पन्ना टाइगर रिजर्व में नर बाघ की मौत

7 माह में 5 टाइगर मरे, मौतों से मचा हड़कंप..


 मैटिंग के लिए आपसी संघर्ष में मारा गया टाइगर.. 


 केन नदी के किनारे सकरा में हुई मौत..


पन्ना। पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघों की मौत का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है आज फिर हिनौता रेंज के गगऊ बीट के सकरा में एक नर बाघ की सड़ी गली लाश मिली जिससे हड़कंप मच गया है लगातार हो रही बाघों की मौतों के कारण टाइगर रिजर्व चर्चा में है।


आज बाघ यानि टाइगर पी 123 की लाश केन नदी के पानी में तैरती हुई प्राप्त हुई है बताया जा रहा है इसकी मेल टाइगर है P-431 से लड़ाई हुई थी खोजने के बाद नदी के पानी में शव मिला है शव को को मगर और जानवरों ने खा भी लिया है।


फील्ड डायरेक्टर के एस भदौरिया ने बताया कि 7 अगस्त के दिन 2 मेल टाइगरो में मेटिंग को लेकर लड़ाई हुई थी जिसमें युवा बाघ पी 123 घायल हो गया था पर सबसे बड़ा प्रश्न यह है कि जब प्रबंधन को यह पता था कि टाइगर घायल है तो नदी में कैसे डूब कर मर गया और 3 दिन बाद कैसे लाश मिली ये टाइगर T-6 से मैटिंग के लिए संघर्ष कर रहे थे शव 8 km पानी मे बहकर पाठा। कैम्प ने सर्चिंग में लाश मिली।ज्ञात हो कि 2009 में पन्ना टाइगर रिजर्व बाघ दिन हो गया था इसके बाद बाहर से टाइगर लाकर यहां बताए गए अब इनकी संख्या 50 से अधिक हो गई थी लेकिन बीते कुछ दिनों से लगातार टाइगर मर रहे हैं और इनकी क्षत-विक्षत लाशें मिल रही हैं 7 माह के अंदर यह पांचवी टाइगर की मौत है।


0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post