दोहरे अंधे हत्याकांड का हुआ पर्दाफाश, दोनों आरोपी गिरफ्तार

सिवनी । थाना किंदरई में शाम लगभग 4-5 के बीच थाना क्षेत्र अंतर्गत लखनादौन मण्डला स्टेट हाईवे के किनारे ग्राम मसूरभावरी में एक युवक मृत अवस्था में मिलने की सूचना प्राप्त हुई, जिसकी तस्दीक हेतु थाना स्टाफ घटना स्थल पर पहुचां मृत युवक अज्ञात था । थाना प्रभारी द्वारा मर्ग इन्टीमेशन लेकर घटना स्थल पर ही अज्ञात के विरुध्द अपराध पंजीबध्द किया गया, शव की फोटोग्राफ व्हाट्स एप्प के माध्यम से आस-पास के गांव मे सर्कुलेट किए गए एवं और उसी रात्रि को थाना किंदरई में अज्ञात आरोपी के विरूध्द असल अपराध क्र. 34/2020 घारा 302 भा.द.वि. पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया । कुछ समय पश्चात अर्जुन उईके पिता धनसिंह के द्वारा घटना स्थल पर पहुंचकर बताया गया कि ये मेरा भाई रुकुम है जिनकी उपस्थिति में शव शिनाख्त की कार्यवाही की गई ।


         प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक ने अनुविभागीय अधिकारी पुलिस घंसौर को अज्ञात आरोपी की गिरफ्तारी के निर्देश दिए । जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा फोरेंसिक टीम को तत्काल घटना स्थल में भेज कर आवश्यक भौतिक साक्ष्यों को संकलन करने के एवं  जिला साइबर सेल की टीम को घटनास्थल से डेटा एकत्रित कर उनका विश्लेषण करने के निर्देश दिए गए । प्रकरण में अज्ञात आरोपी के पतारसी के अथक प्रयास किये गए किन्तु आरोपी लगातार पिछले 06 माह से फरार था मामलें की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक द्वारा अज्ञात आरोपी के ऊपर 10,000 रुपये के ईनाम की उद्घोषणा की गई। फोरेंसिक टीम व साइबर सेल से प्राप्त सूचनाओं का विश्लेषण करने पर थाना स्तर पर गठित टीम द्वारा कुछ संदेहियों को पकड़कर हिरासत में लिया गया। जिनसे गहनता से पूछताछ करने पर संदेही प्रदीप ने बताया कि मेरा ग्राम खुदरी की लड़की से प्रेम संबंध हो गया था जिसके गर्भवती होने के उपरांत उसका गर्भपात कराने अपने दोस्त रुकुम के साथ जबलपुर गए वहाँ से गर्भपात न करवा कर कमाने के लिए तीनों मोटर साइकिल से नागपुर के लिए निकल गए। रास्ते मे लड़की के द्वारा नागपुर जाने से मना करने पर मैने जेब मे रखे चाकू से लड़की के पेट मे दो तीन वार कर उसे मार दिया और दोस्त रुकुम के साथ घसीट कर रोड के किनारे गड्ढे में लिटाकर वहीं की खुदी हुई मिट्टी मुरुम से शव को पूर दिया और पत्थरों से दबा दिया। लड़की की हत्या मेरे द्वारा किये जाने के समय मेरा दोस्त रुकुम साथ में था और वो ही इस राज को जानता था और इसी बात को लेकर वो मुझसे पैसों की मांग करने लगा तब मैंने उसे मारने की योजना अपने साथी चैनसिंह के साथ मिलकर बनाई और दिनांक 14 मार्च 2020 को उसे घर से अपने साथ मोटरसाइकिल से ससुराल जाने का बोल कर स्टेट हाईवे में ग्राम मसुरभावरी के पास रोड के किनारे रात में उसका गला गमछा से दबाकर और चैनसिंह ने हसिए से वार कर मार डाला और उसकी लाश को रोड किनारें झाड़ियों में फेंक दिए हत्या करने की बात स्वीकार करने के उपरांत संदेही प्रदीप के बताए स्थान पर गढ़ा हुआ शव व हत्या में प्रयुक्त हथियार बरामद कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post