्स खुद सक्षम किसान प्रारंभ करें जिससे एक युग का सूत्रपात होगा। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में विभिन्न उत्पादों की प्रचुरता के दृष्टिगत फुड प्रोसेसिंग में भी नए कोर्स प्रारंभ किए जाएंगे। 
 इससे पहले पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री राम खिलावन पटेल ने कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार सबके कल्याण की सरकार है। उन्होंने कहा कि जन्म से लेकर मृत्यु पर्यंत तक अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं और कोई भी यह नहीं कह सकता कि उसे किसी भी योजना का लाभ नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि प्राय: सभी इन योजनाओं को जानते हैं और सभी का दायित्व है कि वे कठिनाई के समय एक दूसरे की मदद करें। उन्होंने केन्द्र के तीनों विधेयकों को किसानों के हित में बताया। क्षेत्रीय विधायक श्री विष्णु खत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जी की सोच के अनुरूप गरीब और किसानों के कल्याण में वे कोई कसर नहीं छोड़ेगे।
 इस अवसर पर स्थानीय किसानों शोभाराम,  बटन लाल, विष्णु प्रसाद,  ज्ञान सिंह और  रामेश्वर को दो-दो हजार रूपए के किसान कल्याण योजना के चैक सौंपे गए। इससे पहले मंत्री श्री यादव और राज्यमंत्री श्री पटेल सहित उपस्थित किसानों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यक्रम में वीडियो कांफ्रेंसिंग से सम्मिलित हुए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने परवलिया के कृषक राधेश्याम मेहर और  भावसिंह से संवाद भी किया। भाव सिंह को फसल बीमा योजना में 31 हजार 500 रूपए की राशि भी प्राप्त हुई है। कार्यक्रम में सरपंच  कन्हैयालाल पाटीदार सहित किसान और ग्रामीण उपस्थित थे।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post